हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

प्रिलिम्स फैक्ट्स

  • 25 Nov, 2022
  • 24 min read
प्रारंभिक परीक्षा

गुरु तेग बहादुर शहीदी दिवस

मुगलों द्वारा किये जाने वाले जबरन धर्मांतरण के खिलाफ खड़े होने वाले गुरु तेग बहादुर (सिखों के नौवें गुरु) की पुण्य तिथि को प्रतिवर्ष 24 नवंबर को शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

गुरु तेग बहादुर:

  • तेग बहादुर का जन्म 21 अप्रैल, 1621 को अमृतसर में माता नानकी और छठे सिख गुरु, गुरु हरगोबिंद के यहाँ हुआ था, जिन्होंने मुगलों के खिलाफ सेना खड़ी की और योद्धा संतों की अवधारणा पेश की।
  • तेग बहादुर को उनके तपस्वी स्वभाव के कारण त्याग मल (Tyag Mal) कहा जाता था।
  • गुरु तेग बहादुर सिखों के 9वें गुरु थे, जिन्हें अक्सर सिखों द्वारा 'मानवता के रक्षक' (श्रीष्ट-दी-चादर) के रूप में पूजा जाता था।
  • उन्हें एक महान शिक्षक के रूप में जाना जाता है, गुरु तेग बहादुर उत्कृष्ट योद्धा, विचारक और कवि भी थे, जिन्होंने आध्यात्मिक बातों के अलावा ईश्वर, मन, शरीर और शारीरिक जुड़ाव के स्वरूप का विस्तृत वर्णन किया।
  • जब वह केवल 13 वर्ष के थे तब उन्होंने एक मुगल सरदार के खिलाफ लड़ाई में विजय प्राप्त कर खुद को प्रतिष्ठित किया।
  • उनकी रचना को 116 काव्य भजनों के रूप में पवित्र ग्रंथ 'गुरु ग्रंथ साहिब' में शामिल किया गया है।
  • वह एक उत्साही यात्री भी थे और उन्होंने पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में प्रचार केंद्र स्थापित करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई।
  • ऐसे ही एक मिशन के दौरान उन्होंने पंजाब में चक-ननकी शहर की स्थापना की, जो बाद में पंजाब के आनंदपुर साहिब का हिस्सा बन गया।
  • वर्ष 1675 में मुगल सम्राट औरंगज़ेब के आदेश पर गुरु तेग बहादुर की हत्या दिल्ली में कर दी गई थी।

सिख धर्म के दस गुरु:

गुरु नानक देव (1469-1539)

  • ये सिखों के पहले गुरु और सिख धर्म के संस्थापक थे।
  • इन्होंने ‘गुरु का लंगर’ की शुरुआत की।
  • वह बाबर के समकालीन थे।
  • गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर करतारपुर कॉरिडोर को शुरू किया गया था।

गुरु अंगद (1504-1552)

  • इन्होंने गुरुमुखी नामक नई लिपि का आविष्कार किया और ‘गुरु का लंगर’ प्रथा को लोकप्रिय बनाया।

गुरु अमर दास (1479-1574)

  • इन्होंने आनंद कारज विवाह (Anand Karaj Marriage) समारोह की शुरुआत की।
  • इन्होंने सिखों के बीच सती और पर्दा प्रथा जैसी कुरीतियों को समाप्त किया|
  • ये अकबर के समकालीन थे।

गुरु राम दास (1534-1581)

  • इन्होंने वर्ष 1577 में अकबर द्वारा दी गई ज़मीन पर अमृतसर की स्थापना की।
  • इन्होंने अमृतसर में स्वर्ण मंदिर (Golden Temple) का निर्माण शुरू किया।

गुरु अर्जुन देव (1563-1606)

  • इन्होंने वर्ष 1604 में आदि ग्रंथ की रचना की।
  • इन्होंने स्वर्ण मंदिर का निर्माण कार्य पूरा किया।
  • वे शाहिदीन-दे-सरताज (Shaheeden-de-Sartaj) के रूप में प्रचलित थे।
  • इन्हें जहाँगीर ने राजकुमार खुसरो की मदद करने के आरोप में मार दिया।

गुरु हरगोबिंद (1594-1644)

  • इन्होंने सिख समुदाय को एक सैन्य समुदाय में बदल दिया। इन्हें "सैनिक संत" (Soldier Saint) के रूप में जाना जाता है।
  • इन्होंने अकाल तख्त की स्थापना की और अमृतसर शहर को मज़बूत किया।
  • इन्होंने जहाँगीर और शाहजहाँ के खिलाफ युद्ध छेड़ा।

