दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

स्टेट पी.सी.एस.

  • 30 Sep 2023
  • 0 min read
  • Switch Date:  
उत्तर प्रदेश Switch to English

उत्तर प्रदेश ने स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत हासिल किया 100% ओडीएफ प्लस कवरेज

चर्चा में क्यों?

  • 28 सितंबर, 2023 को उत्तर प्रदेश ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) चरण II के अंतर्गत 100% ओडीएफ प्लस कवरेज हासिल किया है।

प्रमुख बिंदु

  • उत्तर प्रदेश के सभी 95,767 गाँवों, यानी मिशन के चरण II के तहत  100 % गाँवों ने ओडीएफ प्लस का दर्जा हासिल कर लिया है। ओडीएफ प्लस गाँव वह है, जिसने ठोस या तरल अपशिष्ट प्रबंधन प्रणालियों को लागू करने के साथ-साथ अपनी खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) स्थिति को बनाए रखा है।
  • अभी तक, देश भर में 4.4 लाख (75%) गाँवों ने खुद को ओडीएफ प्लस घोषित कर दिया है, जो 2024-25 तक स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) चरण II के लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में एक महत्त्वपूर्ण कदम है।
  • चालू वित्तीय वर्ष में 1 जनवरी, 2023 तक उत्तर प्रदेश में केवल 15,088 गाँव थे, जिन्हें ओडीएफ प्लस घोषित किया गया था। केवल 9 महीने की छोटी-सी अवधि में, राज्य ने मिशन मोड में ओडीएफ प्लस हासिल करने के लिये प्रयास किये।
  • पिछले 9 महीनों में 80,000 से अधिक गाँवों ने ओडीएफ प्लस का दर्जा हासिल किया और इस त्वरित गति के परिणामस्वरूप ओडीएफ प्लस की समयबद्ध उपलब्धि हासिल हुई।
  • पंचायत स्तर पर क्षमता निर्माण और साइट पर सहायता, तेजी से कार्यान्वयन के लिये प्रमुख कारक थे।
  • 95,767 ओडीएफ प्लस गाँवों में से 81,744 गाँव ठोस अपशिष्ट प्रबंधन या तरल अपशिष्ट प्रबंधन की व्यवस्था के साथ ओडीएफ प्लस महत्त्वाकांक्षी गाँव हैं, 10,217 गाँव ठोस अपशिष्ट प्रबंधन और तरल अपशिष्ट प्रबंधन दोनों की व्यवस्था के साथ ओडीएफ प्लस उभरते गाँव हैं और 3,806 गाँव ओडीएफ हैं।
  • ओडीएफ प्लस मॉडल गाँव वह है, जो अपनी ओडीएफ स्थिति को बनाए रखे हुए है और इसमें ठोस अपशिष्ट प्रबंधन और तरल अपशिष्ट प्रबंधन दोनों की व्यवस्था है तथा दृश्य स्वच्छता का निरीक्षण करता है, यानी न्यूनतम कूड़ा, न्यूनतम स्थिर अपशिष्ट जल, सार्वजनिक स्थानों पर कोई प्लास्टिक कचरा डंप नहीं करना और जहाँ ओडीएफ प्लस सूचना, शिक्षा और संचार (आईईसी) संदेश प्रदर्शित किये जाते हैं।

  


बिहार Switch to English

भागलपुर में द्वितीय बैडमिंटन प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का हुआ आगाज़

चर्चा में क्यों?

  • 28 सितंबर, 2023 को बिहार राज्य खेल प्राधिकरण द्वारा भागलपुर में स्थित इंडोर स्टेडियम में द्वितीय बैडमिंटन प्रतिभा खोज प्रतियोगिता की शुरुआत हुई।

