हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

हरियाणा स्टेट पी.सी.एस.

  • 05 Aug 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
हरियाणा Switch to English

हरियाणा और उज़्बेकिस्तान ने एफएफसी पर किये हस्ताक्षर

चर्चा में क्यों?

4 अगस्त, 2022 को हरियाणा भवन, नई दिल्ली में हरियाणा और उज़्बेकिस्तान ने परस्पर सहयोग एवं द्विपक्षीय संबंधों को मज़बूत करने के उद्देश्य से फ्रेमवर्क फॉर कोलैबोरेशन (एफएफसी) पर हस्ताक्षर किये।

प्रमुख बिंदु 

  • हरियाणा सरकार की ओर से एफएफसी पर विदेश सहयोग विभाग के प्रधान सचिव योगेंद्र चौधरी तथा उज़्बेकिस्तान गणराज्य के फरगना क्षेत्र के उप-राज्यपाल इकबोलजोन एर्गाशेव द्वारा हस्ताक्षर किये गए।
  • यह एफएफसी ऑटोमोबाइल, फार्मास्यूटिकल्स, व्यापार, विज्ञान, शिक्षा, पर्यटन, संस्कृति, ऐतिहासिक स्मारकों के संरक्षण और अनुसंधान, कौशल विकास तथा व्यावसायिक शिक्षा के क्षेत्र में सामूहिक प्रयासों के माध्यम से फरगना और हरियाणा के मध्य परस्पर सहयोग बनाने में मदद करेगा।
  • इस अवसर पर योगेंद्र चौधरी ने कहा कि हरियाणा को ऑटोमोबाइल, शिक्षा, कौशल विकास, व्यापार और निवेश जैसे क्षेत्रों में एक प्रमुख और अग्रणी राज्य बनाने के लिये मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के विज़न को साकार करने और लागू करने में फ्रेमवर्क फॉर कोलैबोरेशन एक महत्त्वपूर्ण कदम है। इसके अलावा, यह आर्थिक और सामाजिक-आर्थिक विकास के लिये दोनों क्षेत्रों के बीच एक्सचेंज कार्यक्रमों को सुगम बनाने में भी सहायक सिद्ध होगा।
  • गौरतलब है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने वैश्विक स्तर पर हरियाणा की पहचान बनाने और निवेशकों के लिये हरियाणा को पसंदीदा गंतव्य के रूप में स्थापित करने के दृष्टिगत विदेश सहयोग विभाग का गठन किया है। विदेश सहयोग विभाग अपने ‘गो-ग्लोबल एप्रोच’ के माध्यम से विदेशों के साथ विभिन्न स्तरों पर परस्पर समझ और सहयोग स्थापित कर सामाजिक-आर्थिक विकास के लिये निरंतर कार्य कर रहा है।

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page