हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

प्रिलिम्स फैक्ट्स

  • 02 Sep, 2022
  • 16 min read
प्रारंभिक परीक्षा

स्टॉकहोम जूनियर वाटर प्राइज़

हाल ही में कनाडा की एक छात्रा एनाबेले एम. रेसन को हानिकारक शैवाल प्रस्फुटन (Algae Blooms) के उपचार और रोकथाम के तरीके पर उनके शोध के लिये वर्ष 2022 का प्रतिष्ठित स्टॉकहोम जूनियर वाटर प्राइज़ प्रदान किया गया।

  • हानिकारक शैवाल प्रस्फुटन (HAB) शैवालों की अनियंत्रित वृद्धि को संदर्भित करता है जिससे जीवों यथा मछली, शीप, समुद्री स्तनधारियों और पक्षियों पर विषाक्त या हानिकारक प्रभाव पैदा होता है।

स्टॉकहोम जूनियर वाटर प्राइज़:

  • परिचय:
    • स्टॉकहोम जूनियर वाटर एक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता है जहाँ 15 से 20 वर्ष की आयु के छात्र प्रमुख जल चुनौतियों का समाधान प्रस्तुत करते हैं।
    • यह वर्ष 1997 से प्रत्येक वर्ष स्टॉकहोम इंटरनेशनल वाटर इंस्टीट्यूट द्वारा एक अमेरिकी जल प्रौद्योगिकी प्रदाता जाइलम (Xylem) के साथ आयोजित किया जाता है।
    • यह पुरस्कार विश्व जल सप्ताह का लोकप्रिय हिस्सा है।
  • अन्य पुरस्कार:
    • उत्कृष्टता का डिप्लोमा:
      • यह पुरस्कार ब्राज़ील के लौरा नेडेल ड्रेब्स और केमिली परेरा डॉस सैंटोस को पीरियड पावर्टी, सैनिटरी पैड की अनुपलब्धता के मुद्दे को संबोधित करने तथा उनके विकास कार्य के लिये दिया गया था।
    • पीपुल्स च्वाइस अवार्ड:
      • पीपुल्स च्वाइस अवार्ड संयुक्त अरब अमीरात के मिशाल फ़राज़ को एकल-उपयोग वाली प्लास्टिक के उपयोग को हतोत्साहित करने और जल सुरक्षा को बढ़ावा देने के वाटर बॉटल प्रोजेक्ट के लिये दिया गया।

स्रोत:डाउन टू अर्थ


प्रारंभिक परीक्षा

क्राइम मल्टी एजेंसी सेंटर

कुछ राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश ने क्रि-मैक/Cri-MAC (Crime Multi Agency Centre) प्लेटफॉर्म पर एक भी अलर्ट अपलोड नहीं किया है।

  • पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, मिज़ोरम, मणिपुर, नगालैंड और सिक्किम एवं केंद्रशासित प्रदेश दादरा, नगर हवेली और दमन एवं दीव ने एक भी अलर्ट अपलोड नहीं किया है।
  • दिल्ली, असम और हरियाणा ने पोर्टल पर सबसे ज़्यादा अलर्ट अपलोड किये हैं।

क्रि-मैक/Cri-MAC:

  • क्रि-मैक को वर्ष 2020 में गृह मंत्रालय (MHA) द्वारा लॉन्च किया गया था, जो राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) द्वारा संचालित किया जाता है।
  • इसे विभिन्न कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ अपराध और अपराधियों के बारे में जानकारी साझा करने एवं उनके बीच सूचना के निर्बाध प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिये शुरू किया गया था।
  • इसका उद्देश्य देश भर में अपराध की घटनाओं का जल्द पता लगाने और रोकथाम में मदद करना है।
  • क्रि-मैक वास्तविक समय के आधार पर देश भर में मानव तस्करी सहित महत्त्वपूर्ण अपराधों के बारे में जानकारी के प्रसार की सुविधा प्रदान करता है और अंतर-राज्य समन्वय को सक्षम बनाता है।
  • यह अवैध तस्करी के पीड़ितों का पता लगाने और उनकी पहचान करने के साथ-साथ अपराध की रोकथाम, पता लगाने एवं जाँच में भी मदद कर सकता है।