प्रमुख बिंदु

  • यह कार्यक्रम 30 सितंबर तक चलेगा। इसमें राज्य के विभिन्न ज़िलों के 240 से ज़्यादा खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।
  • भागलपुर स्थित इंडोर स्टेडियम में द्वितीय बैडमिंटन प्रतिभा कार्यक्रम अंडर-15, अंडर-17 और अंडर-19 बालक एवं बालिका प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा।
  • ज़िला खेल पदाधिकारी जयनारायण कुमार ने बताया कि चयनित खिलाड़ियों को बिहार राज्य खेल प्राधिकरण द्वारा हैदराबाद में संचालित गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी में प्रशिक्षण दिलाया जाएगा।
  • पहले दिन खेले गए मुकाबले में अंडर-15 बालिका वर्ग में समस्तीपुर की अंशिका आर्य विजेता बनीं। लखीसराय की यशिका आनंद उपविजेता रहीं। अंडर-17 बालिका वर्ग में खगड़िया की शिवांगी कुमारी विजेता और मधुबनी की रिया कुमारी उपविजेता बनीं।

 


राजस्थान Switch to English

राज्यपाल ने खोले के हनुमानजी रोप-वे का किया लोकार्पण

चर्चा में क्यों?

  • 28 सितंबर, 2023 को राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने जयपुर स्थित खोले के हनुमान जी मंदिर में रोप-वे का लोकार्पण किया।

प्रमुख बिंदु

  • यह रोप-वे खोले के हनुमान जी मंदिर स्थित अन्नपूर्णा माता मंदिर से वैष्णो देवी माता मंदिर तक के लिये बना है। इसके बनने से यहाँ धार्मिक पर्यटन को गति मिलेगी।
  • विदित है कि खोले के हनुमान जी का यह स्थल तपोभूमि है। संत निर्मल दास जी महाराज ने इस स्थल पर तपस्या की थी और पंडित राधेश्याम चौबे द्वारा यहाँ मंदिर निर्माण कार्य किये गए थे।
  • 1961 में पंडित राधेलाल चौबे ने मंदिर के विकास के लिये नरवर आश्रम सेवा समिति की स्थापना की।
  • मंदिर के इतिहास के बारे में :
    • 60 के दशक में शहर की पूर्वी पहाड़ियों की खोह में बहते बरसाती नाले और पहाड़ों के बीच निर्जन स्थान में जंगली जानवरों के डर से शहरवासी यहाँ का रुख भी नहीं कर पाते थे, तब एक साहसी ब्राह्मण ने इस निर्जन स्थान का रुख किया और यहाँ पहाड़ पर लेटे हुए हनुमानजी की विशाल मूर्ति खोज निकाली।
    • इस निर्जन जंगल में भगवान को देख ब्राह्मण ने यहीं पर मारुती नंदन श्री हनुमान जी की सेवा-पूजा करनी शुरू कर दी और प्राणांत होने तक उन्होंने वह जगह नहीं छोड़ी।
    • जब यह स्थान निर्जन था, तब पहाड़ों की खोह से यहाँ बरसात का पानी खोले के रूप में बहता था, इसीलिये मंदिर का नाम खोले के हनुमानजी पड़ा।

 


राजस्थान Switch to English

जन-स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने हवामहल ज़ोन में 61 करोड़ रुपए के 6 विकास एवं सौंदर्य कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास किया

चर्चा में क्यों?

  • 28 सितंबर, 2023 को राजस्थान के जन-स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. महेश जोशी ने हवामहल ज़ोन में जयपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा 61 करोड़ 40 लाख रुपए की लागत से कराए जा रहे 6 विकास एवं सौंदर्य कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया।

