हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न

  • भारत के रेखा मानचित्र पर निम्नलिखित सभी की अवस्थिति को अंकित कीजिये। अपनी क्यू.सी.ए. पुस्तिका में इन स्थानों का भौतिक/ वाणिज्यिक/ आर्थिक/ पारिस्थितिक/ पर्यावरण/ सांस्कृतिक महत्त्व को अधिक-से-अधिक 30 शब्दों में लिखिये।

    09 Sep, 2020 वैकल्पिक विषय भूगोल

    उत्तर :

    (i) गुरू शिखर (ii) भोर घाट  (iii) श्रवणबेलगोला (iv) कालीबंगन   (v) गंगा सागर 

    Gurushikhar

    (i) गुरू शिखरः गुरू शिखर राजस्थान के अरबुडा (Arbuda) पहाड़ों में, 1722 मी. की ऊँचाई पर अरावली पर्वतमाला की सबसे ऊँची चोटी है। यह पर्यावरणीय, सांस्कृतिक व आर्थिक रूप से महत्त्वपूर्ण स्थल है। यहाँ स्थित मांउट आबू में दिलवाड़ा जैन मंदिर, विष्णु मंदिर जैसे धार्मिक तीर्थ, समृद्ध वनस्पतियों एवं जीव-जंतुओं के कारण प्रमुख प्राकृतिक पर्यटन स्थल भी हैं। पर्यटन गतिविधियों के कारण यह स्थान राज्य में आय का एक प्रमुख स्रोत भी है।

    (ii) भोर घाटः भोरघाट प्रायद्वीप भारत में स्थित पश्चिमी घाट श्रेणी के सहयाद्रि पर्वत का एक प्रमुख दर्रा है। महाराष्ट्र राज्य में कर्जत और खंडाला के बीच स्थित इस दर्रे से होकर मुंबई-पूना मार्ग गुजरता है। जो मुंबई को अन्य कई दक्षिण भारतीय राज्यों से जोड़ता है। इस प्रकार यह दर्रा जहाँ क्षेत्रीय संपर्क की दृष्टि से महत्त्वपूर्ण है। वहीं आर्थिक गतिविधियों में भी प्रमुख भूमिका निभाता है।

    (iii) श्रवणबेलगोलाः श्रवणबेलगोला, कर्नाटक राज्य के हासन ज़िले में स्थित एक प्रमुख जैन तीर्थ स्थल है। श्रवणबेलगोला में ही स्थित भगवान बाहुबली की मूर्ति स्थित है। इसके अलावा यहाँ चंद्रगिरी पर्वत पर स्थित भद्रबाहु की समाधि व गुफाएँ भी हैं। 9वीं से 12वीं शताब्दी के अनेक शिलालेख व स्तंभलेख भी यहाँ अवस्थित हैं जो विभिन्न राजवंशों की जानकारी प्रदान करते हैं। इस प्रकार श्रवणबेलगोला का ऐतिहासिक व सांस्कृतिक पर्यटन स्थल के रूप में महत्त्वपूर्ण स्थान है।

    (iv) कालीबंगनः कालीबंगन भारत के उत्तर-पश्चिम में राजस्थान के हनुमानगढ़ ज़िले में स्थित एक प्रमुख ऐतिहासिक स्थल है। यहाँ हड़प्पाकालीन संस्कृति से जुड़े कई प्राचीन अवशेष मिले हैं जैसे- पत्थर व कांच की चूड़ियाँ, मिट्टी के खिलौने, मवेशियों की हड्डियों के अवशेष, बैलगाड़ी की पहिये। यह स्थल हमें उस समय की राजनीतिक, आर्थिक व सामाजिक स्थिति की जानकारी प्रदान करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

    (v) गंगा सागरः पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना ज़िले में स्थित यह एक प्रमुख धर्मिक तीर्थ स्थान है। यहाँ पर गंगा नदी समुद्र में मिलती है, इसके अलावा इस स्थान पर कपिल मुनि का मंदिर भी स्थित है। इस स्थान को सागर द्वीप भी कहा जाता है। धार्मिक महत्त्व के अलावा इस द्वीप में ही रायल बंगाल टाइगर का प्राकृतिक आवास भी है। यहाँ मैंग्रोव के दलदल, जलमार्ग व नहरें भी हैं। इस प्रकार यह एक प्राकृतिक एवं पर्यावरणीय पर्यटन स्थल की दृष्टि से भी अत्यंत महत्त्वपूर्ण है। 

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close