गुरु हर राय (1630-1661)

  • ये शांतिप्रिय व्यक्ति थे और इन्होंने अपना अधिकांश जीवन औरंगज़ेब के साथ शांति बनाए रखने तथा मिशनरी काम करने में समर्पित कर दिया।

गुरु  हरकिशन (1656-1664)

  • ये अन्य सभी गुरुओं में सबसे कम आयु के गुरु थे और इन्हें 5 वर्ष की आयु में गुरु की उपाधि दी गई थी।
  • इनके खिलाफ औरंगज़ेब द्वारा इस्लाम विरोधी कार्य के लिये सम्मन जारी किया गया था।

गुरु तेग बहादुर (1621-1675)

  • इन्होंने आनंदपुर साहिब की स्थापना की।

गुरु गोबिंद सिंह (1666-1708)

  • इन्होंने वर्ष 1699 में ‘खालसा’ नामक योद्धा समुदाय की स्थापना की।
  • इन्होंने एक नया संस्कार "पाहुल" (Pahul) शुरू किया।
  • ये मानव रूप में अंतिम सिख गुरु थे और इन्होंने ‘गुरु ग्रंथ साहिब’ को सिखों के गुरु के रूप में नामित किया।

  UPSC सिविल सेवा परीक्षा विगत वर्ष के प्रश्न  

प्रश्न. निम्नलिखित भक्ति संतों पर विचार कीजिये: (2013)

  1. दादू दयाल
  2. गुरु नानक
  3. त्यागराज

इनमे से कौन उस समय उपदेश देता था/देते थे जब जब लोदी वंश का पतन हुआ तथा बाबर सत्तारुढ़ हुआ?

(a) 1 और 3
(b) केवल 2
(c) 2 और 3
(d) 1 और 2

उत्तर: (b)

व्याख्या:

  • लोदी वंश दिल्ली सल्तनत का अंतिम शासक परिवार था। इस वंश का अंतिम शासक इब्राहिम लोदी था, जिसे वर्ष 1526 में पानीपत की लड़ाई में बाबर ने हराया था। इसने लोदी वंश के अंत और बाबर के नेतृत्त्व में भारत में मुगल साम्राज्य के उदय को चिह्नित किया।
  • गुरु नानक (1469-1539): गुरु नानक सिख धर्म के संस्थापक और दस सिख गुरुओं में से पहले थेअत: 2 सही है।
  • दादू दयाल (1544-1603): दादू दयाल गुजरात, भारत के एक कवि संत थे। वह एक धार्मिक सुधारक थे जिन्होंने औपचारिकता और पुरोहितवाद के खिलाफ प्रचार किया। "दादू" का अर्थ है भाई, और "दयाल" का अर्थ है "दयालु"। अतः 1 सही नहीं है।
  • त्यागराज (1767-1847): त्यागराज कर्नाटक संगीत के प्रसिद्ध संगीतकार थे। वह एक प्रसिद्ध संगीतकार थे और शास्त्रीय संगीत परंपरा के विकास में उनका प्रभावशाली योगदान रहा। अतः 3 सही नहीं है।

अतः विकल्प (b) सही उत्तर है।

स्रोत: हिंदूस्तान टाइम्स


प्रारंभिक परीक्षा

नसीम अल बहर 2022

भारतीय नौसेना जहाज़ (Indian Naval Ship- INS) त्रिकांड, INS सुमित्रा और समुद्री गश्ती विमान (Maritime Patrol Aircraft- MPA) डोर्नियर ने 'नसीम अल बहर' (सी ब्रीज़) के 13वें संस्करण में भाग लिया।

  • INS त्रिकांड एक फ्रंटलाइन फ्रिगेट है जो हथियारों और सेंसर की बहुमुखी रेंज से लैस है। यह मुंबई में स्थित भारतीय नौसेना के पश्चिमी बेड़े का हिस्सा है।
  • INS सुमित्रा एक बहुभूमिका अपतटीय गश्ती पोत, विशाखापत्तनम स्थित भारतीय नौसेना के पूर्वी बेड़े का हिस्सा है।

Saudi-Arabia

नसीम अल बहर:

