प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 29 जुलाई से शुरू
  संपर्क करें
ध्यान दें:

उत्तराखंड स्टेट पी.सी.एस.

  • 19 Jun 2024
  • 0 min read
  • Switch Date:  
उत्तराखंड Switch to English

क्राउड आई डिवाइस

चर्चा में क्यों?

हाल ही में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) रुड़की ने चार धाम तीर्थयात्रियों की बढ़ती संख्या को नियंत्रित करने के लिये 'क्राउड आई' डिवाइस विकसित की है, जो भीड़ बढ़ने से पहले अलर्ट भेजती है।

  • प्रायोगिक तौर पर यमुनोत्री में पहली क्राउड आई डिवाइस लगाने की तैयारी की जा रही है।

मुख्य बिंदु:

  • यह उपकरण धार्मिक स्थलों पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिये वास्तविक समय पर निगरानी रखने हेतु बनाया गया है।
  • यमुनोत्री में स्थानीय स्तर पर विकसित ‘क्राउड आई’ उपकरण स्थापित करने के लिये देहरादून स्थित उत्तराखंड राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद (UCOST) को वित्त पोषण हेतु अनुरोध प्रस्तुत किया गया है।
  • बजट स्वीकृति के बाद यह परियोजना शुरू होगी, जिसकी उत्पादन लागत 60 से 70 हज़ार रुपए अनुमानित है। इस तकनीक को पेटेंट कराने के भी प्रयास किये जा रहे हैं।
  • भावी अपडेट का उद्देश्य भीड़ की गणना में पुरुष और महिला डेटा के बीच अंतर करना है।
  • हरिद्वार में दीनदयाल उपाध्याय और पंतद्वीप पार्किंग क्षेत्रों में सर्वेक्षण के माध्यम से तीर्थयात्रा सीज़न के दौरान यातायात की भीड़ की समस्या का समाधान किया जा रहा है।

चार धाम यात्रा

  • यमुनोत्री धाम:
    • स्थान: उत्तरकाशी ज़िला।
    • समर्पित: देवी यमुना।
    • गंगा नदी के बाद यमुना नदी भारत की दूसरी सबसे पवित्र नदी है।
  • गंगोत्री धाम:
    • स्थान: उत्तरकाशी ज़िला।
    • समर्पित: देवी गंगा।
    • सभी भारतीय नदियों में सबसे पवित्र मानी जाती है।
  • केदारनाथ धाम:
    • स्थान: रुद्रप्रयाग ज़िला।
    • समर्पित: भगवान शिव
    • मंदाकिनी नदी के तट पर स्थित है।
    • भारत में 12 ज्योतिर्लिंगों (भगवान शिव के दिव्य प्रतिनिधित्व) में से एक।
  • बद्रीनाथ धाम:
    • स्थान: चमोली ज़िला।
    • पवित्र बद्रीनारायण मंदिर का स्थान।
    • समर्पित: भगवान विष्णु
    • वैष्णवों के पवित्र तीर्थस्थलों में से एक।

 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2