प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 10 जून से शुरू :   संपर्क करें
ध्यान दें:

स्टेट पी.सी.एस.

  • 06 Feb 2023
  • 0 min read
  • Switch Date:  
बिहार Switch to English

नीतीश कुमार की बड़ी घोषणा, इस साल से मेडिकल व इंजीनियरिंग में छात्राओं के लिये एक तिहाई सीट होगी रिजर्व

चर्चा में क्यों?

5 फरवरी, 2022 को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग (बीसीई)-एनआईटी पूर्ववर्ती छात्र समिति के वार्षिक मिलन समारोह में घोषणा की कि नये सत्र 2023 से राज्य के मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों की एक तिहाई सीटें लड़कियों के लिये आरक्षित रहेंगी।

प्रमुख बिंदु

  • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई में लड़कियों के लिये कम से कम एक तिहाई सीटें आरक्षित कर दी गई हैं।
  • उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में बिहार पुलिस की बहाली में महिलाओं को 35 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया। बिहार में जितनी महिलाएँ पुलिस में हैं, उतनी दूसरे राज्यों में नहीं हैं। इसके अलावा बिहार की सभी सरकारी सेवाओं में महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि एनआईटी पटना के विस्तार के लिये हर ज़िले में इंजीनियरिंग कॉलेज बनाए जा रहे हैं। बिहटा में 125 एकड़ ज़मीन दी गई है। निर्माणाधीन बिहटा कैंपस से सटे खाली पड़े 25 एकड़ का भूखंड और दिया जाएगा।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि 2004 में तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली केंद्रीय सरकार ने बिहार कॉलेज आफ इंजीनियरिंग को एनआईटी का दर्जा दिया था। बिहार सरकार ने बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग का नामकरण बीसीई-एनआईटी करवाया था।  

राजस्थान Switch to English

नई दिल्ली के बीकानेर हाउस में स्थापित हुआ अनोखा स्कल्पचर पार्क

चर्चा में क्यों?

5 फरवरी, 2022 को राजस्थान की मुख्य सचिव उषा शर्मा ने नई दिल्ली के बीकानेर हाउस में आधुनिक एवं समकालीन कला और संस्कृति की झलक लिये हुए स्कल्पचर पार्क का उद्घाटन किया।

प्रमुख बिंदु

  • परंपरागत कला संस्कृति से सराबोर बीकानेर हाउस को राजधानी में कल्चरल हब के रूप में विकसित करने की दिशा में कदम उठाते हुए इसके परिसर में स्कल्पचर पार्क स्थापित किया गया है।
  • इस अवसर पर मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि इंडिया आर्ट फेयर के दौरान इस स्कल्पचर पार्क की नींव रखी गई। बीकानेर हाउस में स्कल्पचर पार्क की शुरूआत के साथ ही कला, साहित्य, संस्कृति और विरासत से जुड़े मुद्दों पर प्रतिष्ठित हस्तियों के सान्निध्य में ‘बीकानेर हाउस डायलॉग्स’का आरंभ होना एक अनूठी पहल है।
  • उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों के जरिये युवा कलाकारों द्वारा समकालीन कला का प्रदर्शन किया जा रहा है, वहीं वरिष्ठ कलाकारों को स्कल्पचर पार्क द्वारा स्थापत्य कला को पहचानने तथा अपनी जड़ों से जुड़े रहने का मौका प्राप्त हो रहा है।
  • दिल्ली में राज्य की अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं मुख्य आवासीय आयुक्त शुभ्रा सिंह ने बताया कि इस स्कल्पचर पार्क में नामचीन एवं अंतर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त मूर्तिकारों ने हिस्सा लेकर इस पार्क को सफल बनाने में अपना योगदान दिया है।
  • आवासीय आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने कहा कि ‘इंडिया आर्ट फेयर’और बीकानेर हाउस के तत्वावधान में युवा पीढ़ी की बड़े पैमाने पर भागीदारी सुनिश्चित हो रही है और इससे कला साहित्य के भविष्य की दिशा का निर्धारण भी हो रहा है।
  • उन्होंने बताया कि यह स्कल्पचर पार्क राजस्थानी कला, संस्कृति और विरासत को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ख्याति से जोड़ेगा। पार्क के पहले एडिशन में देश-दुनिया के विख्यात और उभरते कलाकारों की कलाकृतियों/मूर्तियों को प्रदर्शित किया गया है।
  • बीकानेर हाउस का यह स्कल्पचर पार्क राजधानी में अपनी तरह का पहला स्कल्पचर पार्क है, जो आधुनिक व समकालीन आर्ट वर्क को प्लेटफॉर्म देने के लिये मील का पत्थर साबित होगा।      

मध्य प्रदेश Switch to English

खेलो इंडिया बाक्सिंग में मेजबान मध्य प्रदेश ने जीते 13 पदक

चर्चा में क्यों?