  • परिचय:
    • यह भारतीय नौसेना (Indian Navy- IN) और ओमान की रॉयल नेवी (Royal Navy of Oman-RNO) के बीच एक द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास है।
    • यह अभ्यास 19 से 24 नवंबर, 2022 तक ओमान के तट पर आयोजित किया गया और इसके तीन चरण थे: बंदरगाह चरण, समुद्री चरण तथा डीब्रीफ।
    • पहला IN-RNO अभ्यास वर्ष 1993 में आयोजित किया गया था।
    • वर्ष 2022 में IN-RNO द्विपक्षीय अभ्यास के 30 वर्ष पूरे हो गए हैं।
  • महत्त्व:
    • भारत और ओमान के बीच परंपरागत रूप से मधुर और मैत्रीपूर्ण संबंध रहे हैं, जो समान सांस्कृतिक मूल्यों को साझा करते हैं। नौसेना अभ्यासों ने इन द्विपक्षीय संबंधों को और मज़बूती दी है।

भारत  के अन्य द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास:

स्रोत: पी.आई.बी.


प्रारंभिक परीक्षा

लीथ्स सॉफ्टशेल टर्टल

पनामा में अपनी 19वीं बैठक में CITES के पक्षकारों के सम्मेलन ने लीथ्स सॉफ्टशेल टर्टल को परिशिष्ट II से परिशिष्ट I में स्थानांतरित करने के भारत के प्रस्ताव को स्वीकार किया।

  • जेपोर हिल गेको (सिर्टोडक्टिलस जेपोरेंसिस) को परिशिष्ट II में शामिल करने के लिये भारत ने प्रस्ताव रखा।

सूचीकरण का महत्त्व:

  • CITES की परिशिष्ट I सूची यह सुनिश्चित करेगी कि इस कछुए (टर्टल) की प्रजाति का कानूनी अंतर्राष्ट्रीय व्यापार वाणिज्यिक उद्देश्यों के लिये न हो।
  • सूचीकरण यह भी सुनिश्चित करेगा कि बंदी-नस्ल (कैप्टिव-ब्रेड) के नमूनों का अंतर्राष्ट्रीय व्यापार केवल पंजीकृत केंद्रों से ही किया जाना चाहिये तथा प्रजातियों के अवैध व्यापार के लिये उच्च और अधिक आनुपातिक दंड का प्रावधान करेगा।
  • लीथ्स सॉफ्टशेल टर्टल का सूचीकारण इस प्रकार की प्रजातियों के बेहतर अस्तित्त्व को सुनिश्चित करने के लिये इसकी CITES सुरक्षा स्थिति को मज़बूत करती है।

लीथ्स सॉफ्टशेल टर्टल:

  • परिचय:
    • लीथ्स सॉफ्टशेल टर्टल (निल्सोनिया लेथि) एक बड़ा ताज़े पानी का नरम खोल वाला कछुआ है जो प्रायद्वीपीय भारत के लिये स्थानिक है और नदियों तथा जलाशयों में पाया जाता है।
  • खतरे:
    • इस कछुए की प्रजाति की आबादी में पिछले 30 वर्षों में 90%की गिरावट का अनुमान लगाया गया है।
    • भारत के भीतर अवैध रूप से इसका शिकार किया गया और इसका सेवन भी किया गया। मांस और इसकी कैलीपी के लिये विदेशों में भी इसका अवैध रूप से कारोबार किया गया है।
  • संरक्षण स्थिति:

स्रोत: पी.आई.बी.


प्रारंभिक परीक्षा

HADR अभ्यास समन्वय-2022

भारतीय वायु सेना (Indian Air Force- IAF) 28 से 30 नवंबर, 2022 तक वायु सेना स्टेशन आगरा में मानवीय सहायता और आपदा राहत (Humanitarian Assistance and Disaster Relief- HADR) अभ्यास 'समन्वय-2022' का आयोजन कर रही है।

समन्वय-2022:

  • परिचय:
  • उद्देश्य:
    • इसका उद्देश्य संस्थागत आपदा प्रबंधन अवसंरचनाओं और आकस्मिक उपायों की प्रभावकारिता का आकलन करना है।
    • अभ्यास का उद्देश्य भाग लेने वाले आसियान सदस्य देशों के साथ डोमेन ज्ञान, अनुभव और सर्वोत्तम प्रथाओं के आदान-प्रदान के लिये एक अनूठा मंच प्रदान करना भी है।
  • महत्त्व:
    • समन्वय-2022 नागरिक प्रशासन, सशस्त्र बलों, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) आदि सहित आपदा प्रबंधन में शामिल विभिन्न राष्ट्रीय और क्षेत्रीय हितधारकों द्वारा HADR के प्रति एक सहक्रियात्मक दृष्टिकोण को बढ़ावा देगा।
    • इस बहु-एजेंसी जुड़ाव से प्रभावी संचार, अंतर-संचालनीयता, सहयोग और HADR के सफल संचालन के लिये उनके अनुप्रयोग हेतु संस्थागत ढाँचे के विकास में योगदान की उम्मीद है।

स्रोत: पी.आई.बी.


