दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:
 Switch to English

संभव – 2024 (Clear Prelims Conquer Mains)

प्रिय अभ्यर्थियों,

UPSC की यात्रा शुरू करने का पहला नियम है प्रिलिम्स और मेन्स दोनों परीक्षाओं के बीच एक संतुलन बनाना। इस परीक्षा में सफल होने के लिये आवश्यक है कि अभ्यर्थी इन दोनों परीक्षाओं में सामंजस्य बिठाने की कला में निपुण हो, क्योंकि ये दोनों ही परीक्षाएँ UPSC परीक्षा तीन महत्त्वपूर्ण स्तंभों (प्रिलिम्स, मेन्स और इंटरव्यू) में शामिल हैं। इस परीक्षा की तैयारी शतरंज के खेल की तरह है जहाँ रणनीतिक योजना बनाना तथा उसे सावधानीपूर्वक लागू करना अत्यंत महत्त्वपूर्ण है।

UPSC की तैयारी में, टीम दृष्टि एक मार्गदर्शक प्रकाश की तरह है जो आपको सही मार्ग दिखाने से कभी पीछे नहीं हटती। संभव 2023 की सफलता और हमारे विद्यार्थियों के समर्पण को देखते हुए एक बार फिर से हम आपके लिये प्रिलिम्स और मेन्स के लिये एकीकृत मार्गदर्शन कार्यक्रम: संभव-2024 के साथ प्रस्तुत हैं।

🚀 संभव 2024 कार्यक्रम क्या है?


  • यह कार्यक्रम साल भर तक चलने वाली एक यात्रा की तरह है जिसमें UPSC प्रिलिम्स तथा मेन्स दोनों परीक्षाओं की तैयारी को शामिल किया गया है। इसमें उन सभी टॉपिक्स को शामिल किया जाएगा जिनसे अवगत होना आपके लिये आवश्यक है और इस तरह यह कार्यक्रम एक मार्गदर्शक के रूप में कार्य करता है जो UPSC CSE 2024 में आपकी सफलता सुनिश्चित करने में मदद करेगा।
  • इस कार्यक्रम के अंतर्गत सप्ताह में 6 दिनों का एक निर्धारित शेड्यूल है तथा रविवार को रिवीज़न डे के रूप में नामित किया गया है।
📚 कार्यक्रम में क्या-क्या शामिल है?
  • प्रारंभिक चरण प्रिलिम्स और मेन्स दोनों के लिये आपके आधार को मज़बूती प्रदान करने पर केंद्रित है, जिसमें प्रतिदिन अभ्यास हेतु बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQs) और मेन्स के प्रश्न दिये जाएंगे।
  • जब UPSC प्रीलिम्स 2024 की परीक्षा निकट होगी, हमारा पूरा ध्यान एक प्रिलिम्स स्पेसिफिक कार्यक्रम पर केंद्रित होगा, जो हमारे सफल संभव 2023 कार्यक्रम के ही समान है।
  • प्रिलिम्स परीक्षा के समाप्त होते ही कार्यक्रम मेन्स 2024 पर केंद्रित हो जाएगा, जिसमें उन सभी महत्त्वपूर्ण विषयों/मुद्दों पर चर्चा की जाएगी जो विगत दो वर्षों के दौरान वैश्विक रूप से चर्चा में रहे हैं।
  • यात्रा के घटक: संभव कार्यक्रम आपको केवल प्रिलिम्स या मेन्स के लिये तैयार नहीं करता है बल्कि यह दोनों का सामंजस्यपूर्ण मिश्रण है। इस कार्यक्रम में प्रत्येक दिन प्रिलिम्स और मेन्स की तैयारी हेतु एक साथ अभ्यास कराया जाता है। इसमें शामिल होंगे:
    • प्रतिदिन 2 मेन्स अभ्यास प्रश्न- पाठ्यक्रम से संबंधित स्थैतिक (Static) ज्ञान को और अधिक प्रबल बनाने के लिये ।
    • प्रतिदिन 10 प्रिलिम्स अभ्यास प्रश्न - स्थैतिक और समसामयिक घटनाओं का मिश्रण, जो आपको एक प्रबल दावेदार के रूप में विकसित करेगा।
    • एक लंबी दौड़ में आखिरी शक्तिशाली प्रयास की तरह UPSC प्रिलिम्स 2024 से लगभग ढाई महीने पहले हम अपने प्रिलिम्स विशेष कार्यक्रमों के ज़रिये प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी पर अधिक ध्यान केंद्रित करेंगे।
    • प्रिलिम्स के बाद, हम मेन्स मोड पर स्विच करेंगे, जहाँ हम समसामयिक विषयों/मुद्दों, UPSC द्वारा विगत वर्षों के दौरान पूछे गए प्रश्नों, करेंट अफेयर्स और पाठ्यक्रम के स्थैतिक विषयों से संबंधित महत्त्वपूर्ण टॉपिक्स पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

