हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • प्रश्न :

    "सार्क सेटेलाइट का प्रक्षेपण भारत की तकनीकी श्रेष्ठता के प्रदर्शन के स्थान पर तकनीकी-कूटनीति (Techno-Diplomacy) का उदाहरण है जिसका भारत के सार्क देशों के साथ संबंधों पर दूरगामी प्रभाव पड़ने की संभावना है।" स्पष्ट कीजिये।

    06 May, 2017 सामान्य अध्ययन पेपर 2 राजव्यवस्था

    उत्तर :

    भारत द्वारा सार्क सेटेलाइट (दक्षिण एशिया सेटेलाइट) का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण कर दिया गया है। इस GSAT-9 उपग्रह को श्री हरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से GSLV-F09 द्वारा प्रक्षेपित किया गया। यह उपग्रह ISRO द्वारा डिजाइन एवं प्रक्षेपित किये गए अन्य संचार उपग्रहों के समान ही है और तकनीकी रूप से विशेष नहीं है।

    किंतु, इस उपग्रह का विशेष कूटनीतिक महत्त्व अवश्य है। चंद्रयान एवं मंगलयान जैसे मिशनों की सफलता एवं उपग्रह प्रक्षेपण के क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल कर भारत ने महसूस किया कि इस क्षेत्र में घरेलू प्रौद्योगिकियाँ अब परिपक्वता के स्तर तक पहुँच गई है जिनका प्रयोग अब अन्य देशों की सहायता के लिये भी किया जाना चाहिये। इस उपग्रह के निर्माण एवं प्रक्षेपण की पूरी लागत ISRO द्वारा वहन की गई है। यह उपग्रह अपने साथ 12 ku बैंड ट्रांसपोडर लेकर गया जिनमें से सार्क का प्रत्येक देश (पाकिस्तान को छोड़कर, क्योंकि पाकिस्तान ने भारत के इस प्रस्ताव में शामिल होने से इनकार कर दिया था) अपने लिये समर्पित एक ट्रांसपोंडर का उपयोग कर सकेगा जिसका प्रयोग मुख्यतः संचार एवं आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में किया जा सकता है। यह उपग्रह  प्राकृतिक संसाधनों के मानचित्रण, टेलीमेडिसिन, टेली-एज्युकेशन, IT कनेक्टिविटी एवं लोगों के मध्य संपर्क को बढ़ावा देने के कारण संपूर्ण दक्षिण एशियाई क्षेत्र की प्रगति के लिये वरदान साबित होगा। 

    इस उपग्रह को भारत द्वारा पड़ोसी देशों को उपहार स्वरूप प्रदान करने से एक तरफ जहाँ भारत अपनी तकनीकी क्षमताओं का प्रदर्शन कर इसे विपणन उपकरण (Marketing tool) के रूप में उपयोग कर सकता है तो दूसरी तरफ पड़ोसियों से संबंध प्रगाढ़ कर भविष्य में महत्त्वपूर्ण घरेलू द्विपक्षीय एवं क्षेत्रीय चिंताओं से निपटने में इसका इस्तेमाल कर सकता है।

    इस प्रकार, भारत अपनी तकनीकी क्षमता का प्रयोग कूटनीतिक हथियार के रूप में करके अपनी ‘सॉफ्ट पावर’ छवि को मजबूत कर दक्षिण एशिया के देशों के साथ अपने संबंधों को मजबूत बना सकता है।

    To get PDF version, Please click on "Print PDF" button.

    Print
एसएमएस अलर्ट
Share Page