मानव तस्करी:

  • परिचय:
    • मानव तस्करी के तहत किसी व्यक्ति से बलपूर्वक या दोषपूर्ण तरीके से कोई कार्य करवाना, एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाना या बंधक बनाकर रखना जैसे कृत्य आते हैं, इन तरीको में धमकी देना या अन्य प्रकार की जबरदस्ती भी शामिल है।
    • उत्पीडन में शारीरिक या यौन शोषण के अन्य रूप,बलात् श्रम या सेवाएँ,दास बनाना या ज़बरन शरीर के अंग निकलना आदि शामिल हैं।
  • भारत में प्रासंगिक कानून:
  • मानव तस्करी से निपटने के भारत के प्रयास:
    • जुलाई 2021 में महिला और बाल विकास मंत्रालय ने मानव तस्करी विरोधी विधेयक, व्यक्तियों की तस्करी (रोकथाम, देखभाल और पुनर्वास) विधेयक, 2021 का मसौदा जारी किया।
    • भारत ने अंतर्राष्ट्रीय संगठित अपराध (पलेर्मो कन्वेंशन) पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन की पुष्टि की है, जिसमें अन्य लोगों के बीच विशेष रूप से महिलाओं और बच्चों की तस्करी को रोकने और दंडित करने के लिये एक प्रोटोकॉल है।
    • भारत ने वेश्यावृत्ति के लिये महिलाओं और बच्चों की तस्करी को रोकने और उनका मुकाबला करने हेतु सार्क अभिसमय की पुष्टि की है।
    • मानव तस्करी के अपराध से निपटने के लिये राज्य सरकारों द्वारा विभिन्न निर्णयों को संप्रेषित करने और अनुवर्ती कार्रवाई हेतु गृह मंत्रालय (MHA) में वर्ष 2006 में एंटी-ट्रैफिकिंग नोडल सेल/प्रकोष्ठ की स्थापना की गई थी।
    • न्यायिक संगोष्ठी: निचली अदालत के न्यायिक अधिकारियों को प्रशिक्षित और संवेदनशील बनाने के लिये मानव तस्करी पर न्यायिक संगोष्ठी उच्च न्यायालय स्तर पर आयोजित की जाती है।
    • "स्वाधार गृह योजना", "सखी", "महिला हेल्पलाइन का सार्वभौमिकरण" जैसी विभिन्न पहलें हिंसा से प्रभावित महिलाओं की चिंताओं को दूर करने के लिये सहायक संस्थागत ढाँचे और तंत्र प्रदान करती हैं।

UPSC सिविल सेवा परीक्षा विगत वर्ष के प्रश्न:

प्रश्न. संसार के दो सबसे बड़े अवैध अफीम उत्पादक राज्यों से भारत की निकटता ने भारत की आंतरिक सुरक्षा चिंताओं को बढ़ा दिया है। नशीली दवाओं के अवैध व्यापार एवं बंदूक बेचने, मनी लॉन्ड्रिंग और मानव तस्करी जैसी अवैध गतिविधियों के बीच कड़ियों को स्पष्ट कीजिये। इन गतिविधियों क रोकने के लिये क्या-क्या प्रतिरोधी उपाय किये जाने चाहिये? (मेन्स-2018)

स्रोत: द हिंदू


प्रारंभिक परीक्षा

वोस्तोक अभ्यास 2022

हाल ही में भारत चीन के साथ रूस में एक बहुपक्षीय रणनीतिक और कमान अभ्यास वोस्तोक- 2022 में शामिल हुआ।

