हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

 Switch to English Blogs



व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं

भगत सिंह : व्यक्तिगत वीरता और समृद्ध चिंतन का संगम

23 Mar, 2022 | शंभूनाथ शुक्ल

भगत सिंह को शहीद, महान शहीद और शहीदे आजम का ताज पहना कर हमने उनके व्यक्तिगत योगदान को तो खूब सराहा लेकिन भगत सिंह की मौलिकता, उनके चिंतन और दर्शन की ओर अपेक्षाकृत कम ध्यान...

इतिहास, विचार और दुनिया

स्त्रियों के लिये कितनी समावेशी है विज्ञान की दुनिया?

08 Mar, 2022 | शाश्वती प्रधान

राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद (संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार) ने एक पुस्तिका प्रकाशित की है। इसका नाम है– ‘विदुषी’: द इंडियन वूमेन इन साइंस एंड टेक्नोलॉजी । इस...

मोटिवेशन

सपने के प्रति समर्पण न हो तो रणनीतियाँ महज कागजी पुतले होते हैं

03 Mar, 2022 | आलोक कुमार

हम सभी ने बचपन से वयस्क होने के क्रम में 'समय' के महत्व को लेकर तमाम किस्से सुने होते हैं;  इनमें से कुछ सच्चाई पर आधारित होते हैं और कुछ ऐसे होते हैं जो सच भले ही ना हों पर...

इतिहास, विचार और दुनिया

सभ्यता की तोप और नस्लीय घृणा : यूक्रेन संकट

28 Feb, 2022 | सन्नी कुमार

ख़ून अपना हो या पराया हो नस्ल-ए-आदम का ख़ून है आख़िर जंग मशरिक़ में हो कि मग़रिब में अम्न-ए-आलम का ख़ून है आख़िर साहिर लुधियानवी की इस नज़्म को सार रूप में कहें तो वो कह रहे...

इतिहास, विचार और दुनिया

रूस-यूक्रेन विवाद का इतिहास और वर्तमान संकट

26 Feb, 2022 | शान कश्यप

वह 27 फरवरी, 2014 की रात थी। हथियारबंद लोगों ने क्रीमिया में संसद और मंत्रिपरिषद की इमारतों को अपने नियंत्रण में ले लिया और उन पर रूसी झंडे लहरा दिये। अगली सुबह जल्दी ही...

पुस्तक समीक्षा

पूंजीवादी प्रणाली और राजनीतिक- सामाजिक स्वतंत्रता के बीच संबंध

24 Feb, 2022 | पुरुषोत्तम ‘प्रतीक'

पुस्तक : कैपिटलिज़्म एंड फ्रीडम लेखक : मिल्टन फ्रीडमैन विषय : अर्थव्यवस्था व विचार प्रसिद्ध पूंजीवादी अर्थशास्त्री मिल्टन फ्रीडमैन द्वारा लिखी गई पुस्तक ‘कैपिटलिज्म...

कानून और समाज

गवर्नेंस 4.0 : वैश्विक शासन व्यवस्था में परिवर्तन की आवश्यकता

15 Feb, 2022 | हर्षवर्धन

सामान्यतः ऐसा होता है कि किसी काल खंड में हुए परिवर्तन उससे पहले के समय में हुए कार्यों एवं घटनाओं की प्रतिक्रिया होते हैं। ठीक वैसे ही जैसे न्यूटन का गति विषयक तृतीय नियम...

इतिहास, विचार और दुनिया

कर्मक्षेत्र का द्वंद्व और जीवन की राह

10 Feb, 2022 | विवेक विशाल

जीवन की सतत गतिशीलता के बीच हम यह सोचना भूल जाते हैं कि हमारा प्रवाह किस दिशा में हो रहा है और इस प्रावहशीलता के क्या मायने हैं। क्या जीवन हमें जी रहा है या हम जीवन को जी रहे...

इतिहास, विचार और दुनिया

‘अराजनैतिक’ होने की ‘राजनीति’

31 Jan, 2022 | अक्षय शुक्ला

बीते दिनों अनिल कपूर की ‘नायक’ फिल्म देखी…एक दिन का सीएम। फिल्म में परेश रावल साहब का एक फेमस डायलॉग है….’पॉलिटिक्स एक गटर है’.. ये तो हुई ‘रील’ की बात..पर...

व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं

क्रिकेट के वे नायक जिन्हें विदा कहने के लिये मैदान नहीं मिला

22 Jan, 2022 | संकर्षण शुक्ला

टीम इंडिया की जर्सी में विदाई न ले पाने का मलाल हरभजन को इस कदर था कि उन्होंने विभिन्न मंचों पर इसकी सार्वजनिक अभिव्यक्ति करने से भी गुरेज न किया। बकौल हरभजन, अगर वो...

एसएमएस अलर्ट
Share Page