दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

झारखंड स्टेट पी.सी.एस.

  • 11 Dec 2023
  • 0 min read
  • Switch Date:  
झारखंड Switch to English

देश के स्मार्ट शहरों की रैंकिंग में राँची का दूसरा स्थान

चर्चा में क्यों?

7 दिसंबर, 2023 को झारखंड के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से मिली जानकारी के अनुसार देश के 100 स्मार्ट शहरों में हो रहे विकास कार्यों के मूल्यांकन के आधार पर होने वाली लाइव रैंकिंग में झारखंड की राजधानी राँची ने पूरे देश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

प्रमुख बिंदु

  • इस रैंकिंग में कुल 350 अंकों में राँची को 324.48 अंक प्राप्त हुआ है। वहीं प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले गुजरात के शहर सूरत को 335.79 अंक प्राप्त हुआ है।
  • स्मार्ट सिटी वाले शहरों में विकास के आधार पर केंद्र द्वारा जारी संबंधित राज्यों की रैंकिंग में झारखंड को देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। राज्यों की श्रेणी में झारखंड को 350 अंकों में 324.48 अंक प्राप्त हुआ है।
  • राँची के धुर्वा क्षेत्र में विकसित हो रहे राँची के स्मार्ट सिटी में आधारभूत संरचना के विकास का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। वहीं तीन चरणों में आवासीय, मिक्स यूज, इंस्टिट्यूशनल, हेल्थ सेक्टर और पब्लिक सेमी पब्लिक नेचर के कई बड़े प्लॉट का ई-ऑक्शन भी संपन्न हो चुका है तथा चौथे चरण के ऑक्शन का कार्य प्रक्रियाधीन है।
  • विदित हो कि राँची स्मार्ट सिटी के तहत् विकसित कमांड एंड कंट्रोल सेंटर 2021 में ही पूर्ण हो चुका है और यह योजना पूर्ण रूप से कार्य कर रही है। इसके तहत् राँची में ट्रैफिक मैनेजमेंट, निगरानी जैसे कार्य से शहरवासियों को लाभ मिल रहा है।
  • वहीं कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से प्रतिदिन लगभग तीन हज़ार यातायात नियमों के उल्लंघन करने वालों की सूची राँची पुलिस को मुहैया कराई जा रही है ताकि उनका ई-चालान निर्गत किया जा सके।
  • इसके अलावा स्मार्ट सिटी में राज्य पोषित अर्बन सिविक टॉवर परियोजना का कार्य अपने अंतिम चरण में है। वहीं 656 एकड़ भूमि में बन रहे राँची स्मार्ट सिटी एबीडी एरिया का कार्य भी लगभग पूर्ण हो चुका है।
  • रैंकिंग के लिये सरकार द्वारा निर्धारित मानदंड इस प्रकार हैं-
    • स्मार्ट सिटी मिशन की योजनाओं के तहत हो रहे विकास कार्यों के पूर्ण होने पर मिलने वाला अंक।
    • ननएससीएम के तहत चल रही योजनाओं के पूर्ण होने पर प्राप्त होने वाला अंक।
    • फंड यूटिलाइजेशन।
    • पिछले माह का एक्सपेंडिचर।
    • इंडिया साइकिल फॉर चेंज और ट्रांसपोर्ट फॉर ऑल के लिये उठाए गए कदम।
    • ट्यूलिप के तहत विभिन्न क्षेत्रों में पढ़ाई कर रहे बच्चों को कराए गए इंटर्नशिप।
    • सिटी लेवल एडवाइजरी फॉर्म की बैठकों इत्यादि।

 


 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2