हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मध्य प्रदेश स्टेट पी.सी.एस.

  • 25 Jun 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
मध्य प्रदेश Switch to English

मध्य प्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी की दूसरी टेस्टिंग लेब को मिला एनएबीएल सर्टिफिकेट

चर्चा में क्यों?

24 जून, 2022 को मध्य प्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (मप्रपक्षेविविकं) की दूसरी टेस्टिंग लेब को नेशनल एक्रिडिएशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लेबोरेटरीज (एनएबीएल) ने मान्यता प्रदान कर दी है।

प्रमुख बिंदु

  • मप्रपक्षेविविकं की उज्जैन स्थित रीजनल मीटर टेस्टिंग की अत्याधुनिक लेब को एनएबीएल का सर्टिफिकेट मिला है।
  • मप्रपक्षेविविकं इंदौर के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने बताया कि इससे पहले इंदौर पोलोग्राउंड स्थित ट्रांसफार्मर, केबल, कंडक्टर की टेस्टिंग करने वाली लेब को भी पिछले वर्ष एनएबीएल का सर्टिफिकेट मिला था।
  • इंदौर और उज्जैन की दोनों लेब में बिज़ली के महत्त्वपूर्ण उपकरणों की अत्याधुनिक तरीके से टेस्टिंग हो रही है। दोनों ही लेबों को आत्मनिर्भर भारत अभियान में निर्मित किया गया।
  • इसके अलावा इंदौर के पोलोग्राउंड स्थित मीटर टेस्टिंग की अत्याधुनिक लेब को भी एनएबीएल का दर्ज़ा दिलाने की सभी कार्रवाई पूर्ण कर दी गई है। दो सप्ताह में इंदौर के मीटर टेस्टिंग लेब को भी एनएबीएल का सर्टिफिकेट मिलने की पूरी संभावना है।
  • गौरतलब है कि एनएबीएल भारतीय गुणवत्ता परिषद का एक संघटक बोर्ड है, जो उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी), वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के तहत स्थापित एक स्वायत्त निकाय है।
  • एनएबीएल देश की परीक्षण प्रयोगशालाओं को राष्ट्रीय स्तर की मान्यता देने वाली एकमात्र संस्था है।

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page