दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • प्रश्न :

    आप किसी राज्य में लोक निर्माण विभाग के सचिव हैं। आप राज्य में विभिन्न बुनियादी ढाँचा परियोजनाओं के निर्माण और रखरखाव के लिये जिम्मेदार हैं। हाल ही में आपके विभाग द्वारा बनाए गए एक पुल के गिरने के कारण कई लोगों की मृत्यु हो गई जबकि कई अन्य घायल हो गए। इस पुल का उद्घाटन कुछ महीने पहले ही हुआ था और इसे इंजीनियरिंग उत्कृष्टता का एक मॉडल माना जाता था। इस घटना से लोग आक्रोशित हैं और आपके विभाग पर लापरवाही तथा भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं। यह लोग आपके इस्तीफे की मांग करते हुए आपके कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करते हैं। कुछ मीडिया चैनलों द्वारा आप पर इस भ्रष्टाचार में शामिल होने तथा पुल बनाने वाले ठेकेदार से रिश्वत लेने का भी आरोप लगाया गया है। आप इस घटना से काफी दुखी हैं और इस पुल के गिरने के पीछे की सच्चाई का पता लगाना चाहते हैं। आप अपनी प्रतिष्ठा और सत्यनिष्ठा की भी रक्षा करना चाहते हैं, जिसे आपने वर्षों की कड़ी मेहनत और ईमानदारी से अर्जित किया है।

    इस स्थिति में आप क्या करेंगे? इस मामले में शामिल नैतिक मुद्दों को बताते हुए इस संदर्भ में अपने द्वारा की जाने वाली कार्रवाई के बारे में चर्चा कीजिये।

    09 Jun, 2023 सामान्य अध्ययन पेपर 4 केस स्टडीज़

    उत्तर :

    हल करने का दृष्टिकोण:

    • परिचय: इस केस स्टडी का संक्षिप्त विवरण देते हुए इस संदर्भ में अपने समक्ष विद्यमान प्रमुख चुनौतियों का उल्लेख कीजिये।
    • मुख्य भाग: इसमें शामिल नैतिक मुद्दों और हितधारकों का उल्लेख करते हुए संभावित विकल्पों और उनके गुणों तथा दोषों की चर्चा कीजिये।
    • निष्कर्ष:नैतिकता, सत्यनिष्ठा और लोगों के कल्याण के प्रति प्रतिबद्धता को दोहराते हुए निष्कर्ष दीजिये।

    परिचय:

    इस मामले में इंजीनियरिंग उत्कृष्टता का एक मॉडल माना जाने वाला नवनिर्मित पुल गिरने से कई लोगों की मृत्यु हो गई जबकि कई अन्य घायल हो गए। लोक निर्माण विभाग के सचिव के रूप में मुझे, जनता के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है और मुझसे इस्तीफे की मांग किये जाने के साथ मुझ पर लापरवाही और भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं। इस संदर्भ में मेरा प्रमुख लक्ष्य इस पुल के गिरने के पीछे की सच्चाई का पता लगाना, लोगों का विश्वास फिर से हासिल करना और अपनी प्रतिष्ठा तथा सत्यनिष्ठा की रक्षा करना है।

    मुख्य भाग:

    शामिल हितधारक संबद्ध नैतिक मुद्दे
    सचिव के रूप में स्वयं मैं जवाबदेहिता, पारदर्शिता, हितों का टकराव, कर्त्तव्य बनाम व्यक्तिगत लाभ
    मीडिया सच्चाई, निष्पक्षता, जिम्मेदारी
    कानून प्रवर्तन एजेंसी गैर-पक्षपात, न्याय और जवाबदेहिता
    ठेकेदार ईमानदारी, प्रदर्शन, दायित्व
    विभाग गुणवत्ता, क्षमता, व्यावसायिकता
    सरकार शासन, निरीक्षण, जनहित
    जनता सुरक्षा, विश्वास

    संभावित कदम: संबंधित गुण और दोष

    संभावित कदम गुण दोष
    अविलंब इस्तीफा दे देना
    • असफलता के संदर्भ में मेरे नैतिक साहस और जवाबदेहिता का प्रदर्शन होगा ।
    • इससे जनता की भावना का सम्मान होगा।
    • इस संदर्भ में किसी अन्य विवाद या आलोचना से मेरा बचाव होगा।
    • नए नेतृत्व से विभाग के लिये नए अवसर मिल सकते हैं।
    • इसको जनता, मीडिया या सरकार द्वारा अपराध या मेरी अक्षमता के रूप में देखा जा सकता है।
    • इससे विभाग में तत्काल रूप से नेतृत्व का अभाव हो सकता है।
    • इससे मैं अपना बचाव करने और अपनी बेगुनाही या सत्यनिष्ठा साबित करने के अवसर से वंचित हो सकता हूँ।
    • इससे मैं अपने उन अनुभव और विशेषज्ञता का उपयोग करने से वंचित रह सकता हूँ जिनका इस स्थिति को सुधारने के लिये इस्तेमाल किया जा सकता था।
    उचित कार्रवाई करने के साथ न्याय सुनिश्चित करना
    • यह विकल्प मेरे कर्त्तव्य के प्रति मेरी पेशेवर क्षमता और प्रतिबद्धता को दर्शाता है।
    • इससे विभाग और सरकार के प्रति जनता के विश्वास को बढ़ावा मिलेगा।
    • इससे पीड़ितों और उनके परिवारों के लिये न्याय और जवाबदेहिता सुनिश्चित होगी।
    • इससे भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रुक सकती है।
    • पूरी तरह से इस मामले की जाँच करने और अनुशासनात्मक तथा कानूनी कार्रवाई करने में बहुत समय, प्रयास और संसाधन लग सकते हैं।
    • मुझे कुछ अधीनस्थों, ठेकेदारों या सलाहकारों के प्रतिरोध या विरोध का सामना करना पड़ सकता है।
    • पुल परियोजना से संबंधित मेरी कुछ गलतियों या कमियाँ उजागर हो सकती हैं।
    • इससे कुछ लोग या मीडिया समूह संतुष्ट या खुश नहीं हो सकते हैं और यह मेरे इस्तीफे की मांग कर सकते हैं।

