दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

बिहार स्टेट पी.सी.एस.

  • 04 Oct 2023
  • 0 min read
  • Switch Date:  
बिहार Switch to English

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार कारा उद्योग के ब्रांड ‘मुक्ति’ का किया अनावरण

चर्चा में क्यों?

  • 3 अक्तूबर, 2023 को पटना के सरदार पटेल भवन स्थित संग्रहालय में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कारा उद्योग के ब्रांड ‘मुक्ति’ का अनावरण किया।

प्रमुख बिंदु

  • संग्रहालय में जेल में कैदियों द्वारा निर्मित सामग्री की प्रदर्शनी भी लगाई गई। बिहार की जेलों में बंद कैदी 100 से अधिक सामग्री का निर्माण कर रहे हैं।
  • इसमें मसाला, सत्तू, ब्रेड, हर्बल चाय, सूती वस्त्र, खादी वस्त्र, काष्ठ उद्योग, हस्तशिल्पमुद्रण सामग्री, चप्पल उद्योग, होम केयर, खाद्य, लौह, कागज़ आदि सामग्री का उत्पादन किया जाता है।
  • इस समय बिहार की 8 केंद्रीय व 2 मंडल काराओं (कुल 10 जेलों) में कारा उद्योग संचालित हैं। इसके द्वारा करीब 1000 सश्रम सज़ावार बंदियों को रोज़गार प्राप्त हो रहा है। इसके लिये बंदियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है।
  • बिहार की जेलों में ‘एक जेल-एक उत्पाद’ की योजना पर काम हो रहा है। इस योजना में 33 मंडल कारा और 17 उप काराओं को शामिल करने की योजना है। यहाँ कारा उद्योग स्थापित किया जाएगा।
  • कारा महानिरीक्षक ने बताया कि कारा उद्योग द्वारा निर्मित उत्पादों की बिक्री से प्राप्त राजस्व को बंदियों के अपराध से पीड़ित परिवार के कल्याणार्थ खर्च किया जाता है, साथ ही इसका कुछ हिस्सा बंदी कल्याण कोष में जाता है।
  • प्रदर्शनी में आदर्श केंद्रीय कारा, बेऊर, पटना, केंद्रीय कारा, बक्सर, केंद्रीय कारा, मोतिहारी, शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा, मुज़फ्फरपुर, शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा, भागलपुर, विशेष केंद्रीय कारा, भागलपुर, केंद्रीय कारा, गया, शिविर मंडल कारा, फुलवारीशरीफ एवं मंडल कारा, छपरा से बंदियों द्वारा निर्मित विभिन्न सामग्रियों को प्रदर्शित किया गया है।

  


 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2