⏰ कार्यक्रम की शुरुआत कब होगी?

  • संभव-2024 कार्यक्रम की शुरुआत 20 नवंबर, 2023 से होगी। इस दौरान आप हर रोज़ नई चीजें सीखेंगे जो आपको सफल बनाने में सहायक होंगी।

💰 कार्यक्रम का शुल्क कितना है?

  • यह कार्यक्रम (संभव-2024) पूरी तरह से निशुल्क है, जो आपके अटूट समर्पण और कड़ी मेहनत से ही संभव हो पाया है। मेन्स उत्तर लेखन और MCQs के अभ्यास में आप जितना अधिक निवेश करेंगे उसका परिणाम उतना ही बेहतर होगा ।
  • याद रखें, "आपकी निरंतरता और परिश्रम ही इस कार्यक्रम का शुल्क है।" अभ्यास के प्रति आपका समर्पण वह मुद्रा है जो भविष्य में सफलता के द्वार खोलती है।

📝 मुख्य परीक्षा के उत्तरों का मूल्यांकन किस प्रकार किया जाएगा?

  • मेन्स अभ्यास के दौरान आपके द्वारा लिखे गए उत्तर मात्र शब्द नहीं हैं, बल्कि वे सफलता प्राप्ति की दिशा में सावधानीपूर्वक उठाए गए कदम हैं। दृष्टि आईएएस इस यात्रा में आपका भागीदार है, जो आपके द्वारा लिखे गए उत्तरों का दैनिक रूप से मूल्यांकन करेगा। इसके अलावा अभ्यर्थियों से यह आग्रह किया जाता है कि वे “Peer Review अर्थात् सहकर्मी समीक्षा" में भाग लें क्योंकि इससे आपको न केवल अधिक व्यापक दृष्टिकोण प्राप्त होगा बल्कि यह आपकी विचारण क्षमता एवं संचार क्षमता में भी सुधार करेगा।
    • मेन्स के प्रत्येक अभ्यास प्रश्न के लिये एक मॉडल उत्तर दिया जाएगा जिससे आपके उत्तर को अधिक उत्कृष्ट बनाने में मदद मिलेगी।

🔍 क्या प्रिलिम्स टेस्ट का मूल्यांकन किया जाएगा?

  • बिल्कुल! दृष्टि आईएएस द्वारा विस्तृत व्याख्या के साथ, आपके द्वारा MCQs क्विज़ में अर्जित स्कोर और रैंक को रियल टाइम में अपडेट कोय जाएगा।

🌐 कौन शामिल हो सकता है?

  • इस कार्यक्रम में कौन शामिल हो सकता है इस संबंध में कोई शर्त निर्धारित नहीं की गई है। कोई भी अभ्यर्थी जो अपनी तैयारी में सुधार करना चाहता है इसमें शामिल हो सकता है।

🗞️ करेंट अफेयर्स को कैसे कवर किया जाएगा?

  • संभव-2024 का लक्ष्य 'डेढ़ साल' के करेंट अफेयर्स को कवर करना है जिसमें जनवरी 2023 से मई 2024 तक की घटनाओं को शामिल किया जाएगा। इससे दी गई अवधि के भीतर घटित सभी महत्त्वपूर्ण घटनाओं से अवगत रहने में मदद मिलती है।

🚀 क्या आप अपनी तैयारी को और अधिक मजबूती देने के लिये तैयार हैं?

