हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

इमेजिनेशन - टीम दृष्टि ब्लॉग

एक आईपीएस की डायरी : समय प्रबंधन से पाई सफलता

इतिहास, विचार और दुनिया 23 Jul 2021

इमेजिनेशन - टीम दृष्टि ब्लॉग

दिलीप कुमार : कोई क्‍या कहे, क्‍या-क्‍या कहे, कितना कहे, कैसे कहे!

व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं 07 Jul 2021

इमेजिनेशन - टीम दृष्टि ब्लॉग

कश्मीर : एक यात्री ने जैसा देखा-जैसा समझा

इतिहास, विचार और दुनिया 01 Jul 2021
इतिहास, विचार और दुनिया

एक आईपीएस की डायरी : समय प्रबंधन से पाई सफलता

23 Jul, 2021

इस संसार में समय ही एक ऐसी चीज है जो सभी प्राणियों में समान रूप से वितरित है। चाहे राजा हो या रंक, अमीर हो या गरीब, महिला हो या पुरुष सभी को एक दिन में 24 घंटे ही मिलते हैं। अब...

व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं

दिलीप कुमार : कोई क्‍या कहे, क्‍या-क्‍या कहे, कितना कहे, कैसे कहे!

07 Jul, 2021

‘लार्जर दैन लाइफ’ एक ऐसा फिकरा है जिसका इस्‍तेमाल अमूमन तब किया जाता है, जब किसी व्‍यक्ति या काल्‍पनिक पात्र की लोकप्रियता, उसका आभामंडल हमारी कल्‍पना की सीमाओं को...

इतिहास, विचार और दुनिया

कश्मीर : एक यात्री ने जैसा देखा-जैसा समझा

01 Jul, 2021

कश्मीर। नाम सुनते ही कई तरह की छवियाँ मस्तिष्क में उभरती हैं,जिनमें दो सबसे आमफ़हम हैं। पहली जिसमें अद्भुत प्राकृतिक सौंदर्य से ओत प्रोत एक ऐसा भू प्रदेश जिसके लिये मुग़ल...

समाचारों में-आओ बात करें

विशेषताएँ जो बनाती हैं संसद भवन को खास

14 Jun, 2021

आप आजकल कभी संसद भवन के आसपास से गुजरें तो समझ आ जाएगा कि देश की नई संसद की इमारत के निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है। संसद भवन परिसर को बड़े-विशाल बोर्डों से घेर दिया गया है...

मोटिवेशन

पर्यावरण अनुकूल जीवन शैली कैसी हो?

05 Jun, 2021

हम में से कई लोग रोज टहलने जाते हैं। बाज़ार के लिये निकले, किसी दोस्त से मिलने निकले या यूँ ही सेहत बनाने के लिए दौड़ पर निकले। नॉर्वे में हर दूसरा जंगलों या पहाड़ों में यूँ...

समाचारों में-आओ बात करें

कोविड-19 से कितनी बदलेगी दुनिया!

06 May, 2021

कोविड-19 का प्रभाव वैश्विक राजनीति पर कितना पड़ा है या पड़ सकता है, इस आशय के सेमिनार, लेख और किताबें पिछले साल ही खूब होने-छपने शुरू हो गए थे। उस वक्त तक तो इस महामारी के बारे में...

मोटिवेशन

राष्ट्रीय आकांक्षाएँ और सिविल सेवा

21 Apr, 2021

एक शाम नेहरू जब अपने दलान में बैठे हुए थे तो उनसे किसी पत्रकार ने पूछा कि आपको अपने कार्यकाल में ऐसी क्या कमी लगती है जिसको आप बदलना चाहेंगे। जवाब में नेहरू ने कहा कि मैं...

क्या, कहाँ, कब?

क्या हो आदर्श परीक्षा प्रणाली ?

14 Apr, 2021

नॉर्वे की संसद में एक बार प्रश्न उठा कि अमुक परीक्षा में आया एक प्रश्न उस कक्षा के लिये उपयुक्त नहीं था। मुझे इस पर अचंभा हुआ कि सांसदों के लिये किसी ख़ास कक्षा का एक प्रश्न...

इतिहास, विचार और दुनिया

पितृसत्ता की व्यवस्था नजर में बहुत कम आने के बावजूद विषमता की सबसे प्रभावी संरचना है

08 Mar, 2021

“पढ़िये गीताबनिये सीताफिर इन सबमें लगा पलीताकिसी मूर्ख की हो परिणीतानिज घर-बार बसाइयेहोंय कँटीलीआँखें गीलीलकड़ी सीली, तबियत ढीलीघर की सबसे बड़ी पतीलीभर कर भात...

इतिहास, विचार और दुनिया

पैकिसेटस से ब्लू ह्वेल : विकास की यात्रा

05 Mar, 2021

दोस्तो, कहते हैं न कि छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता। दुनिया में बड़ा बनने के लिये, कुछ बड़ा पाने के लिये अपने मन को, बड़ा बनाना पड़ता है। और ऐसा तभी होगा जब हम बड़े दृष्टिकोण अपनाएँ।...

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close