प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 29 जुलाई से शुरू
  संपर्क करें
ध्यान दें:

हरियाणा स्टेट पी.सी.एस.

  • 30 Jan 2023
  • 0 min read
  • Switch Date:  
हरियाणा Switch to English

कुरुक्षेत्र के किरमिच गाँव से हुई प्रधानमंत्री मोदी की ‘मन की बात’ कार्यक्रम की शुरुआत

चर्चा में क्यों?

29 जनवरी, 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल पहली बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम के 97वें एपिसोड की शुरुआत हरियाणा के कुरुक्षेत्र के गाँव किरमिच से की। इसमें प्रधानमंत्री ने मोटे अनाज पैदा करने से लेकर लोकतंत्र को और प्रगाढ़ किये जाने, ई-वेस्ट से बेस्ट निकालने सहित कई अहम संदेश दिये।

प्रमुख बिंदु

  • गौरतलब है कि इस बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम से हरियाणा, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, मेघालय, राजस्थान, तेलंगाना, त्रिपुरा व उत्तर प्रदेश सीधेतौर पर जुड़े। इसमें हरियाणा से एकमात्र गाँव किरमिच के बूथ नंबर 180 कालू पट्टी से किसान धुम्मन सिंह का चयन किया गया था।
  • कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने गणतंत्र दिवस समारोह में की गईं कई नई पहल को लेकर देश भर में की जा रही सराहना की चर्चा की तो वहीं मोटे अनाज को लेकर इंटरप्योर बने लोगों के उदाहरण भी दिये।
  • प्रधानमंत्री ने मोटे अनाज पर विशेषतौर पर चर्चा की, जो हरियाणा की प्रमुख खेती है। इससे किसानों का हौंसला बढ़ा है। उनके इस संदेश से मोटे अनाज की खेती को बढ़ावा मिलेगा।
  • उल्लेखनीय है कि ‘मन की बात’ आकाशवाणी पर प्रसारित किया जाने वाला एक कार्यक्रम है, जिसके ज़रिये भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के नागरिकों को संबोधित करते हैं। इस कार्यक्रम का पहला प्रसारण 3 अक्तूबर, 2014 को किया गया था। जनवरी 2015 में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी उनके साथ इस कार्यक्रम में भाग लिया था तथा भारत की जनता के पत्रों के उत्तर दिये थे।
  • जुलाई 2021 में राज्यसभा में सूचना और प्रसारण मंत्री के एक बयान के अनुसार, कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य ‘दिन-प्रतिदिन के शासन के मुद्दों पर नागरिकों के साथ संवाद स्थापित करना’ है। यह कार्यक्रम भारत का ‘पहला नेत्रहीन समृद्ध रेडियो कार्यक्रम’ है।

हरियाणा Switch to English

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गुप्तिसागर नेचर केयर इंस्टीट्यूट का किया शिलान्यास

चर्चा में क्यों?

29 जनवरी, 2022 को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गन्नौर स्थित श्री 108 गुप्तिसागर धाम जैन ट्रस्ट द्वारा आयोजित कार्यक्रम में प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र गुप्तिसागर नेचर क्योर इंस्टीट्यूट का शिलान्यास किया।

प्रमुख बिंदु

  • इस मौके पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने श्री 108 गुप्तिसागर जी महाराज द्वारा अंत्योदय प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर लिखित पुस्तक का विमोचन भी किया।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी खान-पान की आदतें ठीक हों, शरीर स्वस्थ रहे, इसके लिये आयुर्वेद व प्राकृतिक चिकित्सा अहम है। प्राकृतिक चिकित्सा कोई चिकित्सा नहीं, बल्कि पद्धतियों का सार है।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि चिकित्सा के नाते आयुष्मान भारत योजना क्रियान्वित की गई है, उसी तर्ज़ पर प्रदेश सरकार ने हरियाणा में ‘चिरायु हरियाणा योजना’ शुरू की है और इसके तहत हरियाणा में 29 लाख परिवार 5 लाख रुपए तक की चिकित्सा सुविधा का लाभ सूचीबद्ध अस्पतालों व नागरिक अस्पतालों में उठा सकते हैं।

 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2