IAS प्रिलिम्स ऑनलाइन कोर्स (Pendrive)
ध्यान दें:
उत्तर प्रदेश पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर (2019)65 वीं बी.पी.एस.सी संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा - उत्तर कुंजी.बी .पी.एस.सी. परीक्षा 63वीं चयनित उम्मीदवारअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.63 वीं बी .पी.एस.सी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा - अंतिम परिणामबिहार लोक सेवा आयोग - प्रारंभिक परीक्षा (65वीं) - 2019- करेंट अफेयर्सउत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) मुख्य परीक्षा मॉडल पेपर 2018यूपीएससी (मुख्य) परीक्षा,2019 के लिये संभावित निबंधसिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2019 - मॉडल पेपरUPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़Result: Civil Services (Preliminary) Examination, 2019.Download: सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा - 2019 (प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजी).

प्रीलिम्स फैक्ट्स

  • 18 Jul, 2019
  • 7 min read
प्रारंभिक परीक्षा

प्रीलिम्स फैक्ट्स: 18- 07- 2019

पाटा स्वर्ण पुरस्कार 2019

Pata Gold Award 2019

पाटा (पैसेफिक-एशिया ट्रैवल एसोसिएशन) स्वर्ण पुरस्कार 2019 [PATA (Pacific Asia Travel Association) Gold Award 2019] का विजेता भारत के अतुल्य भारत ‘फाइंड द इन्क्रेडेबल यू’ (Incredible India ‘Find the Incredible You’) अभियान को घोषित किया गया है।

  • एशिया-पैसेफिक क्षेत्र में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने में उत्कृष्ट योगदान देने के लिये पाटा स्वर्ण पुरस्कार दिया जाता है।
  • उल्लेखनीय है कि भारतीय पर्यटन मंत्रालय ने वर्ष 2018-19 के दौरान अतुल्य भारत ‘फाइंड द इन्क्रेडेबल यू’ अभियान विश्व स्तर पर जारी किया था।
  • पर्यटन मंत्रालय ‘अतुल्य भारत ब्रांड’ के तहत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रत्येक वर्ष मीडिया अभियान चलाता है। इस अभियान को टेलीवीज़न, प्रिंट, डिज़िटल और सोशल मीडिया में प्रसारित किया जाता है।
  • इस अभियान को आगे बढ़ाने के लिये अतुल्य भारत 2.0 अभियान को सितंबर 2017 में लॉन्च किया गया था।
  • इस अभियान की मुख्य विशेषता संभावित बाज़ार को ध्यान में रखते हुए कंटेंट का निर्माण करना था।
  • अभियान 2.0 के तहत मंत्रालय द्वारा पाँच नए टेलीविज़न कॉमर्शियल भी बनाए गए, जिन्हें टेलीविज़न, डिज़िटल और सोशल मीडिया पर विश्व भर में प्रसारित किया गया।
    • योगः ‘रेसट्रैक का योगी’
    • आरोग्यः ‘मिस्टर एंड मिसेज जोन्स का पुनर्जन्म’
    • विलासिताः ‘मैनहटन की महारानी’
    • खान-पानः ‘मसाला मास्टर शेफ’
    • वन्यजीवनः ‘पेरिस में वन्य संरक्षण क्षेत्र’
  • अभियान की रणनीति के तहत गंतव्य स्थलों के अनुभव के स्थान पर यात्रियों के अनुभव को विशेष महत्त्व दिया गया। यात्रियों के अनुभव को यात्रियों की आत्मकथा के रूप में सामने रखा गया। इसकी टैग लाइन थी- ‘फाइंड द इन्क्रेडेबल यू’

प्लूनेट्स

Ploonets

हाल ही में खगोलविदों ने एक ऐसे आकाशीय पिण्ड (‘प्लूनेट’) की खोज की है जो एक उपग्रह है। अभी तक किसी भी ग्रह से इसके संबंध का पता नहीं चल पाया है।

  • प्लेनेट + मून = प्लूनेट (Planet + moon = Ploonet)
  • शोधकर्त्ताओं के अनुसार, ग्रह एवं उसके चंद्रमा के बीच की कोणीय गति के परिणामस्वरूप चंद्रमा अपने मूल ग्रह के गुरुत्वाकर्षण प्रभाव से बच जाता है।
  • एक नए अध्ययन से पता चलता है कि गैस के विशाल भंडार वाले इन बाह्य ग्रहों के चंद्रमा अपनी स्वयं के कक्षाओं से विस्थापित हो सकते हैं।
  • अध्यायांकर्त्ताओं द्वारा जारी नए मॉडल के अनुसार, जैसे ही ये बाह्य ग्रह अपने सूर्य की ओर बढ़ते हैं उनके चंद्रमाओं की परिक्रमा अक्सर बाधित होती है।
  • वैज्ञानिकों के अनुमान के अनुसार, इन गैसों (जो बाह्य ग्रहों पर उपस्थित होती हैं) को अपने पैरेंट/मूल तारों के आस-पास की कक्षाओं में मौजूद होना चाहिये जिससे चंद्रमा या ग्रहों की कार्यप्रणाली प्रभावित न हो।

इंगर एंडरसन

डेनिश अर्थशास्त्री एवं पर्यावरणविद् सुश्री इंगर एंडरसन (IngerAndersen) को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (United Nations Environment Program-UNEP) की नई कार्यकारी निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।

  • सुश्री एंडरसन को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस द्वारा पद के लिये नामांकित किया गया था तथा फरवरी 2019 में महासभा द्वारा अनुमोदित किया गया था।
  • जनवरी 2015 और मई 2019 के बीच सुश्री एंडरसन इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) की महानिदेशक थी।
  • IUCN में शामिल होने से पहले सुश्री एंडरसन ने विश्व बैंक में महत्त्वपूर्ण पदों पर कार्यरत रहीं।
  • इन्होनें मध्य पूर्व एवं उत्तरी अफ्रीका के उपराष्ट्रपति, सतत् विकास के उपाध्यक्ष तथा अंतर्राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान केंद्र (CGIAR) कोष परिषद के प्रमुख के रूप में कार्य किया।
  • सुश्री एंडरसन ने 12 वर्षों के लिये संयुक्त राष्ट्र में भी काम किया है।

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम

United Nations Environment Program- UNEP

  • यह संयुक्त राष्ट्र की एक एजेंसी है।
  • इसकी स्थापना वर्ष 1972 में मानव पर्यावरण पर स्टॉकहोम में आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के दौरान हुई थी।
  • इस संगठन का उद्देश्य मानव पर्यावरण को प्रभावित करने वाले सभी मामलों में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ाना तथा पर्यावरण संबंधी जानकारी का संग्रहण, मूल्यांकन एवं पारस्परिक सहयोग सुनिश्चित करना है।
  • UNEP पर्यावरण संबंधी समस्याओं के तकनीकी एवं सामान्य निदान हेतु एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करता है। UNEP अन्य संयुक्त राष्ट्र निकायों के साथ सहयोग करते हुए सैकड़ों परियोजनाओं पर सफलतापूर्वक कार्य कर चुका है।
  • इसका मुख्यालय नैरोबी (केन्या) में है।

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close