इंदौर शाखा: IAS और MPPSC फाउंडेशन बैच-शुरुआत क्रमशः 6 मई और 13 मई   अभी कॉल करें
ध्यान दें:

मध्य प्रदेश स्टेट पी.सी.एस.

  • 04 Mar 2024
  • 0 min read
  • Switch Date:  
मध्य प्रदेश Switch to English

हिंदुस्तान कोका-कोला बेवरेजेज मध्य प्रदेश में निवेश करेगी

चर्चा में क्यों?

भारत में कोका-कोला की बॉटलिंग शाखा, हिंदुस्तान कोका-कोला बेवरेजेज (HCCB) ने मध्य प्रदेश में अपने राजगढ़ संयंत्र में दो विनिर्माण लाइनें स्थापित करने के लिये 350 करोड़ रुपए के निवेश की घोषणा की है।

मुख्य बिंदु:

  • यह घोषणा उज्जैन में क्षेत्रीय उद्योग सम्मेलन के दौरान की गई थी।
  • पूंजी के हालिया निवेश से राजगढ़ में HCCB के कारखाने में 2 नई, अत्याधुनिक विनिर्माण लाइनें शुरू होंगी, जो किफायती छोटे स्पार्कलिंग पैक (ASSP) और टेट्रा पैक जूस का उत्पादन करेंगी।
  • HCCB पहले ही मध्य प्रदेश में अपने राजगढ़ संयंत्र में वर्ष 2000 से 311 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश कर चुका है।
    • कंपनी पूरे भारत में फैली 13 फैक्ट्रियों का संचालन करती है, जहाँ यह 8 श्रेणियों में 37 विभिन्न उत्पादों का निर्माण और बिक्री करती है।

मध्य प्रदेश Switch to English

अडानी ग्रुप मध्य प्रदेश में 75,000 करोड़ रुपए का निवेश करेगा

चर्चा में क्यों?

उज्जैन में क्षेत्रीय उद्योग सम्मेलन के दौरान, अडानी ग्रुप ने मध्य प्रदेश में 75,000 करोड़ रुपए के बड़े निवेश की घोषणा की है, जो राज्य के लिये अपनी वित्तीय प्रतिबद्धता के महत्त्वपूर्ण विस्तार का संकेत है।

मुख्य बिंदु:

  • अडानी ग्रुप चोरगाडी में 4 मिलियन टन प्रति वर्ष की क्लिंकर इकाई की स्थापना के लिये अतिरिक्त 5,000 करोड़ रुपए निर्धारित कर रहा है।
  • ग्रुप की योजना देवास और भोपाल में दो सीमेंट ग्राइंडिंग इकाइयाँ स्थापित करने की है, जिनकी कुल क्षमता 5,000 करोड़ रुपए के निवेश से 8 मिलियन टन प्रति वर्ष होगी।
  • ग्रुप ईंधन वितरण में 2,100 करोड़ रुपए से अधिक के बड़े निवेश की भी योजना बना रहा है।
  • यह निवेश मुख्य रूप से पाँच भौगोलिक क्षेत्रों, भिंड, बुरहानपुर, अनुपपुर, टीकमगढ़ और अलीराजपुर में सिटी गैस वितरण नेटवर्क को मज़बूत करने पर ध्यान केंद्रित करेगा, जिसमें सिटी गैस वितरण (CGD), तरलीकृत प्राकृतिक गैस (LNG), इलेक्ट्रॉनिक वाहन (EV) शामिल होंगे।
  • सिंगरौली में अपने महान एनर्जी प्लांट में 30,000 करोड़ रुपए की लागत से विद्युत उत्पादन क्षमता भी बढ़ाई जाएगी, जिससे यह मौजूदा 1,200 मेगावाट से बढ़कर प्रभावशाली 4,400 मेगावाट हो जाएगी।

क्षेत्रीय उद्योग सम्मेलन

  • यह दो दिवसीय निवेशक शिखर सम्मेलन था, जो मध्य प्रदेश के उज्जैन में शुरू हुआ, जिसमें भोपाल, उज्जैन और इंदौर जैसे 20 ज़िले शामिल थे।
  • कुल 56 परियोजनाओं में 74,000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश आने की उम्मीद है, जिसमें 17,000 से अधिक व्यक्तियों के लिये रोज़गार सृजन करने की क्षमता है।
  • उद्योग सम्मेलन के दौरान 35 भाग लेने वाली कंपनियों ने सामूहिक रूप से 74,711 करोड़ रुपए की निवेश परियोजनाओं का प्रस्ताव दिया है।


 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2