प्रारंभिक परीक्षा

मसौदा विमान सुरक्षा नियम, 2022

नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा मसौदा विमान सुरक्षा नियम, 2022  को अधिसूचित किया गया है।

पृष्ठभूमि:

  • मसौदा विमान सुरक्षा नियम, 2022 विमान सुरक्षा नियम, 2011 की जगह लेगा जो सितंबर 2020 में संसद द्वारा विमान संशोधन अधिनियम, 2020 पारित किये जाने के बाद आवश्यक हो गया था, जिसमें नागरिक उड्डयन और विमान दुर्घटना जाँच ब्यूरो के महानिदेशक के साथ BCAS को वैधानिक शक्तियाँ दी गई थीं।
  • ये उन्हें ज़ुर्माना लगाने की अनुमति देते हैं जो पहले केवल न्यायालयों द्वारा लगाए जा सकते थे। अधिनियम ने अधिकतम ज़ुर्माना 10 लाख रुपए से बढ़ाकर 1 करोड़ रुपए कर दिया
  • संयुक्त राष्ट्र की विमानन निगरानी संस्था अंतर्राष्ट्रीय नागर विमानन संगठन (ICAO) ने तीन नियामकों की वैधानिक शक्तियों के बिना काम करने पर सवाल उठाए थे, जिसके बाद संसद में संशोधन की आवश्यकता पड़ी।

नियम:

  • जुर्माना और निलंबन:
    • ये नियम नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (Bureau of Civil Aviation Security- BCAS) को हवाई अड्डों और एयरलाइनों पर 50 लाख रुपए से लेकर 1 करोड़ रुपए (कंपनी के विस्तार के आधार पर) का ज़ुर्माना लगाने में सक्षम बनाएंगे यदि वे सुरक्षा कार्यक्रम तैयार करने और लागू करने में विफल रहते हैं या सुरक्षा संबंधी मंज़ूरी मांगे बिना संचालन शुरू करते हैं।
      • BCAS नागरिक उड्डयन मंत्रालय (भारत) का एक संबद्ध कार्यालय है। यह भारत में नागरिक उड्डयन सुरक्षा हेतु नियामक प्राधिकरण है।
    • संबद्ध व्यक्तियों पर अपराध की प्रकृति के आधार पर 1 लाख रुपए से लेकर 25 लाख रुपए का दंडात्मक प्रावधान है।
    • BCAS किसी भी इकाई की हवाईअड्डा सुरक्षा मंज़ूरी और सुरक्षा कार्यक्रम को निलंबित या रद्द करने में भी सक्षम होगा।
  • साइबर सुरक्षा:
    • साइबर सुरक्षा खतरों से निपटने के लिये नियमों में प्रत्येक इकाई को अपनी सूचना और संचार प्रौद्योगिकी प्रणालियों को अनधिकृत उपयोग से बचाने तथा संवेदनशील विमानन सुरक्षा जानकारी के प्रकटीकरण पर रोक लगाने की भी आवश्यकता है।
  • निजी सुरक्षा एजेंट:
    • मसौदा नियम अब हवाई अड्डों को "गैर-प्रमुख क्षेत्रों" में केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force- CISF) के कर्मियों के बजाय निजी सुरक्षा एजेंटों को नियुक्त करने और राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन नीति, 2016 की सिफारिश के अनुसार सुरक्षा कर्तव्यों को सौंपने के लिये अधिकृत करते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (International Civil Aviation Organisation- ICAO):

  • यह संयुक्त राष्ट्र (United Nations-UN) की एक विशिष्ट एजेंसी है, जिसे वर्ष 1944 में स्थापित किया गया था, जिसने शांतिपूर्ण वैश्विक हवाई नेविगेशन के लिये मानकों और प्रक्रियाओं की नींव रखी।
    • अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संबंधी अभिसमय/कन्वेंशन पर 7 दिसंबर, 1944 को शिकागो में हस्ताक्षर किये गए। इसलिये इसे शिकागो कन्वेंशन भी कहते हैं।
    • शिकागो कन्वेंशन ने वायु मार्ग के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय परिवहन की अनुमति देने वाले प्रमुख सिद्धांतों की स्थापना की और ICAO के निर्माण का भी नेतृत्व किया।
  • इसका एक उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय हवाई परिवहन की योजना एवं विकास को बढ़ावा देना है ताकि दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन की सुरक्षित तथा व्यवस्थित वृद्धि सुनिश्चित हो सके।
  • भारत इसके 193 सदस्यों में से है।
  • इसका मुख्यालय मॉन्ट्रियल, कनाडा में है।