  • इस सक्रिय यात्रा में हमसे जुड़ें! दैनिक अभ्यास के लिये प्रतिबद्ध रहें, क्योंकि कहा भी गया है, "करत-करत अभ्यास ते,जड़मति होत सुजान। रसरी आवत जात तें, सिल पर परत निसान॥"
  • नोट्स बनाएँ: आपके द्वारा बनाए गए नोट्स केंद्र है। डेली मेन्स प्रैक्टिस के प्रश्नों के लिये प्रश्नपत्र के अनुसार अलग-अलग नोट्स बनाएँ। ये नोट्स आपकी सफलता के मानदंड के रूप में काम करेंगे क्योंकि ये प्रत्येक टॉपिक को व्यापक रूप से कवर करने में मदद करते हैं।
  • उत्कृष्ट उपलब्धि हासिल करने वाले अभ्यर्थियों की पहचान: हालाँकि मूल्यांकन करते समय अंक नहीं दिये जाएंगे लेकिन इसका यह अर्थ नहीं कि आपकी उत्कृष्टता को अनदेखा कर दिया जाएगा। आपके द्वारा लिखे गए अनुकरणीय उत्तरों को हम अपनी वेबसाइट पर प्रदर्शित करेंगे, जो अभ्यास के प्रति आपके समर्पण का प्रमाण होगा।
  • सेल्फ-स्टडी के साथ सामंजस्य: चूँकि इस कार्यक्रम की रूपरेखा तथा शेड्यूल पूर्वनिर्धारित हैं इसलिये अभ्यर्थियों के लिये यह आवश्यक होगा कि वे निर्धारित शेड्यूल के अनुसार अपने अध्ययन की योजना बनाएँ।
  • जब आप संभव-2024 में शामिल होते हैं तो यह स्मरण रखें जिस प्रकार "कुएँ के पत्थर पर बार-बार रस्सी को खींचने से निशान पड़ ही जाते हैं" उसी प्रकार अभ्यास का प्रत्येक दिन आपके लक्ष्य की ओर बढ़ रहे एक-एक कदम के समान है।

📚 डेली मेन्स अभ्यास प्रश्न का उत्तर सबमिट करने की समय सीमा क्या होगी?

  • अभ्यर्थियों को सलाह दी जाती है कि वे दृष्टि आईएएस टीम द्वारा मूल्यांकन कराने के लिये अपने मुख्य उत्तर उसी दिन सबमिट करें जिस दिन प्रश्न वेबसाइट पर अपलोड किये जाते हैं।

📚 आपको किन संसाधनों की आवश्यकता होगी?

  • अभ्यर्थी पाठ्यक्रम के स्थैतिक घटक के लिये अपनी मानक पुस्तकों का अध्ययन जारी रख सकते हैं।
  • करेंट अफेयर्स के लिये, अभ्यर्थी को निश्चित रूप से डेली करेंट अफेयर्स और एडिटोरियल,दृष्टि आईएएस की मासिक करेंट अफेयर्स मैगज़ीन का संदर्भ ले सकते हैं।
  • प्रिलिम्स तथा मेन्स दोनों के अधिक-से-अधिक अभ्यास के लिये, अभ्यर्थी प्रिलिम्स प्रैक्टिस सीरीज़ और मेन्स कैप्सूल सीरीज़ का संदर्भ ले सकते हैं।
  • कार्यक्रम के शेड्यूल के साथ-साथ अन्य अनिवार्य स्रोत एवं पुस्तक सूची का सुझाव नीचे दिया गया है। इस अवसर का लाभ उठाएँ और संभव-2024 के साथ जुड़कर UPSC 2024 में सफलता की तैयारी करें! आइये मिलकर सफलता प्राप्त करें!🏆💪
  • “सफलता तभी मिलेगी जब आपके अंदर समर्पण का भाव होगा।”



close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2