4 फरवरी, 2022 को खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2022 में मेजबान मध्य प्रदेश ने बाक्सिंग चैंपियनशिप में 2 स्वर्ण पदक जीता और कुल 13 पदकों के साथ ओवरआल चैंपियनशिप में दूसरे स्थान पर रहा।

प्रमुख बिंदु

  • खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2022 में मेजबान मध्य प्रदेश ने बाक्सिंग में 2 स्वर्ण, 4 रजत एवं 7 काँस्य सहित कुल 13 पदक जीते। मध्य प्रदेश के लिये योगेश्वर दत्त एवं मलिका मोर ने स्वर्ण पदक जीते। वहीं हरियाणा 8 स्वर्ण, 5 रजत एवं 2 काँस्य सहित कुल 15 पदक जीतकर ओवरआल चैंपियन बना।
  • भोपाल के तात्या टोपे नगर स्टेडियम में बाक्सिंग चैंपियनशिप के मुकाबले खेले गए। बालक वर्ग के 60-63.5 किग्रा. भार वर्ग के फाइनल में मध्य प्रदेश के योगेश्वर दत्त ने मणिपुर के सी. मोइरैमगथ्म को हराकर स्वर्ण पदक जीता। अरूणाचल प्रदेश के पक्वा ताव एवं उत्तराखंड के भुवनेश्वर ने काँस्य पदक जीते।
  • बालिका वर्ग में मलिका मोर ने मध्य प्रदेश को एक स्वर्ण दिलाया। मलिका मोर ने 45-48 किग्रा. भार वर्ग के फाइनल मुकाबले में हरियाणा की भावना शर्मा को शिकस्त देकर स्वर्ण पदक जीता। उत्तराखंड की आँचल शुक्ला व दिल्ली की संजना ने काँस्य पदक जीता।
  • बालक वर्ग में आयुष यादव को 71-75 किग्रा. भार वर्ग में हरियाणा के दीपक के हाथों हार का सामना करना पड़ा। पंजाब के तेजस्वी व मणीपुर के राहुल सिंह ने काँस्य पदक जीते।
  • 51-54 किग्रा. भार वर्ग के फाइनल में मध्य प्रदेश के रुद्रजीत सिंह को हरियाणा के अशीष के हाथों हार का सामना करना पड़ा और रजत पदक से संतोष करना पड़ा। 50-52 किग्रा. भार वर्ग के फाइनल में मध्य प्रदेश की कैफी को महाराष्ट्र की देविका घोरपड़े ने हराकर स्वर्ण पदक जीता। मध्य प्रदेश के लिये बालिका वर्ग में विनती ने 70-75 किग्रा. भार वर्ग में रजत पदक जीता, उन्हें फाइनल में हरियाणा की मुस्कान ने हराया।
  • बालक वर्ग में अभिषेक तोमर ने 63.5-67 किग्रा. भार वर्ग में, प्रशांत खटाना ने 67-71 किग्रा. भार वर्ग में तथा ऋषभ सिकरवार ने 75-80 किग्रा. भार वर्ग में काँस्य पदक जीते। बालिका वर्ग में खुशी सिंह ने 60-63 किग्रा. भार वर्ग में, भूमि सिंह ने 54-57 किग्रा. भार वर्ग में एवं राधिका जाटव ने 48-50 किग्रा. भार वर्ग में काँस्य पदक जीता।

हरियाणा Switch to English

हरियाणा में एमबीबीएस पाठ्यक्रम में आयुर्वेद को भी शामिल किया जाएगा

चर्चा में क्यों?

