प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 10 जून से शुरू :   संपर्क करें
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • प्रश्न :

    ‘आत्म-संयम’ न केवल व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन को सुखप्रद बनाता है अपितु सामाजिक-व्यवस्था को भी संतुलित बनाए रखने में सहायक होता है।’ विवेचना कीजिये।

    19 Jun, 2017 सामान्य अध्ययन पेपर 4 सैद्धांतिक प्रश्न

    उत्तर :

    आत्म-संयम एक ऐसा सद्गुण है जो व्यक्ति की विभिन्न प्रकार की मानवीय लालसाओं, जैसे-खाने, पीने व काम-क्रिया आदि, पर कारण के औचित्य को लागू करता है। आत्म-संयम ही व्यक्ति का आत्म नियंत्रण बढ़ाता है तथा उसके तीव्र मनोवेगों- क्रोध, द्वेष आदि को नियंत्रित करता है। व्यक्ति की यह प्रकृति होती है कि जो चीज उसे सुख व खुशी देती है, वह उसे ही ज्यादा अपना लेते हैं। आत्म-संयम व्यक्ति को इसी ‘अति’ से बचाता है। किसी वस्तु या स्थिति को लेकर विभिन्न लोगों में आत्म संयम की भिन्नता भी पाई जाती है। जैसे- अपनी आलोचना पर प्रतिक्रिया न देने में जितना आत्म संयम एक राजनेता में होता है, उतना आम नागरिक में नहीं होता है।

    व्यक्तिगत जीवन में ‘आत्म संयम’ के लाभः

    (i) व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा रहता है। वह खाने-पीने की आदतों पर नियंत्रण रख पाता है। 
    (ii) गृहस्थ जीवन भी सुखमय रहता है क्योंकि वह संबंधों के प्रति संयमित रहता है।
    (iii) आत्म -संयम व्यक्ति की इच्छाओं को नियंत्रित करता है, जिससे वह अतिरिक्त सुविधाओं के लिये भाग-दौड़ करने में भी नहीं लगा रहता।

    सामाजिक-व्यवस्था के संतुलन में ‘आत्म-संयम’ सहायक कैसे?

    (i) आत्म-संयमित व्यक्ति दूसरों के मामलों में दखलांदाजी नहीं करता और न ही दूसरों का हक छीनने की कोशिस करता है। फलतः समाज में शांति व भाईचारे को बढ़ावा मिलता है।
    (ii) आत्म-संयमित व्यक्ति प्राकृतिक संसाधनों का दुरूपयोग नहीं करता और न ही लोक-सुविधाओं का गलत प्रयोग करता है। इससे सामाजिक-व्यवस्था संतुलित रहती है।
    (iii) एक आत्म-संयमित व्यक्ति अनावश्यक खरीद या आर्थिक संसाधनों का अतिशय प्रयोग नहीं करता, इससे बाजार का समीकरण संतुलित रहता है।
    (iv) एक आत्म-संयमित व्यक्ति शीघ्रता से उत्तेजित होकर निर्णय नहीं लेता। वह सोच समझकर मतदान करता है और सही उम्मीदवार को अपना प्रतिनिधि चुनता है, जिससे लोक-व्यवस्था सुदृढ़ होती है।

    अतः आत्म-संयम का सद्गुण व्यक्ति के व्यक्तित्व को गांभीर्य प्रदान कर उसके जीवन को सुखप्रद बनाता है तथा सामाजिक व्यवस्था में भी संतुलन को बनाये रखता है।

    To get PDF version, Please click on "Print PDF" button.

    Print
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2