प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 29 जुलाई से शुरू
  संपर्क करें
ध्यान दें:

 Switch to English Blogs



इतिहास, विचार और दुनिया

कल्पना कर पाना ही सब कुछ है, कल्पना न कर पाना जीवन का अंत

25 Oct, 2021 | रोहित नंदन मिश्रा

कल्पना मानव मस्तिष्क की सृजनशीलता की पहली कड़ी है। कोई भी विचार, सिद्धांत, आविष्कार चाहे वह आर्थिक, सामाजिक, धार्मिक, राजनैतिक, विज्ञान एवं तकनीकी, शिक्षा, मूल्य, दर्शन किसी...

व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं

वी.डी. सावरकर और राष्ट्रवादी इतिहास की दुविधा

18 Oct, 2021 | शान कश्यप

हम आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाने की तैयारी कर रहे हैं। क्या आपने कभी यह विचार किया है कि स्वतंत्रता संघर्ष की सांख्यिकी क्या है?  एक उदाहरण देखें। द्वितीय विश्वयुद्ध के...

इतिहास, विचार और दुनिया

विजयादशमी विशेष: शरण में आए व्यक्ति की रक्षा

14 Oct, 2021 | शंभूनाथ शुक्ल

कोरोना काल के पहले 2019 की विजयदशमी पर मैं रामेश्वरम गया था। धनुषकोडि से लौटते हुए मैं एक ऊँचे स्थल पर बने विभीषण मंदिर में भी गया। देश का शायद यह अकेला विभीषण मंदिर होगा।...

समाचारों में-आओ बात करें

डीयू,100 फीसदी कट ऑफ और मेरिट का प्रश्न

05 Oct, 2021 | सन्नी कुमार

दिल्ली विश्वविद्यालय के श्रीराम कॉलेज  ऑफ कॉमर्स ने बी.कॉम और बी.ए (अर्थशास्त्र) के कोर्स में नामांकन के लिये 100 फीसदी का कट-ऑफ घोषित किया है। इसी तरह कुछ और भी कॉलेज हैं...

व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं

महात्मा गांधी का जीवन मूल्य

02 Oct, 2021 | डॉ. मनोज कुमार राय

गांधी एक सृजनशील पाठक थे। उन्होंने अपने समय में प्रचलित सभी धर्म-सिद्धांतों का गहन अध्ययन करते हुए युगधर्म के अनुकूल जीवन-मूल्यों का नवनीत तैयार किया था। इस नवनीत को...

व्यक्तित्त्व : जिन्हें हम पसंद करते हैं

महात्मा गांधी का दिल्ली से नाता : अंतिम उपवास तथा शिक्षक गांधी

28 Sep, 2021 | विवेक शुक्ला

महात्मा गांधी के नोआखाली और कोलकाता में सांप्रदायिक दंगों को खत्म करवाने के बारे में बार-बार लिखा जाता है। पर उन्होंने यही काम दिल्ली में भी किया था। अजीब बात है कि इसकी...

मोटिवेशन

एकाग्रता, निरंतरता और दृढ़ता : RAS टॉपर की सफलता का मूलमंत्र

22 Sep, 2021 | शिवाक्षी खांडल

"ताकत और विकास निरंतर प्रयास और संघर्ष से ही आते हैं- नेपोलियन हिल।" जीवन के सभी चरणों में प्रत्येक व्यक्ति को कुछ कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन विजेता वही...

कला की दुनिया से

किसने डिजाइन किया है अप्रतिम जेएनयू?

18 Sep, 2021 | विवेक शुक्ला

यह बात समझ से परे है कि जब किसी यूनिवर्सिटी की चर्चा होती है तो बात उसके नामवर अध्यापकों और सफल विद्यार्थियों से आगे क्यों नहीं बढ़ती? यही जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी...

मोटिवेशन

एक RAS अधिकारी की संघर्ष यात्रा : कैसे कोयला बना हीरा

17 Sep, 2021 | सुनिल कुमार

कक्षा छः में पढ़ा था कि कोयले की खान में हीरा मिलता है। तब एक विचार दिमाग में कौंधा कि यदि दोनों एक ही खान में होते हैं तो सभी कोयले, हीरों में क्यों नहीं बदल जाते? उस प्रश्न का...

इतिहास, विचार और दुनिया

हिंदी भाषा का सामाजिक दृष्टिकोण

14 Sep, 2021 | पुरुषोत्तम ‘प्रतीक'

भाषाओं का भी अपना एक समाज होता है, संस्कृति होती है। भाषाएँ केवल सामाजिक सम्प्रेषण का माध्यम भर नहीं होतीं यह सामाजिक निर्मिति का भी महत्त्वपूर्ण आधार है। समाज भाषा की...

