हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • प्रश्न :

    प्रश्न. "अभिवृत्ति एक छोटी सी चीज है लेकिन इससे बहुत फर्क पड़ता है।" अभिवृत्ति के निर्माण में योगदान देने वाले कारकों और अभिवृत्ति के विभिन्न कार्यों की चर्चा कीजिये। (250 शब्द)

    15 Sep, 2022 सामान्य अध्ययन पेपर 4 सैद्धांतिक प्रश्न

    उत्तर :

    हल करने का दृष्टिकोण

    • अभिवृत्ति के बारे में संक्षिप्त जानकारी देकर अपने उत्तर की शुरुआत कीजिये।
    • अभिवृत्ति के निर्माण के कारणों की विवेचना कीजिये।
    • अभिवृत्ति के कार्यों की चर्चा कीजिये।
    • उपयुक्त निष्कर्ष लिखिये।

    परिचय

    अभिवृत्ति का सामान्य अर्थ किसी मनोवैज्ञानिक विषय (अर्थात् व्यक्ति, वस्तु, समूह, विचार, स्थिति या कुछ और जिसके बारे में भाव आ सके) के प्रति सकारात्मक या नकारात्मक भाव की उपस्थिति है। उदाहरण के लिये वर्तमान भारत में पश्चिमी संस्कृति और ज्ञान के प्रति सकारात्मक अभिवृत्ति है, जबकि पारंपरिक तथा रूढि़वादी मान्यताओं के प्रति आमतौर पर नकारात्मक अभिवृत्ति दिखाई पड़ती है।

    प्रारूप

    अभिवृत्ति के निर्माण के पीछे कारक

    • संस्कृति: संस्कृति व्यक्ति पर अत्यधिक प्रभाव डालती है। संस्कृति में अपने आप में धर्म, परंपरा, रीति-रिवाज, निषेध, पुरस्कार और प्रतिबंध शामिल हैं। समाजीकरण वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा संस्कृति लोगों के दृष्टिकोण को आकार देती है। संस्कृति व्यक्तिगत विश्वासों, दृष्टिकोणों और व्यवहारों को सिखाती है जो किसी के जीवन और समाज में स्वीकार्य हैं।
    • परिवार: परिवार एक व्यक्ति के लिये सबसे महत्त्वपूर्ण और निकटतम सामाजिक समूह है। यह मनोवृत्ति निर्माण की नर्सरी है। परिवार प्रणाली में माता-पिता अधिक प्रभावशाली होते हैं जो एक बच्चे की मनोवृत्ति का निर्माण करते हैं। सयुंक्त परिवार और भाई-बहन के रिश्ते, विशेष रूप से, मनोवृत्ति निर्माण में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
    • सामाजिक समूह: परिवार के अलावा कई सामाजिक समूह मनोवृत्ति निर्माण में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं जिसमें मित्र, सहकर्मी, आदि शामिल हैं। यदि भारत में मतदान पैटर्न पर विचार करें तो ऐसे लोग हैं जो उम्मीदवार के भाषणों को नहीं सुनते हैं, समाचार पत्र नहीं पढ़ते हैं वे बस दोस्तों, परिवार आदि से बात करते हैं और एक उम्मीदवार को वोट देते हैं। परिवार, मित्र और ऐसे अन्य सामाजिक समूह उम्मीदवार की पसंद को निश्चित रूप से प्रभावित करते हैं।
    • संस्थाएँ: एक आदमी कभी अकेला नहीं होता है। पालने से लेकर कब्र तक वह किसी न किसी संस्था के प्रभाव में रहता है। उदाहरण के लिये: स्कूल और कॉलेज जैसे शैक्षणिक संस्थान ज्ञान के भंडार के रूप में कार्य करते हैं, किसी व्यक्ति के विश्वासों, मूल्यों को निर्देशित करते हैं और आकार देते हैं तथा और इस प्रकार अभिवृत्ति का निर्माण करते हैं।
    • परिचितता: परिचितता सकारात्मक दृष्टिकोण को जन्म देती है। मनुष्य को आमतौर पर अज्ञात होने का डर होता है, इसलिये कोई भी परिचित चीज उसे शांति का अनुभव करा सकती है। परिचित और क्लासिकल कंडीशनिंग एक व्यक्ति की भावनाओं पर कार्य करती है और इसलिये अभिवृत्ति दृष्टिकोण के भावनात्मक घटक को आकार देती है।

    अभिवृत्ति के कार्य

    • ज्ञान फलन: अभिवृत्तियों का एक ज्ञान फलन होता है, जो व्यक्तियों को अपने परिवेश को समझने और अपने विचारों और सोच में सुसंगत रहने में सक्षम बनाता है। अधिकांश अभिवृत्तियाँ किसी न किसी रूप में इस मूल कार्य की पूर्ति करती हैं।
    • उपयोगितावादी कार्य: यह व्यक्तियों, समूहों और उनके वातावरण में स्थितियों को समझते हुए लाभ को अधिकतम करने और नुकसान को कम करने में व्यक्तियों की मदद करता है। उपयोगितावादी दृष्टिकोण ऐसे व्यवहार की ओर ले जाता है जो किसी के हितों को अनुकूलित करता है।
    • सामाजिक भूमिका निभाना: अभिवृत्ति एक सामाजिक भूमिका निभाने में मदद करती है, एक व्यक्ति की आत्म-अभिव्यक्ति और सामाजिक संपर्क में मदद करती है। अभिवृत्ति की इस सामाजिक भूमिका को सामाजिक पहचान कार्य के रूप में जाना जाता है, यह एक व्यक्ति की अपनी व्यक्तिगत और सामाजिक पहचान स्थापित करने की इच्छा को रेखांकित करता है।
    • एक व्यक्ति के आत्म-सम्मान को बनाए रखना: अभिवृत्ति किसी व्यक्ति के आंतरिक मानसिक संघर्ष से निपटने के लिये रक्षा तंत्र के रूप में काम कर सकता है जो व्यक्तिगत तनाव को दर्शाता है। रक्षा तंत्र किसी व्यक्ति के वास्तविक उद्देश्यों को खुद से छिपाते हैं या मनोवैज्ञानिक रूप से उसे शत्रुतापूर्ण या धमकी देने वाले समूहों से अलग करते हैं।

    निष्कर्ष

    एपीजे अब्दुल कलाम के अनुसार "सभी पक्षी बारिश के दौरान आश्रय ढूँढते हैं। लेकिन ईगल बादलों के ऊपर उड़कर बारिश से बचता है।" इसका मतलब है कि समस्याएँ आम हैं, लेकिन रवैये से फर्क पड़ता है।

    To get PDF version, Please click on "Print PDF" button.

    Print
एसएमएस अलर्ट
Share Page