हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

स्टेट पी.सी.एस.

  • 28 Oct 2021
  • 0 min read
  • Switch Date:  
उत्तर प्रदेश Switch to English

मुख्यमंत्री ने गोंडा में 1,132 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शुभारंभ एवं मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया

Star marking (1-5) indicates the importance of topic.

चर्चा में क्यों?

27 अक्तूबर, 2021 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोंडा में 1,132 करोड़ रुपए लागत की 144 विकास और चिकित्सा परियोजनाओं का शुभारंभ किया तथा एक सरकारी मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखी।

प्रमुख बिंदु

  • मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मेडिकल कॉलेज में वर्ष 2022-23 तक प्रवेश प्रारंभ हो जाएगा।
  • इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण और शहरी) के लाभार्थियों को घरों की सांकेतिक चाबियाँ सौंपी और मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, कन्या सुमंगला योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन तथा कन्या विवाह सहायता योजना जैसी कल्याणकारी योजनाओं के तहत पात्र लाभार्थियों को लाभ भी दिया।
  • इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने राज्य के 45 लाख रुपए से अधिक गन्ना किसानों के लिये 1.44 लाख करोड़ रुपए का रिकॉर्ड भुगतान किया है।

उत्तर प्रदेश Switch to English

उत्तर प्रदेश विधानपरिषद के चार सदस्यों ने ली शपथ

Star marking (1-5) indicates the importance of topic.

चर्चा में क्यों?

27 अक्तूबर, 2021 को लखनऊ के विधानभवन में आयोजित एक समारोह में उत्तर प्रदेश विधान परिषद के चार नए सदस्यों को शपथ दिलाई गई। नए पदाधिकारियों में पूर्व कॉन्ग्रेस नेता जितिन प्रसाद भी शामिल हैं।

प्रमुख बिंदु

  • जितिन प्रसाद के अलावा, निषाद (निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल) पार्टी के प्रमुख संजय निषाद, चौधरी वीरेंद्र सिंह गुर्जर और गोपाल अंजन भुर्जी को विधानपरिषद के अध्यक्ष कुंवर मानवेंद्र सिंह ने शपथ दिलाई। इन चार सदस्यों को सितंबर में उत्तर प्रदेश विधायिका के उच्च सदन के लिये नामित किया गया था।
  • विदित हो कि निषाद पार्टी ने 2017 का विधानसभा चुनाव डॉ. मोहम्मद अयूब के नेतृत्व वाली पीस पार्टी के साथ गठबंधन में 72 सीटों पर लड़ा था और भदोही के ज्ञानपुर निर्वाचन क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार विजय मिश्रा ने जीत हासिल की थी।
  • उत्तर प्रदेश विधानपरिषद में कुल 100 सीटें हैं, जिनमें समाजवादी पार्टी के सर्वाधिक 48 और भाजपा के 33 सदस्य हैं। शेष सदस्य अन्य पार्टियों के हैं।

मध्य प्रदेश Switch to English

प्रथम हॉकी इंडिया जूनियर बालक इंटर अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनशिप, 2021

Star marking (1-5) indicates the importance of topic.

चर्चा में क्यों?

27 अक्तूबर, 2021 को मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए प्रथम हॉकी इंडिया जूनियर बालक इंटर अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनशिप, 2021 के खिताब पर कब्ज़ा जमा लिया है।

प्रमुख बिंदु

  • मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी ने फाइनल मुकाबले में राजा करण हॉकी अकादमी को 3-1 से हराकर लगातार दूसरा खिताब जीता। इससे पहले मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी ने प्रथम हॉकी इंडिया सब-जूनियर बालक इंटर अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम किया था। 
  • चैंपियनशिप में तीसरे स्थान के मुकाबले में नामधारी इलेवन ने राउंडग्लास पंजाब हॉकी अकादमी को 6-4 से पराजित किया।
  • विजेताओं को खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और पँश्री पुलेला गोपीचंद ने पुरस्कार वितरित किये। खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी के सब-जूनियर एवं जूनियर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिये दोनों टीम के प्रत्येक सदस्य को 15 हज़ार रुपए एवं 20 हज़ार रुपए के चेक प्रदान किये।
  • हॉकी इंडिया एवं खेल और युवा कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस चैंपियनशिप के मुकाबले मेजर ध्यानचंद स्टेडियम की नवनिर्मित टर्फ पर खेले गए।

मध्य प्रदेश Switch to English

स्टैंडिंग कमेटी

चर्चा में क्यों?

27 अक्तूबर, 2021 को सचिव, राज्य निर्वाचन आयोग बी.एस. जामोद ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021-22 में पारदर्शिता और निष्पक्षता के लिये ज़िलास्तर पर स्टैंडिंग कमेटी का गठन किया गया है।

प्रमुख बिंदु

  • स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्ष कलेक्टर एवं ज़िला निर्वाचन अधिकारी होंगे। पुलिस अधीक्षक, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, ज़िला पंचायत और निर्वाचन से जुड़े अधिकारी, जिन्हें ज़िला निर्वाचन अधिकारी आवश्यक समझें, इसके सदस्य होंगे।
  • ज़िलास्तर पर गठित कमेटी की बैठक निर्वाचन की अधिसूचना जारी होने के पूर्व (मतदान केंद्रों की सूची प्रकाशित होने के पूर्व) आयोजित की जाएगी। 
  • इसके अतिरिक्त कलेक्टर एवं ज़िला निर्वाचन अधिकारी, निर्वाचन प्रक्रिया से संबंधित किसी भी महत्त्वपूर्ण बिंदु पर चर्चा के लिये, जब भी चाहें स्टैंडिंग कमेटी की बैठक आयोजित कर सकते हैं।

मध्य प्रदेश Switch to English

दुष्यंत कुमार स्मृति पांडुलिपि संग्रहालय द्वारा वार्षिक अलंकरण की घोषणा

Star marking (1-5) indicates the importance of topic.

