दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


अंतर्राष्ट्रीय संबंध

बोस्फोरस स्ट्रेट का बदला रंग

  • 15 Jun 2017
  • 2 min read

संदर्भ
हाल ही में बोस्फोरेस स्ट्रेट के रंग का अचानक नीले रंग से चमकदार फ़िरोज़ी रंग में परिवर्तित हो जाने की घटना ने लोगों के साथ-साथ पर्यावरणविदों को भी आश्चर्य में डाल दिया है। उल्लेखनीय है कि बोस्फोरस स्ट्रेट यूरोप और एशिया महाद्वीपों को विभाजित करती है। 

महत्त्वपूर्ण बिंदु

  • वैज्ञानिकों ने इसका कारण काला सागर के पास प्लवक की एक प्रजाति के बढ़ने को माना है। जबकि किसी ने भूकंप तो किसी ने प्रदूषण को इसका कारण बताया। 
  • वैज्ञानिकों ने इसका कारण सूक्ष्म जीव एमिलियानिया हक्स्लेय (Emiliania huxleyi) की संख्या में वृद्धि बताया, जिसे एहस (Ehux) भी कहा जाता है। उन्होंने कहा कि इसका प्रदूषण से कोई लेना-देना नहीं है। एन्काविस (Anchovies) को पादप प्लवक और छोटी मछलीयाँ भोजन के रूप में ग्रहण करते हैं। अत: इसकी संख्या में वृद्धि एक अच्छी बात है।
  • वैज्ञानिकों ने काला सागर के पास एमिलिया हक्सलेय की इस विस्फोट संख्या को काला सागर के लिये एक वरदान माना। 
  • इस बदले रंग को नासा के टेरा सैटेलाइट द्वारा भी कैप्चर किया गया था।
  • नासा ने भी इस रंग परिवर्तन का कारण कोकोलिओथोफोर (coccolithophore) नामक फाइटप्लेन्कटन की संख्या में वृद्धि को माना। एमिलानिया हक्स्लेय भी कोकोलिओथोफोर की एक प्रजाति है।  

 बोस्फोरेस स्ट्रेट

  • पश्चिमी तुर्की में अवस्थित यह एक अंतर्राष्ट्रीय जलमार्ग है। 
  • यह एक संकीर्ण एवं प्राकृतिक जलसंधि है। 
  • यह काला सागर को मरमारा सागर से जोड़ता है। 
  • यह अंतर्राष्ट्रीय नैविगेशन के लिये उपयोग की जाने वाली विश्व की सबसे छोटी जलसन्धि  है।
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2