Vostok-Exercise

वोस्तोक अभ्यास

  • इसमें कई पूर्व सोवियत देशों, चीन, भारत, लाओस, मंगोलिया, निकारागुआ और सीरिया के सैनिक शामिल होंगे।
  • भारतीय सेना का प्रतिनिधित्त्व 7/8 गोरखा राइफल्स के सैनिकों की टुकड़ी द्वारा किया गया था।
  • इसका उद्देश्य अन्य भाग लेने वाले सैन्य दल और पर्यवेक्षकों के बीच संपर्क तथा समन्वय स्थापित करना है।
  • वोस्तोक 2022 अभ्यास रूस के सुदूर पूर्व और जापान सागर में सेवन फायरिंग रेंज में आयोजित किया जाएगा और इसमें 50,000 से अधिक सैनिक तथा 5,000 से अधिक हथियार इकाइयांँ शामिल होंगी, जिसमें 140 विमान और 60 युद्धपोत शामिल हैं।
  • भारतीय सेना की टुकड़ी व्यावहारिक पहलुओं को साझा करने और अभ्यास प्रक्रियाओं को व्यवहार में लाने और सामरिक अभ्यासों के माध्यम से नई तकनीक के अभ्यास समामेलन के लिये तत्पर है।

चीन और रूस के साथ भारत के अभ्यास

  • चीन:
    • अभ्यास हैंड-इन-हैंड:
      • अभ्यास का उद्देश्य अर्ध शहरी इलाकों में संयुक्त योजना और आतंकवाद विरोधी अभियानों का संचालन करना है।
  • रूस:
    • अभ्यास इंद्रा:
      • यह अभ्यास HIV आतंकी समूहों के खिलाफ एक संयुक्त बल द्वारा संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत आतंकवाद विरोधी अभियानों का संचालन करेगा।
      • इंद्र अभ्यास शृंखला वर्ष 2003 में शुरू हुई और दोनों देशों के बीच बारी-बारी से एक द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास के रूप में आयोजित की गई।
      • हालाँकि, पहला संयुक्त त्रि-सेवा अभ्यास 2017 में आयोजित किया गया था।
    • अभ्यास TSENTR:
      • अभ्यास TSENTR, बड़े पैमाने पर अभ्यास की वार्षिक शृंखला और रूसी सशस्त्र बलों के वार्षिक प्रशिक्षण चक्र का हिस्सा है।
    • अभ्यास ZAPAD 2021:
      • यह एक बहुराष्ट्रीय अभ्यास है जिसमें भारत, चीन, रूस और पाकिस्तान सहित 17 देश इसका हिस्सा हैं।
        • यह मुख्य रूप से आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन पर केंद्रित है।

स्रोत: द हिंदू


विविध

Rapid Fire (करेंट अफेयर्स): 02-सितंबर, 2022

‘सीएपीएफ ई-आवास (CAPF eAwas) पोर्टल 

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने 1 सितंबर, 2022 को नई दिल्ली में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (Central Armed Police Force- CAPF) ई-आवास वेब पोर्टल का शुभारंभ किया।  गृह मंत्रालय (MoHA) के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत भारत में सात CAPFs हैं। केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force-CRPF), यह आंतरिक सुरक्षा और उग्रवाद से निपटने में सहायता करता है। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force-CISF), यह महत्त्वपूर्ण प्रतिष्ठानों (जैसे हवाई अड्डों) और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की सुरक्षा करता है। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard-NSG), यह एक विशेष आतंकवाद विरोधी बल है। इसके अतिरिक्त शेष चार बल- सीमा सुरक्षा बल (Border Security Force-BSF), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (Indo Tibetan Border Police-ITBP) और सशस्त्र सीमा बल (Sashastra Seema Bal) तथा असम राइफल्स (Assam Rifles) हैं। CAPFs  के अन्य कार्य आपातकालीन प्रतिरोधी अभियान, नक्सल-रोधी अभियान, आंतरिक सुरक्षा कार्य, वीआईपी सुरक्षा, इंटेलिजेंस एजेंसी, विदेश में राजनयिक मिशनों की सुरक्षा, संयुक्त राष्ट्र (UN) शांति अभियान, आपदा प्रबंधन, संयुक्त राष्ट्र पुलिस मिशनों के लिये नागरिक कार्रवाई नोडल एजेंसी के रूप में कार्य करना आदि हैं।

