हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • मध्य महासागरीय कटकों के आधार पर सागरीय अधस्तल विस्तार की परिकल्पना की पुष्टि कीजिये।

    19 Sep, 2019 वैकल्पिक विषय भूगोल

    उत्तर :

    प्रश्न विच्छेद

    • मध्य महासागरीय कटकों से सागरीय अधस्तल विस्तार का संबंध बताएँ।

    हल करने का दृष्टिकोण

    • सागरीय अधस्तल विस्तार परिकल्पना की संक्षिप्त चर्चा करें।

    • मध्य महासागरीय कटकों के आधार पर इस परिकल्पना की पुष्टि करें।

    हैरी हेस ने 1960 में पुराचुम्बकत्त्व विज्ञान, समुद्री भूगर्भ शास्त्र के खोज एवं ध्रुवीय भटकन (Wandening) सिद्धांत तथा संवहनीय धारा सिद्धांत जैसी संकल्पनाओं को संश्लेषित कर सागरीय अधस्तल विस्तार अभिमत प्रस्तुत किया। हैरी हेस ने मध्य महासागरीय कटक के दोनों ओर की चट्टानों के चुंबकीय गुणों के विश्लेषण के आधार पर अपना मत प्रस्तुत किया।

    हैरी हेस ने अपने सिद्धांत में प्रतिपादित किया कि अधिकांश महासागरों में दरारें मौजूद हैं। इन दरारों के दोनों ओर के भूखंड एक-दूसरे से दूर हट रहे हैं। इन दरारों के सहारे ज्वालामुखी उद्गार हो रहा है। भूखंडों का दूसरा सिरा महाद्वीपों के नीचे क्षेपित हो जाता है जो गहराई में उच्च तापमान के कारण पिघल जाता है। यह पिघला हुआ मैग्मा महासागरीय दरारों की ओर प्रवाहित होता है। इस प्रकार एक कन्वेयर बेल्ट का निर्माण होता है। इसी के आधार पर हैरी हेस ने सागरीय अधस्थल विस्तार की परिकल्पना का प्रतिपादन किया।

    मध्य महासागरीय कटकों के आधार पर परिकल्पना की पुष्टि:

    महासागरीय क्रस्ट की नवीनता मध्य महासागरीय कटक से बढ़ती दूरी के साथ घटती जाती है। अर्थात् कटकों के पास नवीन चट्टानें तो गर्तों के पास पुरानी चट्टानें मिलती हैं।

    Sea floor spreading

    चुंबकीय व्युत्क्रमण सिद्धांत के अनुसार, कटक से बढ़ती दूरी के साथ कटक के दोनों ओर की चट्टानों में चुम्बकत्व संबंधी सामयिक व्युत्क्रमणता पाई जाती है।

    कटकों के साथ-साथ ज्वालामुखी उद्गार तथा भूकंपों का पाया जाना।

    कटकों के शिखर पर तलछटों का अभाव, जबकि दूरी के साथ तलछटों के जमाव में वृद्धि।

    कटक के मध्य भाग के दोनों तरफ समान दूरी पर चट्टानों के निर्माण के समय संरचना और संघटन में एकरूपता।

    हैरी हेस द्वारा प्रतिपादित सागरीय अधस्तल विस्तार सिद्धांत भविष्य के अध्ययनों के लिये महत्त्वपूर्ण आधार बना। इसका अधिक परिष्कृत, विस्तारित और अधिक व्यापक रूप प्लेट विवर्तनिकी सिद्धांत के तौर पर विकसित हुआ।

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close