हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

छत्तीसगढ स्टेट पी.सी.एस.

  • 27 Jan 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
छत्तीसगढ़ Switch to English

गणतंत्र दिवस पर मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को दी कई नई सौगातें

चर्चा में क्यों? 

26 जनवरी, 2022 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर बस्तर ज़िला मुख्यालय जगदलपुर में ध्वजारोहण के बाद प्रदेशवासियों के नाम अपने संदेश के दौरान कई नई घोषणाएँ कीं।

प्रमुख बिंदु 

  • मुख्यमंत्री द्वारा की गई महत्त्वपूर्ण घोषणाएँ हैं-
  • अनियमित भवन निर्माण के नियमितीकरण के लिये इसी वर्ष एक व्यावहारिक, सरल एवं पारदर्शी कानून बनाने की घोषणा। 
  • रिहायशी क्षेत्रों में संचालित व्यावसायिक गतिविधियों के नियमितीकरण के लिये भी आवश्यक प्रावधान किये जाने की घोषणा।
  • प्रदेश में नगर निगम से बाहर के ऐसे क्षेत्र, जो निवेश क्षेत्र में शामिल हैं, वहाँ 500 वर्गमीटर तक का भवन विन्यास बिना किसी मानवीय हस्तक्षेप के तय समय-सीमा में जारी किये जाने की घोषणा। 
  • नगरीय-निकायों में नल कनेक्शन प्राप्त करने की प्रक्रिया को ‘डायरेक्ट भवन अनुज्ञा’ की तर्ज पर मानवीय हस्तक्षेप मुक्त बना कर समय-सीमा में नल कनेक्शन दिये जाने की घोषणा। 
  • ग्रामीण क्षेत्रों में भी शासकीय पट्टे की भूमियों को फ्री होल्ड किये जाने की घोषणा। राज्य सरकार ने शहरी क्षेत्रों में आबादी, नजूल एवं स्लम पर स्थित पट्टों को फ्री होल्ड करने का निर्णय लिया था, अब इसे ग्रामीण क्षेत्रों में भी लागू किया जाएगा।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिये औद्योगिक नीति में संशोधन कर इस प्रवर्ग हेतु दस प्रतिशत भू-खंड आरक्षित किये जाने की घोषणा। यह भू-खंड भू-प्रीमियम दर के दस प्रतिशत दर तथा एक प्रतिशत भू-भाटक पर उपलब्ध कराया जाएगा। 
  • ‘मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना’की सफलता को देखते हुए इसका विस्तार प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में किये जाने की घोषणा। 
  • युवाओं की सहूलियत के लिये लर्निंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया का सरलीकरण किये जाने की घोषणा। इसके लिये बृहद् स्तर पर ‘परिवहन सुविधा केंद्र’प्रारंभ किये जाएंगे। इन केंद्रों को न केवल लर्निंग लाइसेंस बनाने हेतु अधिकृत किया जाएगा, अपितु इन केंद्रों में परिवहन विभाग से संबंधित समस्त सेवाएँ नागरिकों को अपने निवास के पास मिल सकेंगी एवं प्रदेश के युवाओं को रोज़गार का अवसर मिलेगा।
  • शासकीय कर्मचारियों के अंशदायी पेंशन योजना के अंतर्गत राज्य सरकार का अंशदान 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 14 प्रतिशत किये जाने की घोषणा। 
  • शासकीय कर्मचारियों की कार्य क्षमता और उत्पादकता बढ़ाने के लिये 5 कार्य दिवस प्रति सप्ताह प्रणाली पर कार्य करने की घोषणा। 
  • महिलाओं की सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्धता दोहराते हुए हर ज़िले में ‘महिला सुरक्षा प्रकोष्ठ’ के गठन की घोषणा। 
  • तीरंदाज़ी को प्रोत्साहित करने के लिये जगदलपुर में ‘शहीद गुंडाधूर’के नाम पर राज्यस्तरीय तीरंदाज़ी अकादमी प्रारंभ करने की घोषणा।
  • वृक्ष कटाई के नियमों की जटिलता एवं इसके कारण वृक्षारोपण में नागरिकों की अरुचि को देखते हुए नागरिकों के हित में इससे जुड़े कानून के सरलीकरण की घोषणा की। इसके लिये सभी प्रासंगिक अधिनियमों और नियमों में आवश्यक संशोधन किये जाएंगे। 
  • आगामी खरीफ वर्ष 2022-23 से दलहन फसल जैसे- मूंग, उड़द, अरहर इत्यादि की भी खरीदी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किये जाने की घोषणा। 
  • श्रमिक परिवारों की बेटियों की शिक्षा, रोज़गार, स्वरोज़गार तथा विवाह में सहायता के लिये ‘मुख्यमंत्री नोनी सशक्तीकरण सहायता योजना’शुरू किये जाने करने की घोषणा की। इस योजना के तहत ‘छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल’ में पंजीकृत हितग्राहियों की प्रथम दो पुत्रियों के बैंक खाते में 20-20 हज़ार रुपए की राशि का भुगतान एकमुश्त किया जाएगा। 
  • सभी ज़िला मुख्यालयों तथा विकासखंड स्तर पर ‘मुख्यमंत्री श्रमिक संसाधन केंद्र’ और प्रत्येक विकासखंड में आईटीआई खोले जाने की घोषणा की।

