हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:
झारखण्ड संयुक्त असैनिक सेवा मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा 2016 -परीक्षाफलछत्तीसगढ़ पीसीएस प्रश्नपत्र 2019छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा, 2019 (महत्त्वपूर्ण अध्ययन सामग्री).छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. प्रारंभिक परीक्षा – 2019 सामान्य अध्ययन – I (मॉडल पेपर )UPPCS मेन्स क्रैश कोर्स.
हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स (Hindi Literature: Pendrive Course)
मध्य प्रदेश पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा , 2019 (महत्वपूर्ण अध्ययन सामग्री)मध्य प्रदेश पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर.Download : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) प्रारंभिक परीक्षा 2019 - प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजीअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.UPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़

डेली अपडेट्स

जीव विज्ञान और पर्यावरण

एकल उपयोग वाले प्‍लास्टिक पर प्रतिबंध लगाएगी भारतीय रेलवे

  • 24 Aug 2019
  • 4 min read

संदर्भ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर दिये गये भाषण में 02 अक्‍तूबर, 2019 से देश में प्‍लास्टिक के उपयोग पर रोक लगाने के आह्वान को ध्‍यान में रखते हुए भारतीय रेलवे ने एकल उपयोग वाले प्लास्टिक (Single Use Plastic) पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है।

एकल-उपयोग वाले प्लास्टिक या डिस्पोज़ेबल प्लास्टिक (Disposable Plastic) ऐसे प्लास्टिक हैं जिन्हें फेंकने या पुनर्नवीनीकरण से पहले केवल केवल एक बार ही उपयोग किया जाता है। जैसे- प्लास्टिक की थैलियाँ, स्ट्रॉ, सोडा और पानी की बोतलें तथा अधिकांशतः खाद्य पैकेजिंग के लिये प्रयुक्त होने वाली प्लास्टिक।

प्रमुख बिंदु

  • पर्यावरण को प्‍लास्टिक के खतरे से बचाने के लिये रेलवे द्वारा इस पहल की शुरुआत की जाएगी।
  • रेल मंत्रालय ने रेलवे की सभी यूनिटों को 02 अक्तूबर से 50 माइक्रॉन से कम मोटाई वाले एकल उपयोग प्‍लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश दिया है।
  • प्‍लास्टिक के कचरे के सृजन को न्‍यूनतम स्‍तर पर लाने और इसके पर्यावरण अनुकूल निपटान की व्‍यवस्‍था करने पर विशेष ज़ोर दिया जा रहा है।
  • इस संबध में रेल मंत्रालय ने एक सर्कुलर जारी कर निम्‍नलिखित निर्देशों को लागू करने की बात कही है:
    • एकल या एकबारगी उपयोग वाली प्‍लास्टिक सामग्री पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।
    • सभी रेलवे वेंडरों को प्‍लास्टिक के बैग का उपयोग करने से बचना होगा।
    • कर्मचारियों को प्‍लास्टिक उत्‍पादों का उपयोग कम करना चाहिये, प्‍लास्टिक उत्‍पादों का पुनर्चक्रण (Recycling) कर इनका फिर से इस्‍तेमाल करना चाहिये। साथ ही फिर से उपयोग में लाए जा सकने वाले सस्‍ते थैलों का उपयोग करना चाहिये ताकि प्‍लास्टिक के स्‍टॉक में कमी आ सके।
    • IRCTC (Indian Railway Catering and Tourism Corporation) विस्‍तारित उत्‍पादक के रूप में ज़िम्‍मेदारी निभाते हुए पेयजल की पैकिंग के लिये उपयोग की जाने वाली प्‍लास्टिक से निर्मित बोतलों को लौटाने की व्यवस्था को लागू करेगा।
    • प्‍लास्टिक की बोतलों को पूरी तरह तोड़ देने वाली मशीनें जल्द से जल्‍द उपलब्‍ध कराई जाएंगी।

2 अक्तूबर, 2019 से इन निर्देशों का सख्ती से पालन किया जाएगा ताकि सभी संबंधित लोगों को ‘प्‍लास्टिक मुक्‍त रेलवे’ (Plastic Free Railway) सुनिश्चित करने हेतु पूरी तैयारी करने के लिये पर्याप्‍त समय मिल सके।

स्रोत: पी.आई.बी.

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close