चर्चा में क्यों?

27 अक्तूबर, 2021 को दुष्यंत कुमार स्मृति पांडुलिपि संग्रहालय द्वारा वार्षिक अलंकरणों की घोषणा की गई। संग्रहालय के संरक्षक मनोज सिंह मीक और अशोक निर्मल ने इन स्मृति पुरस्कारों की घोषणा की।

प्रमुख बिंदु

  • संग्रहालय के निदेशक राजुरकर राज ने बताया कि मुरादाबाद के मशहूर गीतकार महेश्वर तिवारी को राष्ट्रीय दुष्यंत पुरस्कार से नवाज़ा जाएगा। 
  • राजुरकर राज ने बताया कि स्मृति सम्मान समारोह नवंबर के अंतिम सप्ताह में आयोजित होगा और राष्ट्रीय अलंकरण समारोह ‘प्रणाम-2021’ संग्रहालय के स्थापना दिवस 30 दिसंबर, 2021 को आयोजित किया जाएगा।
  • पुरस्कार के लिये घोषित व्यक्तियों के नाम हैं-
    • सुदीर्घ  साधना सम्मान (यतींद्रनाथ राही, भोपाल)
    • क्षेत्रीय भाषा सम्मान (पी.सी. लाल यादव, छत्तीसगढ़) 
    • कमलेश्वर सम्मान (वरिष्ठ साहित्यकार लक्ष्मीनारायण पयोधी) 
    • कन्हैयालाल नंदन सम्मान (बाल साहित्यकार उषा जायसवाल) 
    • बालकवि बैरागी सम्मान (वरिष्ठ कवि मनोहर पटेरिया मधुर)
    • विट्ठल भाई पटेल सम्मान (पत्रकार और परोपकारी राजेश गाबा प्रिंस) 
    • आर.एस. तिवारी सम्मान (शहडोल आयुक्त राजीव शर्मा (आईएएस))
    • राजेंद्र जोशी सम्मान (माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय के संजीव गुप्ता) 
    • डॉ. सुषमा तिवारी सम्मान (कवयित्री डॉ. मीनू पांडेय ‘नयन’)
    • डॉ. बाबूराव गुजरे सम्मान (लघुकथा केंद्र की कांता राय) 
    • अखिलेश जैन सम्मान (सेंट्रल बैंक के संजय लांबा) 
    • विजय शिरढोणकर सम्मान (‘समागम’ पत्रिका के संपादक मनोज कुमार) 
    • बृजभूषण शर्मा सम्मान (लेखिका एवं सामाजिक कार्यकर्त्ता जया आर्य)

छत्तीसगढ़ Switch to English

छत्तीसगढ़ शौर्य पदक

Star marking (1-5) indicates the importance of topic.

चर्चा में क्यों?

हाल ही में पुलिस मुख्यालय रायपुर ने बस्तर में नक्सल मोर्चे पर तैनात 7 पुलिसकर्मियों को ‘छत्तीसगढ़ शौर्य पदक’ से सम्मानित करने के संबंध में आदेश जारी किया।

प्रमुख बिंदु

  • नक्सल मोर्चे पर कामयाबी दिलाने वाले इन जांबाज जवानों को एक नवंबर को छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के मौके पर सम्मानित किया जाएगा।
  • सम्मानित होने वाले ये जवान पिछले कई वर्षों से नक्सलियों का सामना कर रहे हैं, नक्सल ऑपरेशन में कई बड़ी सफलताएँ दिलाई हैं तथा कई बड़े एनकाउंटर में शामिल होकर कई नक्सलियों को ढेर किया है।
  • इन जवानों में 2 दंतेवाड़ा में तथा 5 नारायणपुर ज़िले में पदस्थ हैं। इनमें एक सहायक उप-निरीक्षक, चार प्रधान आरक्षक और दो आरक्षक शामिल हैं।
  • सम्मानित होने वाले जवान हैं- सोमारू कड़ती (एएसआई, डीआरजी दंतेवाड़ा), केशर लाल सरोज (प्रधान आरक्षक, डीआरजी दंतेवाड़ा), बैसाखू राम सोम (प्रधान आरक्षक, नारायणपुर), पुनऊ राम दुग्गा (प्रधान आरक्षक, नारायणपुर), सकेंद्र कुमार नेताम (प्रधान आरक्षक, नारायणपुर), विवेक सिंह (आरक्षक, नारायणपुर) तथा रमेश कुमार अंधारे (आरक्षक, नारायणपुर)।
  • इससे पहले भी दंतेवाड़ा की डीआरजी टीम के जवानों को पुरस्कार मिल चुका है, जिसमें सबसे पहला नाम संजय पोटाम का आता है, जिनको राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजा गया था। 
  • उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ ‘शौर्य पदक’ प्रत्येक वर्ष छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस
    (1 नवंबर) को ड्यूटी के दौरान वीरतापूर्ण प्रदर्शन करने वाले राज्य पुलिस के जवानों को प्रदान किया जाता है। शौर्य पदक को मरणोपरांत भी प्रदान किया जाता है।
  • यह शौर्य पदक कांसे का बना होता है, जिसके आगे के भाग में राज्य का प्रतीक चिह्न तथा पीछे के भाग में राजकीय वृक्ष ‘साल’ का चित्र अंकित होता है।

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page