हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

 Switch to English Blogs



क्या, कहाँ, कब?

कैसा है पूर्वोत्तर भारत का जीवन!

18 Jan, 2021 | विवेक विशाल

कभी-कभी पूर्वाग्रह इतना सघन होता है कि हम किसी व्यक्ति या समुदाय के प्रति अनायास ही ऐसी कल्पना कर लेते हैं, जो ज़्यादातर बार गलत होती है। यह पूर्वाग्रह भाषा, धर्म या नस्ल से...

कला की दुनिया से

बेल्जियम दूतावास: भारतीय वास्तुकला का अनुपम उदाहरण

06 Jan, 2021 | विवेक शुक्ला

आप कभी राष्ट्रीय राजधानी के डिप्लोमैटिक एरिया चाणक्यपुरी जाएँ तो वहाँ आपको एक से बढ़कर एक  सुंदर और अनुपम दूतावासों-उच्चायोगों की इमारतें दिखेंगी। जिस कल्पनाशीलता से...

मोटिवेशन

समय प्रबंधन में छिपा है सफलता का रहस्य!

21 Dec, 2020 | प्रवीण झा

जीवन में हर सुबह नई होती है, हर दिन नया होता है, हर आने वाला मिनट नया होता है। लेकिन लक्ष्य तो निश्चित है, जहाँ हमें एक तय समय में पहुँचना है। मुझे यह प्रश्न अक्सर सुनने...

इतिहास, विचार और दुनिया

चाँद एक त्योहार अनेक

22 Aug, 2020 | नेहा चौधरी

- नहीं, ऊपर आसमान में नहीं देखो, चाँद निकल गया है!- अरे, इसीलिए तो देखने जा रहे हैं कि चाँद निकल गया है।- आज के दिन चाँद को बिना हाथ में फल-फूल लिए नहीं देखना चाहिए, चोरी का झूठा...

व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं

डॉ. कलाम: साधारण इंसान का असाधारण व्यक्तित्व

27 Jul, 2020 | नेहा चौधरी

बहुत दिनों की बात है, झारखंड के सबसे पिछड़े ज़िले के एक स्कूल में नवीं क्लास की एक बच्ची की कॉपी के पहले पन्ने पर लिखा था - "इंतज़ार करने वाले को उतना ही मिलता है जितना  संघर्ष...

कानून और समाज

आर्थिक राहत पैकेज के मायने

16 Jul, 2020 | अरविंद सिंह

“का हो बब्बू इ 20 लाख करोड़ रुपयवा में से हम्ह्नो के कुछ लाभ मिली”?  चाचा जी के इस सवाल को पहले तो मैंने मजाक में टालने की कोशिश की पर उनके बहुत ज़ोर देने पर मैंने बोल दिया...

इतिहास, विचार और दुनिया

मित्र, मित्रता के लिये

02 Jul, 2020 | अरविंद सिंह

सामान का क्या करना है? सिलेंडर और बर्तन राकेश को दे-देना, चेयर टेबल और बैड हिमांशु को दे- देना उसका भाई आ रहा है तैयारी करने के लिये राकेश ने रवि के प्रश्न का उत्तर दिया। राकेश...

इतिहास, विचार और दुनिया

माॅब लिंचिंग, विषाक्त होते समाज का लक्षण मात्र है

25 Jun, 2020 | अरविंद सिंह

सुबह 7 बजे भइया बचा लो, भइया बचा लो हाॅस्टल में एम के पास शोर के साथ नींद खुली तो देखा 4th ईयर के सीनियर्स की भीड़ किसी लड़के को पीट रही थी। हाॅस्टल में यह आम बात थी और चूंकि बात...

इतिहास, विचार और दुनिया

‘सुख कवच के रूप में नवीन FDI नीति’

18 Jun, 2020 | अरविंद सिंह

विकासशील देशों में संसाधनों एवं तकनीक की कमी आर्थिक संवृद्धि के रास्ते में एक बड़ी बाधा है ऐसे में विदेशी निवेश के रूप में FDI, ऋण मुक्त वित्त प्रबंधन में महत्त्वपूर्ण...

इतिहास, विचार और दुनिया

राजनीतिक दल एवं मीडिया गठजोड़

08 May, 2020 | अरविंद सिंह

मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है क्योंकि लोकतंत्र को और सुदृढ़ करने एवं राजनीतिक दलों की जवाबदेही सुनिश्चित करने में मीडिया की भूमिका महत्त्वपूर्ण होती है,...