3 फरवरी, 2022 को हरियाणा के गृह, स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री अनिल विज ने अंबाला छावनी में 75वें सूर्य नमस्कार अभियान कार्यक्रम के तहत राज्य स्तरीय कार्यक्रम में कहा कि हरियाणा में एमबीबीएस पाठयक्रम में आयुर्वेद को भी शामिल किया जाएगा।

प्रमुख बिंदु

  • मंत्री अनिल विज ने कहा कि एमबीबीएस की डिग्री के तहत 4 साल विद्यार्थी एलोपैथिक की पढ़ाई करेगा, वहीं एक साल आयुर्वेद की पढ़ाई करेगा, इसके लिये एक टीम का गठन किया गया है जो कोर्स को तैयार करने का काम करेगी।
  • आयुष मंत्री ने बताया कि हरियाणा कैबिनेट की बैठक में आयुष विभाग को अलग विभाग का दर्जा दिया गया है ताकि यह विभाग भी दूसरे विभागों की तर्ज पर आगे आ सके और इसकी अलग पहचान हो और जो भी कार्य इस विभाग द्वारा करने हैं वह किया जा सके।
  • योग को आगे ले जाने के लिये हरियाणा में योग-आयोग बनाया गया है। राज्य सरकार ने संकल्प लिया है कि प्रदेश के 6500 गाँवों में योगशालाएँ बनें, इसके दृष्टिगत 1000 योगशालाएँ बना दी गई हैं, बाकी पर काम चल रहा है। शहरों मे भी जहाँ पर मुमकिन स्थान है वहाँ पर योगशालाएँ बनाई जा रही है।
  • उन्होंने कहा कि एलोपेथिक दवाओं की भाँति अब आयुर्वेदिक दवाओं की भी रिएर्म्बसमेंट हो सकेगा।
  • आयुष मंत्री ने यह भी कहा कि अल्टरनेट मैडिशन को बढ़ावा देने के लिये आयुष विश्वविद्यालय बनाया गया है। आयुष के पाँच विंग है, जिसमें आयुर्वेद, योगा, सिद्धा, युनानी व होम्योपैथी शामिल हैं। इन पाँचों विंगों पर कार्य किया जा रहा है। कुरूक्षेत्र में आयुष विश्वविद्यालय खोला गया है। वहाँ पर 100 एकड़ जगह ली गई है जहाँ पर बिल्डिंग का निर्माण किया जाएगा। दूर-दूर से लोग यहाँ आकर हरियाणा में इसकी शिक्षा लेंगे।
  • उन्होंने बताया कि पंचकूला में लगभग 270 करोड़ रुपए की लागत से राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान बनाया जा रहा है। दिसंबर माह तक यह बनकर तैयार हो जाएगा। यहाँ पर 250 बेड का अस्पताल भी बनाया जाएगा तथा यहाँ से 500 डॉक्टर बनकर निकलेंगे।
  • उन्होंने कहा कि नूह में युनानी कालेज बनाया गया है तथा अंबाला छावनी में होम्योपैथिक कालेज व देवरखाना में प्राकृतिक चिकित्सा अस्पताल बनाया जा रहा है। 569 आयुष हेल्थ वैलनेस सेंटर, 4 आयुर्वेदिक अस्पताल, 6 आयुष प्राथमिक स्वास्थ्य अस्पताल, 19 युनानी अस्पताल, 26 होम्योपैथिक, 21 आयुष विंग हैं तथा हरियाणा के हर ज़िला अस्पताल में आयुष विंग है।

हरियाणा Switch to English

36वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले का हुआ भव्य आगाज

चर्चा में क्यों?

3 फरवरी, 2022 को भारत के उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की उपस्थिति में फरीदाबाद ज़िला के सूरजकुंड में 36वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले का उद्घाटन किया। यह मेला 19 फरवरी तक चलेगा।

प्रमुख बिंदु

  • उपराष्ट्रपति ने सूरजकुंड मेला को देश की विविध संस्कृतियों एवं कलाओं का संगम करार देते हुए कहा कि शंघाई  कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन  देशों की इस मेले में भागीदारी एक ऐतिहासिक घटना है।
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला देश की विविधता में एकता की कड़ियों को मज़बूत करने के साथ-साथ ‘वसुधैव कुटुम्बकम’की अवधारणा को भी आगे बढ़ाता है।
  • गौरतलब है कि इस मेले में हर वर्ष एक सहभागी राष्ट्र और एक ‘थीम स्टेट’होता है। इस मेले में इस वर्ष शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन सहभागी राष्ट्र है। इस वर्ष मेले में 25 से अधिक देश भाग ले रहे हैं।
  • भारत के 8 उत्तर-पूर्वी राज्य इस मेले के थीम स्टेट हैं। इनमें अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिज़ोरम, नागालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा शामिल हैं। ये राज्य एक साथ मिलकर एक ही मंच पर अपनी कला, हस्तशिल्प और व्यंजनों का प्रदर्शन करेंगे।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि देश-विदेश के कलाकारों व शिल्पकारों की कल्पनाओं से सराबोर कलाकृतियों से सुसज्जित इस हस्तशिल्प मेले की छटा देखते ही बनती है। इस तरह के मेले शिल्पकारों को अपनी पसंद व कला के आदान-प्रदान का अवसर प्रदान करते हैं। यह मेला विविधता में एकता लिये एक भारत श्रेष्ठ भारत का दर्शन कराता है।