इतिहास, विचार और दुनिया

सरकारी हिंदी : ये दुनिया अगर मिल भी जाए तो क्या!

11 Sep, 2021 | शंभूनाथ शुक्ल

सुप्रसिद्घ कवि रघुवीर सहाय ने लिखा था कि “हिंदी जैसे कि दुजाहू की बीवी”। यानी हिंदी की सराहना तो सब कर लेंगे पर जब उसको उसका सम्मान देने की बात आएगी तो उसके साथ किसी...

इतिहास, विचार और दुनिया

हिंदी भाषा और ज्ञान-विज्ञान की यात्रा

10 Sep, 2021 | प्रवीण झा

हाल में एक विद्यार्थी का संदेश मिला कि यूरोप पर और खास कर रोमन सभ्यता पर हिंदी में एक अच्छी किताब बता दूँ। समस्या यह है कि मैं स्वयं इतिहास की किताबों के लिये अंग्रेज़ी...

इतिहास, विचार और दुनिया

बस्तियाँ बसती हैं उजड़ती हैं!

02 Sep, 2021 | शंभूनाथ शुक्ल

धौलावीरा के खंडहरों और इनकी बनावट को देख कर लगता है कि संभवतः यह बस्ती कई बार बनी बिगड़ी। कमसे कम तीन बार। इसीलिये ज़मीन पर जिस तरह की सभ्यता के अवशेष मिलते हैं, वे अलग हैं और...

वाद-विवाद-संवाद

जाति जनगणना : उचित या अनुचित?

30 Aug, 2021 | शान कश्यप | सन्नी कुमार | शशि भूषण

हाल के समय में यह विषय सर्वाधिक विवाद में रहा है। जाति और आरक्षण संबंधी पुरानी बहसों की तरह ही इसमें भी स्पष्ट खांचें बने हुए हैं। 'वाद-विवाद-संवाद' की इस सीरीज़ में हमारी...

मोटिवेशन

क्योंकि मौन भी एक तरह की अभिव्यक्ति है

24 Aug, 2021 | डॉ. विकास दिव्यकीर्ति

[डॉ. विकास दिव्यकीर्ति] आप अक्सर ऐसे लोगों से मिलते होंगे जो अपनी अभिव्यक्तियों में बेहद मुखर होते हैं। उनके पास हमेशा बातों का असीम भंडार होता है। किसी भी बातचीत...

कला की दुनिया से

तस्वीरें: ज़िंदगी के साथ भी, ज़िंदगी के बाद भी

19 Aug, 2021 | नेहा चौधरी

तस्वीरें सुरक्षित रखने के लिए जाने हम कहाँ-कहाँ रखते हैं ताकि पानी उसे धुँधला ना कर सके; हवा उसे गंदा न कर सके; चोर वो तस्वीरें चुरा कर न ले जा सके, हमारी यादें हमारे साथ रहें,...

समाचारों में-आओ बात करें

अफगानिस्तान संकट के निहितार्थ

18 Aug, 2021 | शान कश्यप

अफगानिस्तान संकट से सारा संसार हतप्रभ और क्षुब्ध है। आम अफ़ग़ानियों के बीच की भगदड़ समाचारपत्रों और समाचार चैनलों की सुर्खियों में हैं। क्या यह संकट तत्क्षण है? क्या संसार...

मोटिवेशन

हार और जीत जीवन की क्रियाएँ हैं जीवन नहीं

14 Aug, 2021 | सन्नी कुमार

ओलंपिक खत्म हो चुका है। विजेता अपने देश लौट चुके हैं और वे भी जो विजेता की कतार में शामिल नहीं हो सके। एक से उद्यम में शामिल होने का ख्वाब देखने वाले सारे लोग उस यात्रा से लौट...

इतिहास, विचार और दुनिया

बीहड़ के बीच धरोहर : धौलावीरा का यात्रा वृत्तांत

12 Aug, 2021 | शंभूनाथ शुक्ल

क्या है धौलावीरा का अर्थ ? दिल्ली का धौलाकुआँ और कच्छ का धौलावीरा के नाम में समानता है। अर्थ में भी है। कच्छी भाषा में वीरा का अर्थ कुआँ होता है और धोला का अर्थ सफ़ेद अर्थात्...

कला की दुनिया से

हिंदुस्तानी संगीत बढ़ाता है मन की एकाग्रता !

09 Aug, 2021 | प्रवीण झा

अक्सर हम एक कोलाहल में पढ़ते हैं। बाहर सड़क से ऑटो या ट्रक के गुजरने की आवाज, दूर किसी कुत्ते का भूँकना, पड़ोस के अंकल का गला खखारना, सब्जी वाले का पुकारना, दोस्तों का बतियाना...

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2