प्रमुख बिंदु

  • इन विकास एवं सौंदर्य कार्यों में डिग्री कॉलेज, चिकित्सालय, अग्निशमन केंद्र, चौगान स्टेडियम एवं डेकोरेटिव लाइट्स के कार्य शामिल हैं।
  • जन-स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने संतोष कॉलोनी, कंवर नगर, ब्रह्मपुरी में 13.86 करोड़ रुपए की लागत से जयपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा नवनिर्मित राजकीय डिग्री कॉलेज का लोकार्पण कर आमजन को समर्पित किया। डिग्री कॉलेज खुलने से अब इस क्षेत्र के सभी विधार्थियों व उनके अभिभावकों को सहूलियत होगी।
    • इस कॉलेज का भूमि क्षेत्र न्यूनतम 13580 वर्ग मीटर है, जिसमें नए कॉलेज भवन का निर्माण, ऑडिटोरियम भवन का निर्माण एवं खेल सुविधाओं का निर्माण किया गया है।
  • हवा महल विधानसभा क्षेत्र की मुख्य सड़कों पर स्मार्ट डेकोरेटिव पोल लगाने का कार्य 2.57 करोड़ रुपए की लागत से किया जाएगा, जिसमें 9 मीटर एवं 5 मीटर ऊँचाई वाले डबल आर्म पोल लगाए जा रहे हैं। यह पोल जयपुर के हेरिटेज के अनुसार निर्मित करवाए गए हैं, जिससे विद्युत का खर्च भी कम होगा।
    • परियोजना के अंतर्गत यह स्मार्ट डेकोरेटिव पोल जोरावर सिंह गेट से जल महल, झूलेलाल मंदिर से राजमल का तालाब, पर्यटन थाना से काले हनुमान जी रोड, कर्बला दरगाह से पुराना बस स्टैंड आदि स्थानों पर लगाए जाएंगे।
  • 300 बेड के पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय का निर्माण 44.61 करोड़ रुपए की लागत से 6000 वर्ग मीटर क्षेत्र में गणगौरी बाज़ार में किया जा रहा है। इस अस्पताल भवन परिसर में अग्निशमन केंद्र का कार्य कर उसका लोकार्पण किया गया है।
  • उक्त चिकित्सालय के होने से महिला रोग, कॉर्डियोलॉजी, अस्थि रोग, न्यूरोलॉजी, सर्जरी, यूरोलॉजी, डेंटिस्ट्री के साथ आँख, नाक, गले व अन्य विशेषज्ञ चिकित्सा सेवाओं का आमजन को लाभ मिल सकेगा।


हरियाणा Switch to English

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मज़बूत होगा नेटवर्क, सात विवि. के साथ हुआ एमओयू

चर्चा में क्यों?

  • 27 सितंबर, 2023 को इंडोनेशिया के बाटम शहर में ब्लैंडेड मोड में आयोजित 29वीं आईएमटी-जीटी बैठक के दौरान हरियाणा के कुरुक्षेत्र ज़िले में स्थित कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय (कुवि) का सात प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों के साथ समझौता (एमओयू) हुआ।

प्रमुख बिंदु

  • कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय (कुवि) के कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं।
  • इस समझौते में इंडोनेशिया के छह विश्वविद्यालय यूनिवर्सिटास सियाह कुआला, यूनिवर्सिटास लैंपुंग, यूनिवर्सिटास मैरिटिम राजा अली हाजी, यूनिवर्सिटास सुमाटेरा उतरा, यूनिवर्सिटास जंबी, और यूनिवर्सिटास रियाउ शामिल हैं।
  • इसके अतिरिक्त मलेशिया का एक विश्वविद्यालय, यूनिवर्सिटी टेक्नोलॉजी मारा भी इस समझौता का हिस्सा बना है।
  • कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय (कुवि) इन सात प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों के साथ अकादमिक साझेदारी कर एक मज़बूत नेटवर्क स्थापित करेगा, जिससे छात्र और संकाय के सदस्य आदान-प्रदान कर सकेंगे।
  • यह समझौता कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के इंडोनेशिया-मलेशिया-थाईलैंड ग्रोथ ट्राइएंगल यूनिवर्सिटी नेटवर्क (आईएमटी-जीटी यूनीनेट) के साथ एक महत्त्वपूर्ण अकादमिक भागीदारी स्थापित करेगा। आईएमटी यूनिनेट नेटवर्क में तीन देशों के 27 विश्वविद्यालय शामिल हैं।
  • इन एमओयू के माध्यम से, कुवि, आईएमटी-जीटी और देश के बीच सहयोग की परियोजनाओं और कार्यक्रमों के कार्यान्वयन में तेजी लाने वाला देश का पहला विश्वविद्यालय बन गया है।
  • इस अवसर पर कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने कहा कि विश्वविद्यालय के लिये शैक्षणिक उत्कृष्टता और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के लिये एक नए युग की शुरुआत की गई है। इन एमओयू से नई राहें मिलेंगी, जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुरूप हमारे छात्रों के लिये उच्च शिक्षा के अंतर्राष्ट्रीयकरण में सक्रिय रूप से शामिल होने के कई अवसर प्रदान करेंगी।
  • इस समझौते के दौरान मलेशिया में देश के उच्चायुक्त बी.एन. रेड्डी, प्रो.टीएस, डॉ. हाजा रोजिया मोहम्मद, जनोर और इंडोनेशिया तथा मलेशिया के सात भागीदार विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने भागीदारी की।