झारखंड Switch to English

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने झारखंड के देवघर में IFFCO नैनो यूरिया प्लांट के पाँचवे सयंत्र का भूमिपूजन और शिलान्यास किया

चर्चा में क्यों?

4 फरवरी, 2022 को केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने झारखंड के देवघर में विश्व के पहले इफको (IFFCO) नैनो यूरिया प्लांट के पाँचवे सयंत्र का भूमिपूजन और शिलान्यास किया।

प्रमुख बिंदु

  • केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने कहा कि नैनो यूरिया की देवघर इकाई बनने से यहाँ प्रतिवर्ष लगभग 6 करोड़ तरल यूरिया की बोतलों का निर्माण किया जाएगा जिससे इसके आयात पर हमारी निर्भरता कम होगी और भारत इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा।
  • केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 500 ग्राम की एक छोटी सी बोतल यूरिया के एक पूरे बैग का विकल्प बनेगी। केमिकल फर्टिलाइजर भूमि में उपस्थित कुदरती खाद बनाने वाले केंचुओं को मार देता है वहीं तरल यूरिया का छिड़काव करने पर भूमि किसी भी प्रकार से विषाक्त नहीं होगी।
  • उन्होंने कहा कि किसानों की सहकारिता से बने इफको ने विश्व में सर्वप्रथम तरल नैनो यूरिया बनाया और अब डीएपी (डी-अमोनियम फॉस्फेट) की ओर आगे बढ़ रहा है। यह भारत और पूरे सहकारिता क्षेत्र के लिये गौरव की बात है। प्रधानमंत्री ने सहकारिता को बढ़ावा देने के लिये बजट में कई योजनाओं की घोषणा की। इसके तहत उत्पादन के क्षेत्र में नई सहकारिता इकाईयों के लिये इनकम टैक्स की दर 26% से घटाकर 15% कर दी गई है।
  • केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि आज लगभग 5 देशों में तरल यूरिया का निर्यात किया जा रहा है। इफको द्वारा बनाया गया यह तरल यूरिया न केवल भारत बल्कि विश्व के किसानों की भी मदद करेगा।
  • उन्होंने कहा कि देवघर में 30 एकड़ में बन रहा तरल यूरिया का यह छोटा सा कारखाना आयातित 6 करोड़ यूरिया खाद के बैग के विकल्प का निर्माण करेगा जिससे भारत इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा। इससे किसान की भूमि भी संरक्षित रहेगी और उत्पादन में भी वृद्धि होगी।
  • अमित शाह ने समग्र पूर्वी भारत के किसानों को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि तरल नैनो यूरिया का यह कारखाना न केवल झारखंड बल्कि बिहार, उड़ीसा और बंगाल के किसानों के खेतों में भी उत्पादन बढ़ाने में उपयोगी साबित होगा।

छत्तीसगढ़ Switch to English

‘निकलर एप’ द्वारा पढ़ाई कराने के लिये छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा विभाग को प्रतिष्ठित उत्कृष्टता पुरस्कार

चर्चा में क्यों?

5 फरवरी, 2022 को छत्तीसगढ़ जनसंपर्क विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ में स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में ‘निकलर एप’द्वारा पढ़ाई कराने के लिये सी.एस.आई. ने छत्तीगसढ़ के स्कूल शिक्षा विभाग को प्रतिष्ठित उत्कृष्टता पुरस्कार से नवाज़ा है। छत्तीसगढ़ को यह अवार्ड 25 मार्च को नई दिल्ली में आयोजित होने वाले ई-गवर्नेंस कार्यक्रम में प्रदान किया जाएगा। 