छत्तीसगढ़ Switch to English

श्री धन्वंतरि जेनेरिक मेडिकल स्टोर में उपलब्ध दवाओं की मूल्य सूची पुस्तिका का विमोचन

चर्चा में क्यों?

26 जनवरी, 2022 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास कार्यालय में नगर निगम, रायपुर के अंतर्गत संचालित श्री धन्वंतरि जेनेरिक मेडिकल स्टोर की दवाई रेट लिस्ट एवं मेडिकल आइटम सूची का विमोचन किया।

प्रमुख बिंदु 

  • श्री धन्वंतरि जेनेरिक मेडिकल स्टोर की बुकलेट में रायपुर नगर निगम क्षेत्र में संचालित सभी जेनेरिक मेडिकल दुकानों के पूरे पते सहित किस बीमारी के इलाज के लिये कौन-सी दवाई व सामान उपलब्ध होगा, इस संबंध में आसान भाषा में जानकारी दी गई है। 
  • बीमारी से संबंधित दवाई का प्रकार, दवाई का नाम, एमआरपी मूल्य और छूट देने के बाद दवा की कीमत को चार्ट के माध्यम से बुकलेट में प्रदर्शित किया गया है। साथ ही गूगल मैप के द्वारा श्री धन्वंतरि जेनेरिक मेडिकल स्टोर का पता खोजने और मेडिकल स्टोर हेल्पलाइन संबंधित जानकारी के साथ ही जिन फार्मा कंपनियों की दवाई और मेडिकल सामान यहाँ उपलब्ध रहेंगे, उनके नाम भी सूचीबद्ध किये गए हैं। 
  • उल्लेखनीय है कि लोगों को सस्ती दरों में दवाई उपलब्ध कराने के लिये छत्तीसगढ़ सरकार ने रायपुर समेत प्रदेश के कई स्थानों में श्री धन्वंतरि जेनेरिक मेडिकल स्टोर की शुरुआत की है। 
  • नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा संचालित श्री धन्वंतरि जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना में 251 प्रकार की जेनेरिक दवाइयाँ तथा 27 सर्जिकल उत्पाद की बिक्री अनिवार्य रखी गई है। इसके अलावा वन विभाग के संजीवनी के उत्पाद, सौंदर्य प्रसाधन उत्पाद और शिशु आहार आदि के विक्रय का भी प्रावधान है।

छत्तीसगढ़ Switch to English

राज्यपाल ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों और बहादुर बच्चों को किया सम्मानित

चर्चा में क्यों? 

26 जनवरी, 2022 को राज्यपाल अनुसुईया उइके ने पुलिस परेड ग्राउंड में 73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित मुख्य समारोह में उत्कृष्ट कार्य करने वाले राज्य के पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को पदक अलंकरण से सम्मानित किया।