    इस संदर्भ में मेरी कार्रवाई का क्रम:

    इस संदर्भ में मेरे द्वारा की जाने वाली कार्रवाई का क्रम निम्नलिखित होगा:

    • पीड़ितों की सहायता करना: सबसे पहले मैं घायल पीड़ितों को चिकित्सा सहायता और राहत प्रदान करने के लिये सभी उपलब्ध संसाधनों को समेकित करूँगा। इसके अतिरिक्त मैं यह सुनिश्चित करते हुए मृतक के परिवारों की सहायता करूँगा कि उन्हें इस कठिन समय के दौरान आवश्यक मुआवजा और सहायता प्राप्त हो सके।
    • स्वतंत्र जाँच शुरू करना: पुल के गिरने का कारण निर्धारित करने के लिये मैं इंजीनियर और बुनियादी ढाँचे के प्रतिष्ठित विशेषज्ञों के माध्यम से एक स्वतंत्र जाँच शुरू करूँगा। इसके साथ ही सुनिश्चित करूँगा कि यह जाँच निष्पक्ष, पारदर्शी और बिना किसी हितों के टकराव के होनी चाहिये।
    • संबंधित अधिकारियों का निलंबन करना: निष्पक्ष जाँच सुनिश्चित करने के क्रम में मैं लापरवाही या भ्रष्टाचार में शामिल होने के संदेह वाले किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को तुरंत निलंबित करूँगा।
    • कानून प्रवर्तन निकायों के साथ सहयोग करना: मैं भ्रष्टाचार या रिश्वतखोरी के किसी भी आरोप की जाँच करने के लिये कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ पूरा सहयोग करूँगा। इससे तथ्यों के आधार पर सभी संभावित आयामों की गहन जाँच सुनिश्चित होगी।
    • संचार और पारदर्शिता पर बल देना: इस संदर्भ में जनता, मीडिया और प्रभावित हितधारकों के साथ संचार को बनाए रखना महत्त्वपूर्ण है। मैं प्रेस कॉन्फ्रेंस के द्वारा जाँच की प्रगति पर नियमित अपडेट जारी करूँगा।
    • इससे संबंधित मुद्दों को हल करना: एक बार जाँच में पुल गिरने के कारणों की पहचान हो जाने के बाद मैं स्थिति को सुधारने के लिये तत्काल कार्रवाई करूँगा। इसमें पुल का पुनर्निर्माण, उचित सुरक्षा प्रोटोकॉल सुनिश्चित करना और विभाग के अंदर निर्माण तथा निरीक्षण प्रक्रियाओं की समीक्षा करना शामिल हो सकता है। इस संदर्भ में भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिये मज़बूत गुणवत्ता नियंत्रण उपायों और निरीक्षण तंत्रों को मज़बूत करने पर बल दूँगा।
    • जवाबदेहिता बढ़ाने के साथ सुधारों पर बल देना: अगर जाँच के दौरान भ्रष्टाचार या रिश्वतखोरी का कोई सबूत सामने आता है तो मैं यह सुनिश्चित करूँगा कि जिम्मेदार लोगों पर उचित कानूनी कार्रवाई हो। इसके साथ ही मैं भ्रष्टाचार को रोकने तथा पारदर्शिता बढ़ाने के लिये विभाग के अंदर सुधारों के साथ सख्त प्रोटोकॉल लाने पर बल दूँगा जिसमें खरीद प्रक्रिया की समीक्षा करना, निरीक्षण तंत्र को मज़बूत करना और कर्मचारियों के लिये आचार संहिता स्थापित करना शामिल हो सकता है।

    निष्कर्ष:

    इस संदर्भ में मैं पारदर्शिता, स्वतंत्र जाँच, जवाबदेहिता निर्धारित कर और सुधारों पर बल देकर सच्चाई को उजागर करने, जिम्मेदार पक्षों को जवाबदेह ठहराने तथा भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं को रोकने का प्रयास करूँगा। मैं अपने कार्यों और निर्णय लेने की प्रक्रिया में नैतिकता, सत्यनिष्ठा के साथ जनता के कल्याण को प्राथमिकता दूँगा।

    To get PDF version, Please click on "Print PDF" button.

    Print
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2