स्रोत: द हिंदू


विविध

Rapid Fire (करेंट अफेयर्स): 25 नवंबर, 2022

अंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस 

महिलाओं पर होने वाली हिंसा को रोकने के लिये प्रतिवर्ष 25 नवंबर को विश्व भर में ‘अंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस’ (International Day for the Elimination of Violence against Women) मनाया जाता है। इस दिवस के आयोजन का प्राथमिक उद्देश्य महिलाओं के खिलाफ हिंसा को रोकना और महिलाओं को उनके बुनियादी मानवाधिकारों एवं लैंगिक समानता के विषय में जागरूक करना है। महिला अधिकार कार्यकर्त्ताओं द्वारा वर्ष 1981 से प्रतिवर्ष 25 नवंबर को लिंग आधारित हिंसा के खिलाफ लड़ने हेतु इस दिवस का आयोजन किया जाता है। 07 फरवरी, 2000 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने एक संकल्प पारित किया, जिसमें 25 नवंबर को ‘अंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस’ के रूप में नामित किया गया। इस दिवस का आयोजन ‘मिराबाई बहनों’ (डोमिनिकन गणराज्य की तीन राजनीतिक कार्यकर्त्ता) के सम्मान में किया जाता है, जिन्हें वर्ष 1960 में देश के शासक ‘राफेल ट्रुजिलो’ के आदेश पर बेरहमी से मार दिया गया था। भारत में लैंगिक समानता (gender equality) का सिद्धांत भारतीय संविधान में निहित है,साथ ही महिलाओं को लिंग के आधार पर भेदभाव नहीं किये जाने (अनुच्छेद 15) और विधि के समक्ष समान संरक्षण (अनुच्छेद 14) का मूल अधिकार प्राप्त है। महिला सशक्तीकरण से संबंधित प्रमुख सरकारी योजनाएँ इस प्रकार हैं: बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना, उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री महिला शक्ति केंद्र योजना

भारत-अफ्रीका हैक्‍थॉन-22

उपराष्‍ट्रपति जगदीप धनखड़ ने 25 नवंबर, 2022 को उत्तर प्रदेश में गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में यूनेस्‍को की ओर से आयोजित भारत-अफ्रीका हैक्‍थॉन-22 (UIAH) के समापन समारोह को संबोधित किया। हैक्‍थॉन का आयोजन भारत और अफ्रीका के बीच गहरे संबंधों तथा मौजूदा चुनौतियों का मिलकर सामना करने की एकजुट भावना के प्रतीक के रूप में आयोजित किया गया है। यह युवाओं को सामाजिक तथा पर्यावरण और तकनीकी समस्याओं के समाधान के लिये नवाचारों की संभावनाओं का पता लगाने का एक बेहतरीन अवसर प्रदान करता है। हैकाथॉन कार्यक्रम का उद्देश्य नई प्रौद्योगिकियों या कौशल की खोज करना, व्यावसायिक नवाचार को बढ़ावा देना, इनक्यूबेशन कार्यक्रमों की सोर्सिंग, संभावित स्टार्ट-अप बनाना, ब्रांडिंग, सामाजिक कारणों का समाधान खोजना व भविष्यवाणी करने के लिये डेटा का विश्लेषण करना है। साथ ही इसमें LIFE मिशन के तहत UIAH 2022 के लिये चुने गए पाँच उप विषय- शिक्षा, नवीकरणीय ऊर्जा, पेयजल तथा स्वच्छता, कृषि एवं स्वास्थ्य और स्वच्छता के क्षेत्रों में समाधान पर भारत व अफ्रीकी देशों के बीच मंथन भी होगा। भारत-अफ्रीका हैक्‍थॉन में 22 अफ्रीकी देश भाग ले रहे हैं। इसमें बोत्सवाना, कैमरून, एस्वातिनी, इथियोपिया, गिनी, जाम्बिया, घाना, गिनी बिसाऊ, केन्या, लेसोथो, मलावी, माली, मॉरीशस, मोरक्को, मोजांबिक, नामीबिया, नाइजर, सिएरा-लियोन, तंज़ानियाा, टोगो, युगांडा और जिम्बाब्वे शामिल हैं। 


एसएमएस अलर्ट
Share Page