हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • प्रश्न :

    प्रश्न: उन्नीसवीं और बीसवीं शताब्दी के दौरान दुनिया के लोगों के लिये फ्राँसीसी क्रांति की विरासत का वर्णन कीजिये। (150 शब्द)

    27 Dec, 2021 सामान्य अध्ययन पेपर 1 इतिहास

    उत्तर :

    हल करने का दृष्टिकोण:

    • फ्राँसीसी क्रांति का महत्त्व स्पष्ट कीजिये।
    • बताइये कि इस क्रांति ने विश्व भर के आम लोगों के जीवन पर कैसे गहरा प्रभाव छोड़ा?
    • उपयुक्त निष्कर्ष दीजिये।

    फ्राँसीसी क्रांति, आधुनिक यूरोपीय इतिहास में एक अभूतपूर्व घटना थी जो 1789 में शुरू हुई और 1790 के दशक के अंत में नेपोलियन बोनापार्ट के उत्थान के साथ समाप्त हुई। इस अवधि के दौरान फ्राँसीसी नागरिकों ने पूर्ण राजशाही और सामंती व्यवस्था जैसी सदियों पुरानी संस्थाओं को उखाड़ फेंकते हुए देश के राजनीतिक परिदृश्य का पुनर्निर्माण किया।

    क्रांति ने उन्नीसवीं-बीसवीं सदी के लोगों को एक स्थायी विरासत सौंपीं जिसे विभिन्न रूपों में अभिव्यक्त किया जा सकता है:

    • सिद्धांतों का उपहार: स्वतंत्रता, समानता, बंधुत्व: फ्राँसीसी क्रांति से यूरोप और विश्व को स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व जैसे सिद्धांतों का बहुमूल्य उपहार प्राप्त हुआ। फ्राँसीसी क्रांति ने दुनिया भर के लोगों को ऐसे कई आधुनिक विचार दिये।
    • राजतंत्र, सामंतवाद से छुटकारा: अनियंत्रित सम्राट, सामंती सरदार और पादरी आम जनता का लगातार शोषण कर रहे थे। इसी तरह की स्थिति यूरोप के लगभग हर देश में बनी हुई है। क्रांति ने उस अन्याय को समाप्त कर दिया। राजतंत्र को लोकतंत्र द्वारा प्रतिस्थापित किया गया और सामंती सरदारों व पादरियों के सभी विशेष अधिकारों और रियायतों को अस्वीकार कर दिया गया था। लोगों को इससे प्रेरणा मिली और अन्याय के सभी कारकों के विरुद्ध आंदोलन का सूत्रपात हुआ। यह यूरोप में आधुनिक युग की शुरुआत थी।
    • सभी क्षेत्रों में सुधारों का आरंभ: क्रांति के उदारवाद, राष्ट्रवाद आदि विचारों के कारण फ्राँस में वर्गहीन समाज का उभार होने लगा। अब पादरियों की नियुक्ति सरकार द्वारा होने लगी। कृषि, व्यापार और व्यवसाय में सुधार हुआ। यूरोप के अन्य देशों को भी इससे प्रेरणा मिली और उन्होंने सुधार शुरू किये।
    • राष्ट्रवादी आंदोलनों की प्रेरणा: समानता के सिद्धांत ने लोगों में एकता पैदा की जिसने राष्ट्रवाद की भावना पैदा की। फ्राँसीसी क्रांति से प्रेरणा पाकर जर्मनी, इटली, रूस आदि में एकीकरण के आंदोलन शुरू हुए।
    • लोकतंत्र का विकास: क्रांति ने फ्राँस में सामाजिक-आर्थिक असमानता को नष्ट कर दिया और लोकतंत्र की स्थापना हुई। क्रांति का केंद्रीय विचार लोगों का कल्याण था। राजा और प्रतिनिधियों को समाज के सेवक के रूप में कार्य करना था। लोगों ने अपने अधिकार के रूप में अन्यायपूर्ण नियमों के विरुद्ध आवाज उठाना शुरू कर दिया। इसने यूरोप में भी लोकतंत्र के विकास में मदद की।

    यद्यपि फ्राँसीसी क्रांति कई अवसरों पर एक अराजक हिंसा में भी तब्दील हुई, लेकिन इसने दुनिया को लोगों की इच्छा में निहित शक्ति को प्रकट करते हुए आधुनिक राष्ट्रों को आकार देने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। 1789 की फ्राँसीसी क्रांति की स्मृतियाँ न केवल ऐतिहासिक हैं बल्कि उस विरासत का भी निर्माण करती हैं जो आज भी मानवीय मूल्यों और अधिकारों के रूप में जारी हैं।

    To get PDF version, Please click on "Print PDF" button.

    Print PDF
एसएमएस अलर्ट
Share Page