हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

मध्य प्रदेश स्टेट पी.सी.एस.

  • 18 Jan 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
मध्य प्रदेश Switch to English

प्रदेश के दो नेशनल पार्क में एयर सफारी

चर्चा में क्यों?

17 जनवरी, 2022 को निजी एयरो स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर्स कंपनी के सीईओ मनीष सैनी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को प्रदेश के दो राष्ट्रीय उद्यानों- कान्हा और बांधवगढ़ में एयर सफारी प्रारंभ करने के संबंध में जानकारी दी। साथ ही मुख्यमंत्री को एयर सफारी सेवा के शुभारंभ के लिये आमंत्रण भी दिया।

प्रमुख बिंदु

  • सैनी ने बताया कि पहली बार एयर सफारी की योजना क्रियान्वित होगी। इसके लिये 2 से 14 सीटर के एयर क्रॉफ्ट उपयोग में लिये जाएंगे, जिनका निर्माण भी मध्य प्रदेश में हो, इसके प्रयास किये जा रहे हैं। 
  • विमानन विभाग के सहयोग से आगामी दो माह में इसकी शुरुआत की योजना है। साथ ही प्रथम स्पोर्ट्स एयर क्रॉफ्ट एयर शो पर भी विचार किया जा रहा है।
  • मुख्यमंत्री ने इस पहल की प्रशंसा करते हुए आशा व्यक्त की कि कोविड की लहर थमते ही पर्यटन की गतिविधियों का विस्तार होगा और तब बांधवगढ़ नेशनल पार्क एवं कान्हा नेशनल पार्क के भ्रमण के लिये आने वाले पर्यटक हवाई पर्यटन का आनंद भी ले सकेंगे।

मध्य प्रदेश Switch to English

उमरिया डुंगरिया औद्योगिक क्षेत्र के लिये बना अति उच्च दाब सब-स्टेशन बरगी हुआ ऊर्जीकृत

चर्चा में क्यों?

17 जनवरी, 2022 को मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बताया कि जबलपुर क्षेत्र में औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा देने हेतु मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने बरगी क्षेत्र के चंदेरी ग्राम में 132 के.वी. के नए अति उच्च दाब सब-स्टेशन को ऊर्जीकृत कर दिया है। 

प्रमुख बिंदु

  • इस सब-स्टेशन के प्रारंभ हो जाने से जबलपुर के उमरिया डुंगरिया औद्योगिक क्षेत्र को काफी फायदा मिलेगा। साथ ही उमरिया डुंगरिया में फेस-एक, फेस-दो और फेस-तीन के प्रस्तावित उद्योगों के लिये विद्युत की सहज उपलब्धता रहेगी।
  • अब उमरिया डुंगरिया के साथ ही मानेगाँव क्षेत्र के क्रेशर, बरगी और चरगंवा क्षेत्र के घरेलू एवं कृषि उपभोक्ताओं को उचित वोल्टेज में गुणवत्तापूर्ण बिजली मिलेगी।
  • पहले इस औद्योगिक क्षेत्र सहित बरगी एवं चरगंवा क्षेत्र में मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के 2 फीडर से विद्युत आपूर्ति की जाती थी। अब बरगी सब-स्टेशन के प्रारंभ हो जाने से 6 फीडर से बिजली मिलेगी।
  • कंपनी के उमरिया डुंगरिया क्षेत्र में अब दो अति उच्च दाब सब-स्टेशनों से विद्युत सप्लाई का दोहरा विकल्प उपलब्ध रहेगा- एक 220 के.वी. जबलपुर से तथा दूसरा सीधे बरगी पावर हाउस से।
  • बरगी (चंदेरी) में सब-स्टेशन बनने से 33 के.वी. लाइनों की लंबाई भी कम होगी। जो पहले 40 कि.मी. थी, वो अब घटकर 12 कि.मी. की हो गई है। इससे उपभोक्ताओं को कम वोल्टेज पर सप्लाई की समस्याओं से छुटकारा तो मिलेगा ही, साथ ही घने जंगल और नर्मदा क्रॉसिंग के कारण विद्युत सुधार कार्य में आसानी होगी।
  • उमरिया डुंगरिया में 33 के.वी. के 2, 11 के.वी. के 6 तथा निम्न दाब के 60 उपभोक्ताओं के औद्योगिक कनेक्शन हैं। इन्हें प्रत्यक्ष रूप से फायदा तो मिलेगा ही, इसके अलावा तकरीबन 147 गाँवों के करीब 25 हज़ार 650 उपभोक्ता भी लाभान्वित होंगे।
  • 132 के.वी. बरगी (चंदेरी) के ऊर्जीकृत होने से जबलपुर ज़िले की पारेषण क्षमता में वृद्धि हुई है। जबलपुर ज़िले में अब 220 के.वी. के 4 तथा 132 के.वी. के 9 सब-स्टेशन हो गए हैं।
  • मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी का यह प्रदेश में 404वाँ अति उच्च दाब केंद्र है। प्रदेश में इस समय ट्रांसमिशन कंपनी के 400 के.वी. के 14 सब-स्टेशन, 220 के.वी. के 84 सब-स्टेशन तथा 132 के.वी. के 306 सब-स्टेशन क्रियाशील हैं। 

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page