हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • प्रश्न :

    अंतरात्मा क्या है? अंतरात्मा पर बटलर के दृष्टिकोण की चर्चा कीजिये। (150 शब्द)

    27 Oct, 2022 सामान्य अध्ययन पेपर 4 सैद्धांतिक प्रश्न

    उत्तर :

    हल करने का दृष्टिकोण:

    • अंतरात्मा के बारे में संक्षेप में बताते हुए उत्तर की शुरूआत कीजिये।
    • अंतरात्मा पर बटलर के विचारों की चर्चा कीजिये।
    • अंतरात्मा पर बटलर के विचारों की आलोचना के बारे में लिखिये।
    • उचित निष्कर्ष लिखिये।

    पृष्ठभूमि

    • अंतरात्मा को दो चीज़ों के रूप में परिभाषित किया जा सकता है - एक व्यक्ति जो मानता है कि वह सही है और दूसरा व्यक्ति कैसे तय करता है कि क्या सही है। केवल आंतरिक वृत्ति से अधिक, हमारी अंतरात्मा हमारा नैतिक बल होता है।
    • हमें अपने मूल्यों और सिद्धांतों के बारे में ज्ञात होता है तो यह वह मानक बन जाता है जिसका उपयोग हम यह निर्धारित करने के लिए करते हैं कि हमारे कार्य नैतिक हैं या नहीं। लेकिन अन्य समाज वैज्ञानिक अवधारणाओं के विपरीत, अंतरात्मा को संचालित नहीं किया जा सकता --- इसे खोजने का कोई तरीका नहीं है या यह जानने का कोई तरीका नहीं है कि यह वास्तविक व्यवहारगत रूप में कैसे काम करता है।
    • उदाहरण के लिए, सामाजिक विज्ञान अनुसंधान के तरीकों का उपयोग करके दृष्टिकोण का अध्ययन किया जा सकता है। लेकिन इस तरह व्यवस्थित रूप में अंतरात्मा का अध्ययन नहीं किया जा सकता।

    प्रारूप

    • अंतरात्मा पर जोसेफ बटलर का विचार:
      • अंतरात्मा के विषय पर जोसेफ बटलर सबसे प्रमुख लेखक हैं। बटलर के अनुसार, अंतरात्मा ईश्वर प्रदत्त तर्क करने की क्षमता है, जो अधिकार सहित किसी भी मनुष्य का 'प्राकृतिक मार्गदर्शक' है। यह मानवीय कार्यों के लिए अंतिम चुनाव होना चाहिए।
      • अंतरात्मा एक चिंतनशील सिद्धांत है: यह किसी भी पक्ष को नैतिक रूप से विश्लेषित करने में सहायता करता है कि हमने क्या किया और हम क्या करना चाहते हैं। सभी सामान्य मनुष्यों में सही और गलत का पहचान करने की क्षमता होती है। बटलर के अनुसार, यह मानवीय तर्क या भावनाओं का एक पहलू है।
      • व्यक्ति की नैतिक अंतर्दृष्टि के रूप में अंतरात्मा: अंतरात्मा व्यक्ति की नैतिक अंतर्दृष्टि की स्वायत्तता से निकटता से जुड़ा हुआ है। यह नैतिक रूप से सही और गलत की हमारी आंतरिक भावना का प्रतीक है, न कि नैतिक कानून, कर्तव्य, दायित्व या गुण जैसे बाह्य विचारों का। यह सज़ा का भय या पुरस्कार की आशा से बिलकुल अप्रभावित रहता है।
      • एक श्रेष्ठ सिद्धांत के रूप में अंतरात्मा: अंतरात्मा एक प्रमुख सिद्धांत है जो विशेष भावनात्मक अभिवृत्ति को नियंत्रित करता है। मानवीय चरित्र के कई पहलु होते हैं और ये पदानुक्रम रूप से व्यवस्थित रहते हैं। मानव स्वभाव का वह भाग, जो इस पदानुक्रम में सबसे उच्च पायदान पर है, वह अंतरात्मा है।
        • कार्यस्थल पर मानव स्वभाव दो सिद्धांतों के आधार पर कार्य करता हैं:
          • स्व-प्रेम अर्थात् स्वयं के सुख की कामना है।
          • परोपकार अर्थात् अन्य लोगों में सुख की कामना या आशा।
          • अंतरात्मा इन दो सिद्धांतों के आधार पर ही निर्णय करती है।
        • यह मानव स्वभाव का एक आंतरिक हिस्सा है। यह अंतर्ज्ञान से लिया गया मार्गदर्शन है। यह ईश्वर का उपहार है और इसलिए इसका मार्गदर्शन कोई विकल्प नहीं है। सभी नैतिक निर्णयों में इसका सार्वभौमिक अधिकार है।
    • बटलर के दृष्टिकोण की आलोचना:
      • बटलर के विचारों पर कई आपत्तियां आई हैं और इनमें से कुछ आलोचनाएँ अनिवार्य रूप से अंतरात्मा की अवधारणा के विरुद्ध हैं जैसे:
        • अंतरात्मा वास्तव में न तो स्वतंत्र और न ही विशिष्ट नैतिक सिद्धांत है। ऐसा मान लिया जाता है कि अंतरात्मा का पालन करना उचित है। तब "अंतरात्मा द्वारा निर्धारित नियम" या तो अपने आप में उचित हैं या वे "मनमाने अधिकार के आदेश" हैं। यदि ऐसा है तो कोई मनमाने अधिकार को कैसे सही ठहरा सकता है। लेकिन अंतरात्मा के लिये किसी स्वतंत्र नैतिक अधिकार की आवश्यकता नहीं है। अंतरात्मा कारण का दूसरा नाम बन जाता है।
        • इसके अलावा, नैतिकता के आधार पर अंतरात्मा की सर्वोच्चता के लिए कोई स्पष्ट औचित्य नहीं है। अंतर्ज्ञान अचूक नहीं है - बाह्य वस्तुनिष्ठ नैतिक मानदंडों की अपील के बिना अंतरात्मा का निर्णय गलत तरीके से प्रेषित भी हो सकता है या गलत भी हो सकता है। इसलिए बटलर के विचार नैतिक अराजकता का कारण बन सकती है।

    निष्कर्ष

    सहज ज्ञान युक्त अंतरात्मा की अपील स्व-प्रमाणित होती है। यह केवल व्यक्तिगत स्तर तक सीमित होती है। हालाँकि, इसका खंडन इस तथ्य के मार्फ़त संभव है कि मनुष्य परोपकारी हैं और अनैतिक कार्यों के समर्थन में अंतरात्मा का उपयोग नहीं करेंगे।

    To get PDF version, Please click on "Print PDF" button.

    Print
एसएमएस अलर्ट
Share Page