दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

छत्तीसगढ स्टेट पी.सी.एस.

  • 07 Dec 2023
  • 0 min read
  • Switch Date:  
छत्तीसगढ़ Switch to English

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों की राज्यस्तरीय बाल वैज्ञानिक प्रदर्शनी का होगा आयोजन

चर्चा में क्यों?

6 दिसंबर, 2023 को छत्तीसगढ़ जन संपर्क विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के विद्यार्थियों में वैज्ञानिक अभिरूचि पैदा करने तथा वैज्ञानिक ज्ञान और अनुभव का विस्तार करने के लिये बाल वैज्ञानिक प्रदर्शनी का विद्यालय, ज़िला, संभाग और राज्य स्तर पर आयोजन किया जाएगा।

प्रमुख बिंदु

  • जानकारी के अनुसार एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों से विद्यालय स्तर पर 11 दिसंबर, ज़िला स्तर पर 13 दिसंबर, संभाग स्तर पर 15 दिसंबर और राज्य स्तर पर 22 दिसंबर को बाल वैज्ञानिक प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा।
  • आयुक्त एवं पदेन सचिव छत्तीसगढ़ राज्यस्तरीय आदिम जाति कल्याण, आवासीय एवं आश्रम शैक्षणिक संस्थान समिति शम्मी आबिदी ने राष्ट्रीय बाल वैज्ञानिक प्रदर्शनी के आयोजन के संबंध में सभी ज़िला कलेक्टरों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये है।
  • बाल वैज्ञानिक प्रदर्शनी की थीम ‘साइंस एंड टेक्नोलॉजी फॉर सोसायटी’ है। उप-थीम के विषय हेल्थ, लाइफ स्टाइल फॉर इनवायरमेंट, एग्रीकल्चर, कम्युनिकेशन एंड ट्रांसपोर्ट, कंप्युटेशनल थिंकिंग रखा गया है।
  • प्रत्येक उप-कथानक से तीन मॉडल का चयन कर राष्ट्रीय बाल वैज्ञानिक प्रदर्शनी में भेजा जाएगा। इसके लिये संभाग स्तर पर चयन कर राज्य स्तर पर बस्तर संभाग के 08 विद्यालयों से अधिकतम 15, सरगुजा और बिलासपुर संभाग के 5-5 विद्यालयों से 15-15 मॉडल का चयन किया जाएगा।
    इसी प्रकार प्रत्येक थीम से 2 मॉडल का चयन रायपुर संभाग के 04 विद्यालयों से 10 और दुर्ग संभाग के 3 विद्यालयों से 10 मॉडल चयनित किये जाएंगे।
  • बाल वैज्ञानिक प्रदर्शनी के चयन के लिये विद्यार्थियों की सहभागिता, रचनात्मकता एवं कल्पना के लिये 20 प्रतिशत अंक, मॉडल में मौलिकता, वैज्ञानिक व गणितीय नवाचार के लिये 15 प्रतिशत अंक, वैज्ञानिक विचार, सिद्धांत एवं दृष्टिकोण हेतु 15 प्रतिशत अंक, तकनीक कौशल, कारीगरी एवं शिल्पकौशल के लिये 15 प्रतिशत अंक तथा समाज के उपयोगिता के लिये 15 प्रतिशत अंकनिर्धारित किये गए हैं।
  • आर्थिक (कम लागत) पोर्टेबिलिटी के लिये 10 प्रतिशत अंक और मॉडल के प्रदर्शन एवं प्रस्तुतीकरण पर 10 प्रतिशत अंक निर्धारित किये गए हैं। इसके अतिरिक्त ग्रामीण एवं पिछड़े क्षेत्र के विद्यार्थी के लिये 5 प्रतिशत अतिरिक्त तथा अर्द्ध-शहरी क्षेत्रों के लिये 3 प्रतिशत अंक अतिरिक्त दिया जाएगा।
  • एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के विद्यार्थी जनजातीय क्षेत्रों से आते हैं और वे अपने समाज व कार्यक्षेत्र में विभिन्न प्रकार के ग्रामीण स्तर पर असुविधाओं को देखते और समझते होंगे। उनमें उत्सुकता होती होगी कि वे ग्रामीण क्षेत्र में जनजीवन के कार्यों को किसी तकनीक के माध्यम से हल कर उनके कार्यों को सुगम बनाया जा सकता है। ऐसे कई प्रकार के प्रश्न और उनका समाधान विद्यार्थियों के मन में होता है, जिसे वे कहीं प्रदर्शित नही कर पाते हैं।
  • बाल विज्ञान प्रदर्शनी के आयोजन के द्वारा विद्यार्थी ऐसे जनजीवन के तकलीफों का आसान बनाने के लिये उनके मन में कोई विचार या मॉडल है तो उसे प्रदर्शित कर सकते हैं और इसके माध्यम से वे राष्ट्रीय स्तर पर अपने मौलिक तकनीक ज्ञान के माध्यम से स्थान बना सकते हैं।


 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2