हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

उत्तर प्रदेश स्टेट पी.सी.एस.

  • 23 May 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
उत्तर प्रदेश Switch to English

उत्तर प्रदेश में बागवानी और खाद्य प्रसंस्करण को बढ़ावा देने के लिये उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना

चर्चा में क्यों?

22 मई, 2022 को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी एक प्रेस रिलीज़ के अनुसार राज्य में बागवानी और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग को बढ़ावा देने के लिये अगले पाँच वर्षों में सभी 75 ज़िलों में उत्कृष्टता केंद्र और मिनी उत्कृष्टता केंद्र/हाई-टेक नर्सरी स्थापित की जाएगी।

प्रमुख बिंदु

  • बहराइच, अंबेडकर नगर, मऊ, फतेहपुर, अलीगढ़, रामपुर और हापुड़ में सरकार द्वारा स्थापित ये हाई-टेक नर्सरी पहले ही चालू हो चुकी हैं जबकि चंदौली, कौशांबी, सहारनपुर, लखनऊ, कुशीनगर और हापुड़ में उत्कृष्टता केंद्र निर्माणाधीन हैं।
  • फलों और सब्ज़ियों के लिये क्रमश: बस्ती और कन्नौज में इंडो-इज़राइल सेंटर फॉर एक्सीलेंस की स्थापना की गई है ताकि किसानों को गुणवत्तायुक्त पौधे मिल सकें।
  • वहीं सोनभद्र, मुरादाबाद, आगरा, संत कबीर नगर, महोबा, झाँसी, बाराबंकी, लखनऊ, चंदौली, गोंडा, बलरामपुर, बदायूँ, फिरोज़ाबाद, शामली और मिर्ज़ापुर में मिनी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस/हाई-टेक नर्सरी निर्माणाधीन हैं।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने बागवानी फसलों की खेती के क्षेत्र को6 प्रतिशत से बढ़ाकर 16 प्रतिशत करने तथा फलों, सब्ज़ियों और मसालों के प्रसंस्करण के साथ-साथ समग्र उपज बढ़ाने के लिये खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों को 6 प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का महत्त्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है।
  • उल्लेखनीय है कि पिछले पाँच वर्षों में फूलों और सब्ज़ियों की पैदावार बढ़ाने के लिये 177 हेक्टेयर में पॉली हाउस/शेड नेट का विस्तार किया गया है, जिससे 5,549 किसान लाभान्वित हुए हैं।

उत्तर प्रदेश Switch to English

मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना

चर्चा में क्यों?

22 मई, 2022 को कालीबेरी खान दुर्घटना में मृतक आश्रित बीमित परिवार को मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना के तहत 5 लाख रुपए की सहायता स्वीकृत कर योजना का पहला प्रकरण जोधपुर में निस्तारित किया गया।

प्रमुख बिंदु 

  • इया योजना के तहत पंजीकृत राज्य के परिवारों को 10 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा, 5 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा और परिवार की महिला मुखिया को मुख्यमंत्री डिजिटल सेवा योजना के तहत तीन साल की इंटरनेट कनेक्टिविटी के साथ स्मार्टफोन मिलेगा।
  • योजना के तहत लीवर, हार्ट, किडनी, बोनमेरो ट्रांसप्लांट और कॉकलियर इंप्लांट जैसे महँगे इलाज भी नि:शुल्क उपलब्ध हैं।
  • उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा बजट वर्ष 2022-23 में ‘मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजन’की घोषणा की गई थी, जिसे 1 मई, 2022 से लागू किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश Switch to English

आमागढ़ लेपर्ड रिज़र्व

चर्चा में क्यों?

22 मई, 2022 को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अंतर्राष्ट्रीय जैव-विविधता दिवस पर मुख्यमंत्री निवास से आमागढ़ लेपर्ड रिज़र्व का उद्घाटन किया।

प्रमुख बिंदु

  • अरावली पर्वत श्रृंखलाओं पर स्थित आरक्षित वन खंड आमागढ़ 1524 हेक्टेयर में फैला हुआ वन क्षेत्र है। प्रदेश के पहले लेपर्ड रिज़र्व झालाना व नाहरगढ़ अभयारण्य के मध्य में स्थित होने के कारण यह वन्य जीव संरक्षण एवं कॉरिडोर विकास की दृष्टि से अत्यंत महत्त्वपूर्ण है।
  • इस वन क्षेत्र में लगभग 15 लेपर्ड हैं, इसके अलावा माँसाहारी वन्य जीवों में मुख्यत: हायना, जैकाल, जंगली बिल्ली, लोमड़ी व सीवेट कैट हैं। शाकाहारी वन्य प्राणियों में साँभर, नीलगाय, खरगोश आदि वन्य प्राणी हैं।
  • यह वन क्षेत्र एक उष्णकटिबंधीय, मिश्रित/पतझड़ /मानसूनी वन क्षेत्र है। यहाँ मुख्यत: रेतीले प्लेन एरिया में टोटलिस, कुमठा, खेजड़ी पहाड़ी की ढलान पर धौंक, सालर, गोया खैर आदि वनस्पतियाँ मौजूद हैं।
  • गौरतलब है कि विभाग द्वारा प्रोजेक्ट लेपर्ड के तहत वन्य जीव संरक्षण के क्षेत्र में किये गए प्रयासों के फलस्वरूप वर्ष 2017 के पश्चात् झालाना लेपर्ड रिज़र्व में लगातार लेपर्ड्स की संख्या बढ़ती जा रही है। वर्ष 2018 में जहाँ लेपर्ड्स की संख्या करीब 20 थी, वहीं वर्तमान में संपूर्ण क्षेत्र में लेपर्ड्स की कुल संख्या करीब 40 है।

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page