समाचारों में-आओ बात करें

चीन से इकोनॉमिक डिस्टेंसिंग

23 Apr, 2020 | अरविंद सिंह

वैश्विक स्तर पर चीन के साथ द्विपक्षीय साझे व्यापार में विश्व के लगभग सभी देश चाहे अमेरिका हो या यूरोपियन यूनियन सभी घाटे की स्थिति में हैं। स्वयं भारत भी चीन के साथ  आपसी...

इतिहास, विचार और दुनिया

अगली गणना में आप भी हो सकते हैं - COVID 19

07 Apr, 2020 | अरविंद सिंह

20 मार्च को अंकुश, कॉलेज के मेरे सबसे अच्छे दोस्त अंकुश की चार मिस कॉल आ चुकी थी। पाँचवी रिंग पर फोन उठाते ही अंकुश ने पूछा-  फोन क्यों नहीं उठा रहा था?"  बता क्या हुआ?...

इतिहास, विचार और दुनिया

क्रेच में सीएसआर

27 Mar, 2020 | पिंकी कुमारी

अधिकार और उत्तरदायित्व की दो पटरियों पर ही समाज, राष्ट्र एवं संपूर्ण विश्व अर्थव्यवस्था की रेल टिकी हुई है अर्थात्, अधिकारों के साथ-साथ उत्तरदायित्व के सही निर्वहन से ही...

इतिहास, विचार और दुनिया

बाज़ारवाद बनाम कार्यशील महिलाएँ

19 Feb, 2020 | पिंकी कुमारी

आवाज़ उठेगी तो मचेगा शोर फिर नई उम्मीदों की होगी भोर। - (“मुलाकरम” नामक लघु कथा से उद्धृत) दहलीज़ से बाहर कदम रखते ही एक महिला अचानक सामाजिक-आर्थिक रूप से महत्त्वपूर्ण हो...

इतिहास, विचार और दुनिया

डर को जीतना ही ज्ञान की शुरुआत है

05 Feb, 2020 | हिमांशु सिंह

संभावित अनिष्ट की आशंका जिसे रोका या नियंत्रित नहीं किया जा सकता, डर है। डर के तमाम रूप और गुण हैं, पर डर का व्यक्तिनिष्ठ होना उसकी प्रमुख विशेषता है। यानी, हर व्यक्ति के पास...

इतिहास, विचार और दुनिया

क्योंकि आर्थिक-आक्रामकता सैन्य-आक्रामकता से अधिक प्रभावी होती है।

22 Jan, 2020 | हिमांशु सिंह

सीमाओं के विस्तार का जोखिमयुक्त अतिवादी रवैया आक्रामकता है। सीमाएँ हमारे इर्द-गिर्द अनगिनत रूपों और प्रकारों में मौजूद हैं। हमारा जीवन संघर्ष कुछ और नहीं बल्कि इन...

इतिहास, विचार और दुनिया

ज़िंदगी की सबसे अच्छी चीज़ें मुफ्त हैं

16 Jan, 2020 | हिमांशु सिंह

मेरा निजी अनुभव है कि जब तक हम घटिया और दिखावटी चीज़ों को ऊँची कीमत पर खरीद नहीं लेते, तब तक हम यह समझ ही नहीं पाते कि दुनिया की सबसे खूबसूरत और अच्छी चीज़ें तो दरअसल मुफ्त होती...

इतिहास, विचार और दुनिया

तो क्या तीसरा विश्वयुद्ध पानी के लिये लड़ा जाएगा? (Part 1)

30 Dec, 2019 | हिमांशु सिंह

अभी किचन में गया तो देखा कि RO से बाथरूम की बाल्टी भरी जा रही थी और RO से उतना ही पानी बेकार बह रहा था। मैंने RO का पाइप बाल्टी में डाल दिया, जिससे बेकार बह रहा पानी भी बाल्टी में...

इतिहास, विचार और दुनिया

क्या छोटे लक्ष्य अपराध हैं?

19 Dec, 2019 | हिमांशु सिंह

सजीव हों या निर्जीव, सभी के अस्तित्व का कुछ-न-कुछ औचित्य होता है। मनुष्य के संदर्भ में विशेष यह है कि मानसिक उद्विकास ने मनुष्य के जीवन में औचित्य के अतिरिक्त एक अन्य तत्त्व...

इतिहास, विचार और दुनिया

कायरों के लिये वीरता एक बुराई है

12 Dec, 2019 | हिमांशु सिंह

‘वीरता’ शब्द के उच्चारण या मनन के साथ ही मन में किसी महाराणा प्रतापनुमा व्यक्ति की छवि उभरती है जो युद्ध के दौरान अकेले बीस शत्रुओं पर भारी पड़ता हो। एक लंबे समय तक...

एसएमएस अलर्ट
Share Page