प्रमुख बिंदु

  • जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा विभाग को परियोजना श्रेणी के तहत् 20वें सीएसआई एसआईजी ई-गवर्नेंस अवार्ड 2022 के लिये प्रस्तुत ‘इनोवेटिव असेसमेंट टूल-एनआईसीलर’ (पीआरजे 22008) का नामांकन उत्कृष्टता पुरस्कार के लिये चुना गया है।
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा 14 नवंबर, 2022 को लॉन्च किये गए सुघ्घर पढ़वैया कार्यक्रम में भी स्कूलों का आकलन निकलर एप के माध्यम से बहुत कम समय में किया जा सकेगा। इसके लिये भी शिक्षकों को तैयार किया जा रहा है।
  • निकलर एप का उपयोग शिक्षकों के कार्यों को आसान करने हेतु किया जाता है। छत्तीसगढ़ में स्कूल शिक्षा विभाग और एन आई सी ने भी शिक्षकों के आकलन संबंधी कार्य को आसान करने के लिये लंबी रिसर्च करते हुए निकलर एप का निर्माण किया है।
  • एप के उपयोग के लिये सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर में जाकर निकलर एप को डाउनलोड करना होता है। स्कूल के यू-डाइस के आधार पर पोर्टल से विद्यार्थियों के लिये क्यू आर कोड वाले कार्ड डाउनलोड कर उसे एक पुठ्ठे में चिपकाना पड़ता है। प्रत्येक विद्यार्थी के लिये इस प्रकार से एक यूनिक कार्ड उनके नाम से देना होता है। इसे आपस में बदलना नहीं चाहिये। यह उस बच्चे के नाम से उसके पास पूरे सत्र में रहना चाहिये।
  • किसी टॉपिक को पढ़ाने के बाद प्रश्न पूछना हो तो निकलर एप में उस पाठ से संबंधित उपलब्ध प्रश्न निकालकर पूछ सकते हैं या फिर स्वयं अपने प्रश्न दे सकते हैं। पूछे जाने वाले प्रश्न के चार विकल्प होने चाहिये। बच्चों को सही विकल्प के आधार पर कैसे कार्ड को पकड़ना है यह सिखाना होगा।
  • निकलर एप का उपयोग कर बच्चों की उपस्थिति भी ली जा सकती है। इस एप के माध्यम से पूछे जाने वाले विभिन्न प्रश्नों के ऑडियो बनाकर भी प्रश्न पूछ सकते हैं। एप के उपयोग में कुछ भी दिक्कत आती है तो शिक्षकों के बीच से ही तकनीकी रूप से विशेषज्ञ शिक्षक वीडियो बनाकर सहायता करते हैं, जिससे कक्षा में इसको क्रियान्वित करना आसान हो गया है।
  • समग्र शिक्षा की ओर से इस एप के उपयोग हेतु निरंतर आवश्यक सहयोग प्रदान किया जा रहा है। इस वर्ष सभी स्कूलों को इंटरनेट के लिये बजट भी उपलब्ध करवाया गया है। शिक्षकों को निकलर एप के उपयोग के लिये प्रशिक्षित भी किया गया है।

छत्तीसगढ़ Switch to English

राजिम माघी पुन्नी मेला का भव्य शुभारंभ

चर्चा में क्यों?

5 फरवरी, 2022 को छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहलाने वाले राजिम में माघी पुन्नी मेला का भव्य शुभारंभ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मुख्य आतिथ्य में हुआ। यह मेला 18 फरवरी (महाशिवरात्रि) तक जारी रहेगा।

प्रमुख बिंदु

  • माघ पूर्णिमा के अवसर पर राजिम के त्रिवेणी संगम तट पर श्रद्धालुओं ने माघी पुन्नी का पुण्य स्नान किया। स्नान करने हेतु पूरे देश सहित प्रदेश के कोने-कोने से लोग पहुँचे और गंगा घाट में डुबकी लगाकर पुण्य स्नान किया।
  • उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहलाने वाले राजिम में चित्रोत्पला गंगा (महानदी), पैरी और सोंढूर नदियों के पवित्र त्रिवेणी संगम पर सदियों से यह माघी पुन्नी मेला लगता है, जो माघी पूर्णिमा से शुरू होकर महाशिवरात्रि तक चलता है। 
  • माघी पूर्णिमा के दिन को भगवान श्री राजीव लोचन के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसके उपलक्ष्य में सदियों से राजिम के इस पावन भूमि में मेला लगता आ रहा है।
  • 18 फरवरी (महाशिवरात्रि) तक चलने वाले इस मेले में प्रतिदिन सांस्कृतिक संध्या के तहत छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध कलाकार अपनी कला की प्रस्तुति देंगे।  

 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2