असम में राष्ट्रीय पोषण माह 

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने 01 सितंबर, 2022 को गुवाहाटी में श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में पोषण अभियान के अंतर्गत राष्ट्रीय पोषण माह 2022 का शुभारंभ किया। इसके अंतर्गत देश को कुपोषण से मुक्त करने के लिये असम सरकार राज्य में कुपोषण और एनीमिया के उन्मूलन हेतु कई कार्यक्रम लागू कर रही है। राज्‍य में पोषण अभियान के कार्यान्वयन की निगरानी के लिये राज्य परियोजना प्रबंधन इकाई गठित की गई है। इस इकाई ने एकीकृत बाल विकास योजना (ICDS) के अंतर्गत छह सेवाओं की निगरानी की, जिसमें गर्भवती महिलाओं और किशोरियों में एनीमिया, कम वजन और बच्चों में कुपोषण को दूर करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आँगनबाड़ी केंद्रों के स्तर पर ICDS सेवाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये पूरे असम में 'पोषण ट्रैकर' नाम का मोबाइल एप्लीकेशन जारी किया गया है। इस ऐप के माध्यम से कई ICDS सेवाओं की निगरानी की जाएगी। इस वर्ष पोषण माह के दौरान पूरे राज्य में 'पोषण पंचायत' नामक अभियान चलाया जाएगा। इसका उद्देश्य विभिन्न पौष्टिक खाद्य पदार्थों, एनीमिया से बचाव के तरीकों, मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता बनाए रखना, जो गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान महिलाओं के लिये बहुत महत्त्वपूर्ण हैं, के बारे में जागरूकता का विस्तार करना है।

युद्धाभ्यास वोस्तोक-2022 

बहुस्तरीय सामरिक और कमान युद्धाभ्यास वोस्तोक-2022, 01 सितम्बर, 2022 को रूस के पूर्वी सैन्य डिस्ट्रिक्ट के प्रशिक्षण संस्थान में शुरू हुआ। यह युद्धाभ्यास 01-07 सितंबर, 2022 तक चलेगा। इसका उद्देश्य दोनों प्रतिभागी सैन्य दलों तथा पर्यवेक्षकों के बीच आदान-प्रदान और समन्वय स्थापित करना है। भारतीय सैन्य दल में 7/8 गोरखा राइफल्स के सैनिक शामिल हैं। भारतीय दल अभ्यास-स्थल पर अगले सात दिनों से अधिक समय तक संयुक्त अभ्यास करेगा। इस अभ्यास में संयुक्त मैदानी प्रशिक्षण अभ्यास, मुठभेड़ की प्रक्रिया पर चर्चा और हथियार चलाने का अभ्यास शामिल है। भारतीय सैन्य दल व्यावहारिक पक्षों को साझा करेगा तथा सैन्य, प्रक्रियाओं और व्यवहारों का अभ्यास करेगा, जिनमें नई प्रौद्योगिकियों को सम्मिलित किया गया है। ये सारी गतिविधियांँ चर्चाओं और सामरिक अभ्यासों के जरिये पूरी की जायेंगी। यह सामरिक गतिविधि 50 हज़ार सैनिकों, युद्ध से जुड़े पाँच हज़ार साजो-सामान व सैन्य उपकरण, 140 विमान, 60 युद्धपोत तथा अन्य जहाजों के साथ होगी। इस सैन्य अभ्यास में भारत के अलावा चीन, लाओस, मंगोलिया, निकारागुआ, सीरिया और पूर्व सोवियत संघ के कई देश हिस्सा ले रहे हैं।


एसएमएस अलर्ट
Share Page