प्रमुख बिंदु 

  • इसके अलावा राज्यपाल ने राज्य वीरता पुरस्कार से कोरबा के मास्टर अमन ज्योति जाहिरे एवं धमतरी ज़िले के मास्टर शौर्य प्रताप चंद्राकर को सम्मानित किया।
  • राज्यपाल ने 21 पुलिस अधिकारियों को पुलिस वीरता पदक से सम्मानित किया। इनमें कमलोचन कश्यप (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, बीजापुर), सुरेश लकड़ा (उप पुलिस अधीक्षक, रायगढ़), संजय पोटाम (उप निरीक्षक, दंतेवाड़ा), लक्ष्मण केंवट (निरीक्षक, राजनांदगांव), ओंकार सिंह दीवान (उप निरीक्षक, कोण्डागांव), बीजाराम तामो (प्रधान आरक्षक, बीजापुर), उमा शंकर राठौर (निरीक्षक, रायपुर), चेतन लाल बेलेन्द्र (प्रधान आरक्षक एसटीएफ बघेरा, दुर्ग) तथा मानिक लाल कोरेटी (प्रधान आरक्षक, सुकमा) शामिल हैं।
  • इसी प्रकार मोहन लाल निषाद (निरीक्षक, बीजापुर), बृज लाल भारद्वाज (निरीक्षक बिलासपुर), कमलेश कुमार रात्रे (सहायक प्लाटून कमांडर एटीएफ बघेरा, दुर्ग), सोमारू राम यादव (आरक्षक, सुकमा), आशीष सिंह राजपूत (उप निरीक्षक, बलौदाबाजार), इंद्र कुमार शिवानी (कंपनी कमांडर एसटीएफ बघेरा, दुर्ग), विन्टन कुमार साहू (निरीक्षक, बलौदाबाज़ार), अश्वनी राठौर (उप निरीक्षक रायपुर), जीतेंद्र कुमार डहरिया (उप निरीक्षक, राजनांदगांव), दिनेश पुरेना (उप निरीक्षक, राजनांदगांव), विरासत कुजूर (उप निरीक्षक, बीजापुर), शहीद मुरली ताती (सहायक उप निरीक्षक, बस्तर) को भी पुलिस वीरता पदक से सम्मानित किया गया।
  • राज्यपाल ने विशिष्ट सेवा हेतु राष्ट्रपति के पुलिस पदक से उदयभान सिंह चौहान (अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, सीआईडी पुलिस मुख्यालय रायपुर) को सम्मानित किया। 
  • राज्यपाल ने 10 पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सराहनीय सेवा हेतु भारतीय पुलिस पदक से सम्मानित किया। इनमें यदुराम तिर्की (उप पुलिस अधीक्षक एसटीएफ, बघेरा दुर्ग), मनीष परमानंद (उप पुलिस अधीक्षक, सरगुजा), श्रीराम वर्मा (सहायक सेनानी, बीजापुर), डिलेश्वर प्रसाद साहू (उप निरीक्षक, रायगढ़), अवधेश कुमार चौहान (उप निरीक्षक, कांकेर), प्रेमसाय भगत सहायक (उप निरीक्षक, रायगढ़), दृगपाल प्रसाद तिवारी (प्रधान आरक्षक दुर्ग), प्रहलाद सिंह गागड़ा (प्रधान आरक्षक, जगदलपुर), मदनमोहन पटेल (प्रधान आरक्षक, सकरी बिलासपुर), अवकाश राम नरेटी (प्रधान आरक्षक, कांकेर) शामिल हैं।
  • राज्यपाल ने 6 पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारियों को गृह रक्षक व नागरिक सुरक्षा पदक से सम्मानित किया। इनमें सुरेश प्रसाद गौतम (चीफ इंस्ट्रक्टर, नगर सेना रायपुर), मोती लाल साहू (सब इंस्पेक्टर, नगर सेना रायपुर), भोगेंद्र गोग (हवलदार, नगर सेना, दंतेवाड़ा), जोधन लाल साहू (हवलदार, नगर सेना, बलौदाबाज़ार), रेणु लोखेण्डे (लांस नायक, नगर सेना, रायपुर), सुरेंद्र देवांगन (सैनिक, नगर सेना, राजनांदगांव) शामिल हैं। 
  • राज्यपाल ने 7 पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारियों को यूनियन होम मिनिस्टर मेडल से सम्मानित किया। इनमें श्रीरोद्र कुमार साहू (उप निरीक्षक पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय माना रायपुर), गंगा धुर्वे (निरीक्षक, पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय माना रायपुर), कन्हैया लाल यादव (प्रधान आरक्षक, 11 सीटीजेडब्ल्यू कॉलेज कांकेर), गंगा प्रसाद यादव (प्रधान आरक्षक, क्र.149 राज्य पुलिस अकादमी चंदखुरी), कन्हैया लाल यादव (प्रधान आरक्षक, 6 सीटीजेडब्ल्यू कॉलेज कांकेर), जीत कुमार देवांगन (सूबेदार, राज्य पुलिस अकादमी चंदखुरी रायपुर), कमलेश कुमार सोनबोईर (उप निरीक्षक, पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय राजनांदगांव) शामिल हैं। 
  • इसके अलावा राज्यपाल ने दो जेल प्रहरियों को सराहनीय सुधार सेवा पदक से सम्मानित किया। इनमें संतराम पुरेना (ज़िला जेल बेमेतरा) तथा लेखराम धुरंधर (केंद्रीय जेल रायपुर) शामिल हैं।

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page