18 जून को लखनऊ शाखा पर डॉ. विकास दिव्यकीर्ति के ओपन सेमिनार का आयोजन।
अधिक जानकारी के लिये संपर्क करें:

  संपर्क करें
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • प्रश्न :

    नवंबर 2021 में ग्लासगो में विश्व के नेताओं के शिखर सम्मेलन में सी.ओ.पी. 26 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में आरंभ की गई हरित ग्रिड पहल का प्रयोजन स्पष्ट कीजिये। अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (आई.एस.ए.) में यह विचार पहली बार कब दिया गया था?

    27 Apr, 2022 सामान्य अध्ययन पेपर 3 पर्यावरण

    उत्तर :

    नई वैश्विक हरित ग्रिड पहल- वन सन वन वर्ल्ड वन ग्रिड (GGI-OSOWOG) अंतर्राष्ट्रीय सौर संगठन (ISA) के OSOWOG बहुपक्षीय अभियान का हिस्सा है, जिसका उद्देश्य वैश्विक स्तर पर सौर ऊर्जा ढाँचे को तेज़ी से जोड़ना है। यह भारत और यूनाइटेड किंगडम द्वारा सौर ऊर्जा का उपयोग करने और सीमाओं के पार निर्बाध रूप से संचरण की एक पहल है। इसका उद्देश्य वैश्विक ऊर्जा संक्रमण को कम करने के लिये आवश्यक बुनियादी ढाँचे और बाज़ार संरचनाओं में सुधारों को गति प्रदान कर मानकों को प्राप्त करने में मदद करना है। इसमें आधुनिक इंजीनियरिंग की सफलता की क्षमता है और नवीकरणीय बिजली उत्पादन के विस्तार के लिये उत्प्रेरक तथा अगले दशक में जलवायु परिवर्तन को प्रभावी ढंग से कम करने की क्षमता है। यह पहल राष्ट्रीय सरकारों, वित्तीय संगठनों तथा बिजली प्रणाली परिचालकों के अंतर्राष्ट्रीय गठबंधन को साथ लाएगी। इससे सुरक्षित, विश्वसनीय और सस्ती बिजली के उत्पादन को बढ़ाने के लिये नए बुनियादी ढाँचे के निर्माण को तेज़ किया जा सकेगा। इनमें आधुनिक, लचीले ग्रिड, चार्ज़िग प्वॉइंट और बिजली इंटरकनेक्टर शामिल हैं।

    उल्लेखनीय है कि हरित ग्रिड पहल का विचार भारत के प्रधानमंत्री द्वारा अक्तूबर 2018 में अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (ISA) की पहली सभा में रखा गया था। भारत ने इसके लिये सीमाओं के पार सौर ऊर्जा आपूर्ति को जोड़ने का आह्वान किया था।

    To get PDF version, Please click on "Print PDF" button.

    Print
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2