18 जून को लखनऊ शाखा पर डॉ. विकास दिव्यकीर्ति के ओपन सेमिनार का आयोजन।
अधिक जानकारी के लिये संपर्क करें:

  संपर्क करें
ध्यान दें:
कला की दुनिया से

सत्यजित रे : साहित्यिक गरिमा की फिल्मों के महान सर्जक

02 Aug, 2023

सत्यजित रे पर लिखे अपने एक संस्मरण में हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार कुँवर नारायण ने लिखा है- " उनका( रे ) सिनेमा साहित्य के साथ अंतरंग विनिमय का अनोखा दस्तावेज़ है" । उनके इस...

कला की दुनिया से

कांतारा: डीह बाबा का आशीर्वाद है ये फिल्म

21 Oct, 2022

कल मैंने कांतारा फ़िल्म देखी। रात 11 बजे का शो था और थिएटर हाउसफुल था। साउथ की फ़िल्मों के लिये उत्तर भारत के लोगों में इतना दीवानापन, मैंने पहले कभी नहीं देखा था। सिनेमा हॉल से...

कला की दुनिया से

LGBTQIA+ समुदाय: एक विस्तृत चर्चा

07 Jul, 2022

यह बड़ी हैरान करने वाली बात है कि कैसे भारत अपने विकास के पथ में परंपराओं और संस्कृति को अक्षुण्ण बनाए रखने की एक अविश्वसनीय यात्रा कर रहा है। भारत की विविधता पुरी दुनिया...

कला की दुनिया से

बॉलीवुड में LGBTQIA+ का प्रतिनिधित्व

30 Jun, 2022

LGBTQIA+ क्या है? समलैंगिकों सहित विभिन्न कामुकता वाले लोग खुद को LGBTQIA+ समुदाय के रूप में संदर्भित करते हैं। इंटरनेट पर इससे संबंधित कईं प्रकार की परिभाषाएं देखने को मिलती हैं, जो...

कला की दुनिया से

सत्यजित रे : मानवीय मूल्यों के महान फिल्मकार

23 Apr, 2022

सत्यजीत रे अब नहीं हैं। उनकी फिल्में हैं। उनकी देखी दुनिया है और दुनिया को देखने के लिये उनकी ऑंखें हैं। एक भरा-पूरा रचनात्मक संसार है उनका। आज उनकी पुण्यतिथि भी है। आइये...

कला की दुनिया से

हिंदी साहित्य और सिनेमा का संबंध

10 Jan, 2022

सन 1913 भारतीय सिनेमा और भारतीय साहित्य के लिए एक उल्लेखनीय वर्ष है। इस वर्ष जहॉं एक तरफ गुरुदेव रविन्द्र नाथ टैगोर को उनकी महान कृति ‘गीतांजलि’ के लिए साहित्य का नोबल...

कला की दुनिया से

हिंदी सिनेमा को शेक्सपियर से परिचित कराने वाला फिल्मकार

16 Nov, 2021

कौन भरोसा करेगा कि जो फ़िल्मकार शेक्सपियर के नाटकों को रुपहले परदे में उतारने का हुनर रखता है वो पेशेवर क्रिकेटर हुआ करता था। यह दिलचस्प प्रसंग है फिल्मकार विशाल भारद्वाज...

कला की दुनिया से

किसने डिजाइन किया है अप्रतिम जेएनयू?

18 Sep, 2021

यह बात समझ से परे है कि जब किसी यूनिवर्सिटी की चर्चा होती है तो बात उसके नामवर अध्यापकों और सफल विद्यार्थियों से आगे क्यों नहीं बढ़ती? यही जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी...

कला की दुनिया से

तस्वीरें: ज़िंदगी के साथ भी, ज़िंदगी के बाद भी

19 Aug, 2021

तस्वीरें सुरक्षित रखने के लिए जाने हम कहाँ-कहाँ रखते हैं ताकि पानी उसे धुँधला ना कर सके; हवा उसे गंदा न कर सके; चोर वो तस्वीरें चुरा कर न ले जा सके, हमारी यादें हमारे साथ रहें,...

कला की दुनिया से

हिंदुस्तानी संगीत बढ़ाता है मन की एकाग्रता !

09 Aug, 2021

अक्सर हम एक कोलाहल में पढ़ते हैं। बाहर सड़क से ऑटो या ट्रक के गुजरने की आवाज, दूर किसी कुत्ते का भूँकना, पड़ोस के अंकल का गला खखारना, सब्जी वाले का पुकारना, दोस्तों का बतियाना...

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2