हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मध्य प्रदेश स्टेट पी.सी.एस.

  • 02 Dec 2021
  • 0 min read
  • Switch Date:  
मध्य प्रदेश Switch to English

भू-अधिकार पुस्तिका अब ऑनलाइन प्राप्त होगी

Star marking (1-5) indicates the importance of topic.

चर्चा में क्यों?

1 दिसंबर, 2021 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा भू-अधिकार पुस्तिका प्राप्त करने का सुगम और आसान तरीका बनाने के निर्देशों के अनुपालन में मध्य प्रदेश शासन के राजस्व विभाग ने भू-अधिकार पुस्तिका ऑनलाइन उपलब्ध कराने के संबंध में संशोधित नियम जारी किये हैं। 

प्रमुख बिंदु

  • भू-स्वामी अपनी भू-अधिकार पुस्तिका प्राप्त करने के लिये आईटी सेंटर, एम.पी. ऑनलाइन, लोक सेवा केंद्र, कियोस्क सेंटर और शासन द्वारा प्राधिकृत सेवा प्रदाता के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।
  • ऑनलाइन मिलने वाली भू-अधिकार पुस्तिका सामान्यत: दो पृष्ठों की होगी। इसके लिये शासन द्वारा 45 रुपए शुल्क निर्धारित किया गया है। 
  • किसी विशेष प्रकरण में पुस्तिका यदि अधिक पृष्ठों की है, तो प्रत्येक पृष्ठ के लिये 15 रुपए अतिरिक्त देय होंगे। 
  • पूर्व में प्राप्त की गई भू-अधिकार पुस्तिका यथावत उपयोग में ली जा सकेगी। राजस्व विभाग द्वारा भू-अधिकार पुस्तिका प्रदाय करने के लिये समय-सीमा लोक सेवा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार निर्धारित की गई है। 
  • भूलेख पोर्टल से भू-अधिकार पुस्तिका की डिजिटल हस्ताक्षरित प्रति डाउनलोड कर आवेदक को निर्धारित समय-सीमा में प्रदाय की जाएगी।
  • ऑनलाइन भू-अधिकार पुस्तिका प्राप्त करने के लिये कृषक/आवेदक को अपना आधार कार्ड, फोटो, मोबाइल नंबर, समग्र आईडी, पटवारी हलका और सेक्टर क्रमांक आदि अभिलेख उपलब्ध कराने होंगे। 
  • भू-अधिकार पुस्तिका का आवेदन अमान्य किये जाने अथवा समय-सीमा में निराकरण नहीं होने पर आवेदक को अपील करने का अधिकार होगा। 
  • आवेदक प्रथम अपील 30 दिवस और द्वितीय अपील 60 दिवस में प्रस्तुत कर सकेगा। दोनों ही अपील निराकरण करने की समय-सीमा 15 दिवस निर्धारित की गई है।

मध्य प्रदेश Switch to English

तीसरी राष्ट्रीय मास्टर्स चैंपियनशिप में श्वेता नेमा ने जीते एक साथ चार पदक

Star marking (1-5) indicates the importance of topic.

चर्चा में क्यों?

27-30 नवंबर तक वाराणसी स्थित डॉ. संपूर्णानांद संस्कृत विश्वविद्यालय के खेल स्टेडियम में एथलेटिक्स एसोसिएशन द्वारा आयोजित तीसरी राष्ट्रीय मास्टर्स चैंपियनशिप में मध्य प्रदेश टीम की प्रतिभागी के तौर पर हिस्सा लेने वाली बौद्ध-भारतीय ज्ञानोदय अध्ययन विश्वविद्यालय की पीएचडी शोधकर्त्ता श्वेता नेमा ने एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीते। 

प्रमुख बिंदु

  • उत्तर प्रदेश के वाराणसी में आयोजित इस मास्टर्स एथलेटिक्स चैंपियनशिप में श्वेता ने 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण, रेस वॉक में रजत और 400×4 रिले में कांस्य तथा 100×4 रिले दौड़ में दूसरा कांस्य पदक जीता।  
  • इस 4 दिवसीय तीसरी राष्ट्रीय मास्टर्स एथलेटिक्स चैंपियनशिप में देश भर से केवल 30 वर्ष से अधिक आयु के प्रतिभागियों ने ही मास्टर्स एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भाग लिया।
  • गौरतलब है कि श्वेता विश्वविद्यालय में योग और आयुर्वेद विभाग में पीएचडी शोधकर्त्ता हैं। श्वेता नेमा ने हाल ही में SATI कॉलेज, विदिशा में कछुए की मुद्रा में योग करने का गिनीज़ रिकॉर्ड बनाया था। श्वेता विदिशा और रायसेन के लोगों को मुफ्त योगासन का प्रशिक्षण देती हैं।

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page