हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

राजस्थान स्टेट पी.सी.एस.

  • 26 Nov 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
राजस्थान Switch to English

‘डॉ. अंबेडकर उत्सव धाम योजना’ के अंतर्गत राजस्थान के 568 गाँवों में सामुदायिक भवनों का निर्माण

चर्चा में क्यों?

25 नवंबर, 2022 को राजस्थान के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने बताया कि ‘डॉ. अंबेडकर उत्सव धाम योजना’ के तहत प्रदेश के 568 गाँवों में सामुदायिक भवनों का निर्माण किया जाएगा, जिनके रख-रखाव की जिम्मेदारी ग्राम पंचायत की होगी।

प्रमुख बिंदु 

  • मंत्री टीकाराम जूली ने बताया कि यह योजना केवल ‘प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना’ में चयनित गाँवों पर ही लागू की गई है। सामुदायिक हॉल अथवा भवन बनाने के लिये पायलट फेज में प्रदेश के 568 गाँवों का चयन किया गया है।
  • उन्होंने बताया कि सबसे अधिक 103 गाँव श्रीगंगानगर ज़िले में चयनित किये गए हैं। इसके बाद भरतपुर 68, अलवर 47, बाड़मेर 33, जोधपुर व दौसा 31-31 सहित प्रदेश के 32 ज़िलों के चयनित गाँवों में सामुदायिक हॉल/भवन बनेंगे।
  • प्रत्येक गाँव में 25-25 लाख रुपए की लागत के सामुदायिक हॉल, भवनों का निर्माण होगा। यह योजना सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के उपक्रम राष्ट्रीय अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम द्वारा संचालित की जा रही है।

राजस्थान Switch to English

जेम बॉर्स की स्थापना हेतु बैठक का आयोजन

चर्चा में क्यों?

25 नवंबर, 2022 को राजस्थान के जयपुर में जेम बॉर्स की स्थापना के लिये राजस्थान लघु उद्योग निगम के अध्यक्ष राजीव अरोड़ा की अध्यक्षता में एक अहम बैठक आयोजित की गई।

प्रमुख बिंदु 

  • इस बैठक में जेम्स एंड ज्वैलरी एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने राजीव अरोड़ा से आग्रह किया कि जौहरी बाजार में स्थित जेम्स एंड ज्वैलरी व्यापार को व्यापक रूप देने के लिये सीतापुरा में जेम बॉर्स स्थापना की जाए।
  • इसके लिये 15 लाख स्क्वायर मीटर का स्थान रियायती दरों पर आवंटन किया जाए, जिससे जैम्स एंड ज्वैलरी के समस्त छोटे-छोटे व्यापारियों को समुचित स्थान उपलब्ध हो सके और राजस्थान के निर्यात को बढ़ावा मिल सके।
  • जेम बॉर्स की स्थापना से जयपुर से निर्यात को समुचित बढ़ावा मिलेगा एवं युवाओं को रोज़गार के नये अवसर मिलेंगे।

राजस्थान Switch to English

डेफ ओलंपिक पदक विजेताओं को मिलेगी 7 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि

चर्चा में क्यों?

25 नवंबर, 2022 को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डेफ ओलंपिक, 2022 में पदक जीतने वाले राज्य के तीन खिलाड़ियों को कुल 7 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि दिये जाने के प्रस्ताव का अनुमोदन किया।

प्रमुख बिंदु

  • इस प्रस्ताव के अनुसार, डेफ ओलंपिक 2022 में डेफ बैडमिंटन में स्वर्ण पदक विजेता अभिनव शर्मा एवं गौरांशी शर्मा को 3-3 करोड़ रुपए दिये जाएंगे। इसके अलावा डेफ राइफल शूटिंग में काँस्य पदक विजेता वेदिका शर्मा को 1 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी।
  • विदित है की राज्य सरकार द्वारा खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिये अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण, रजत एवं काँस्य पदक विजेताओं को क्रमश: तीन करोड़, दो करोड़ तथा एक करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि दी जाती है।
  • उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा राजस्थान क्रीड़ा सहायता अनुदान नियम-2022 में शिथिलन प्रदान करते हुए तीनों खिलाड़ियों को यह पुरस्कार राशि दी जाएगी। इस स्वीकृति से खिलाड़ियों को आर्थिक संबल के साथ-साथ प्रदेश के सभी खिलाड़ियों को उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिये प्रेरणा मिलेगी।

राजस्थान Switch to English

राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम में सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिये ऑनलाइन पेंशन पोर्टल

चर्चा में क्यों?

24 नवंबर, 2022 को राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक आर.के.शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार की डिजिटलाइजेशन मुहिम के अंतर्गत राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम द्वारा सेवानिवृत्त कर्मचारियों हेतु ऑनलाइन पेंशन पोर्टल की सुविधा शुरू कर दी गई है।

प्रमुख बिंदु

  • आर.के.शर्मा ने बताया कि निगम के सेवानिवृत्त कर्मचारियों द्वारा पेंशन का विवरण देखने एवं पेंशन स्लिप डाउनलोड करने हेतु डिजिटल सुविधा की मांग की जा रही थी ताकि उन्हें इन कार्यों हेतु कार्यालय न आना पड़े।
  • वरिष्ठ नागरिकों को पेंशन के विवरण त्वरित उपलब्ध कराने के मद्देनज़र विद्युत उत्पादन निगम के आई टी विभाग को निर्देशित किया गया है।
  • आई टी विभाग ने उत्पादन निगम की वेबसाइट पर पेंशन डिटेल्स के नाम से सुविधा शुरू की है। इससे पेंशनर्स वित्त वर्ष में अपनी पेंशन का विवरण देख सकते हैं तथा पेंशन स्लिप डाउनलोड कर सकते हैं।
  • पेंशन विवरण देखने या डाउनलोड करने में समस्या होने पर आई टी विभाग द्वारा हेल्पलाइन नंबर भी दिया गया है ताकि समस्या का तुरंत निराकरण किया जा सके।   

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page