हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  •  भावनात्मक बुद्धिमत्ता (Emotional Intelligence- EI) के मुख्य घटक क्या हैं? क्या उन्हें सीखा जा सकता है? विवेचना कीजिये।

    04 Feb, 2021 सामान्य अध्ययन पेपर 4 सैद्धांतिक प्रश्न

    उत्तर :

    हल करने का दृष्टिकोण:

    • भावनात्मक बुद्धिमत्ता को परिभाषित कीजिये।
    • भावनात्मक बुद्धिमत्ता के घटक बताएँ।
    • भावनात्मक बुद्धिमत्ता को कैसे सीखा जा सकता है, चर्चा करें।
    • उचित निष्कर्ष दें।

    भावनात्मक बुद्धिमत्ता या ईआई अपनी और अपने आसपास के लोगों की भावनाओं को समझने और उसे प्रबंधित करने की क्षमता है। उच्च स्तर की भावनात्मक बुद्धिमत्ता वाले लोग यह समझते हैं कि वे क्या महसूस कर रहे हैं, उनकी भावनाओं का क्या मतलब है और ये भावनाएँ दूसरे लोगों को कैसे प्रभावित कर सकती हैं?

    भावनात्मक बुद्धिमत्ता के घटक

    डैनियल गोलमैन ने भावनात्मक बुद्धिमत्ता की चार प्रमुख विशेषताओं की पहचान की है। यह गोलमैन के भावनात्मक बुद्धिमत्ता मॉडल के रूप में लोकप्रिय है।

    Regulation-Recognition

    ईआई के इन चार घटकों से संकेत मिलता है कि एक व्यक्ति में नैतिक आचरण से जुड़ी विशेषताएँ होनी चाहिये। इन विशेषताओं को कई अन्य गतिविधियों से जोड़ा जा सकता है जैसे:-

    • प्रभावी प्रशासनिक नेतृत्व
    • अच्छी कार्य संस्कृति
    • व्यावसायिकता
    • स्व प्रेरणा

    ईआई सीखने के तरीके

    सबसे महत्त्वपूर्ण तरीका है समाजीकरण। जीवन के शुरुआती चरण में परिवार एवं स्कूल की भूमिका महत्त्वपूर्ण होती है। चूँकि यह प्रारंभिक चरण औपचारिक नहीं है, इसलिये किसी व्यक्ति के जीवन के बाद के चरणों में सरकार और संगठन की भूमिका महत्त्वपूर्ण हो जाती है।

    इसलिये औपचारिक संगठन निम्नलिखित तरीके से ईआई को बढ़ावा दे सकते हैं: -

    • मानव संसाधन प्रबंधन में ईआई की भूमिका को शामिल करना।
    • अप्टिट्यूड परीक्षण।
    • औपचारिक प्रशिक्षण।
    • लोकतांत्रिक कार्य संस्कृति।
    • मानव क्षमता को साकार करने का पर्याप्त अवसर।
    • प्रभावी नेतृत्व।
    • सरकार को सामाजिक प्रभाव, अनुनय और शिक्षण संस्थानों एवं शिक्षण संस्कृति के माध्यम से प्रारंभिक अवस्था में समाजीकरण को प्रभावित करने का प्रयास करना चाहिये।
    • विचार मंथन एवं आदर्श स्थापित करना।

    निष्कर्ष

    भावनात्मक बुद्धिमत्ता के महत्त्व को एक लोकप्रिय अवधारणा द्वारा रेखांकित किया जा सकता है कि आइक्यू जीवन में केवल 20 प्रतिशत तक सफल होने में आपकी मदद कर सकता है बाकी 80 प्रतिशत सफलता आपके ईक्यू (भावनात्मक बुद्धिमत्ता) पर निर्भर करती है।

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close