हरियाणा Switch to English

अंबाला के सरबजोत ने एशियन गेम्स में जीता स्वर्ण पदक

चर्चा में क्यों?

  • 28 सितंबर, 2023 को चीन के हांगझोउ में चल रहे 19वें एशियन गेम्स के 5वें दिन हरियाणा के अंबाला ज़िले के गाँव धीन के रहने वाले सरबजोत सिंह ने शूटिंग में स्वर्ण पदक जीता।

प्रमुख बिंदु

  • एशियन गेम्स में सरबजोत सिंह व उसके दो अन्य साथियों अर्जुन चीमा और शिव नरवाल की तिकड़ी ने 10 मीटर पिस्टल मेंस इवेंट में 1734 स्कोर के साथ गोल्ड जीता।
  • पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में वियतनाम के फाम क्वांग हुई ने स्वर्ण, रिपब्लिक ऑफ कोरिया के वोन्हो ली ने रजत और उज्बेकिस्तान के व्लादिमीर स्वेचनिकोव ने कांस्य पदक जीता।
  • सरबजोत 199.0 के स्कोर के साथ चौथे स्थान पर रहे, वहीं अर्जुन चीमा 113.3 के स्कोर के साथ आठवें स्थान पर रहे।
  • विदित है कि सरबजोत छावनी के फिनिक्स क्लब में अभिषेक राणा की शूटिंग अकादमी में प्रशिक्षण ले रहे हैं। सरबजोत अभी तक करीब 21 मेडल हासिल कर चुका है।
  • सरबजोत की उपलब्धियाँ:
  • सरबजोत सिंह ने 20 वर्ष की आयु में ही निशानेबाज़ी में कई कीर्तिमान स्थापित किये हैं। उन्होंने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप शूटिंग जूनियर चैंपियनशिप में जर्मनी, ताइपे के दोहा में गोल्ड मेडल जीतकर भारत का परचम विदेशों में भी लहराया है।
  • मई 2022 जर्मनी में आयोजित आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप में 10 मीटर एयर पिस्टल टीम निशानेबाज़ी प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता था।
  • भोपाल में आयोजित 65वीं राष्ट्रीय निशानेबाज़ी चैंपियनशिप में एकल 10 मीटर एयर पिस्टल और टीम स्पर्धा में गोल्ड हासिल किया।
  • 10 मीटर एयर पिस्टल में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर करीब 20 मेडल हासिल किये हैं।

 


उत्तराखंड Switch to English

रोडवेज से सेवानिवृत्त कर्मचारियों को गोल्डन कार्ड से मिलेगी कैशलेस उपचार की सुविधा

चर्चा में क्यों?

  • 27 सितंबर, 2023 को उत्तराखंड के परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डॉ. आनंद श्रीवास्तव ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों व उनके आश्रितों को स्वास्थ्य योजना के तहत असीमित कैशलेस उपचार की सुविधा देने के संबंध में आदेश जारी कर दिया।

प्रमुख बिंदु

  • प्रबंध निदेशक के निर्देशों पर जारी आदेश में कहा गया है कि वेतन लेवल 1-5 वाले कर्मचारियों, पेंशनर व पारिवारिक पेंशनर को 250 रुपए प्रतिमाह, वेतन लेवल 6 वालों को 450 रुपए प्रतिमाह, वेतन लेवल 7-11 वालों को 650 रुपए प्रतिमाह और वेतन लेवल 12 के कार्मिकों को 1000 रुपए प्रतिमाह अंशदान देना होगा।
  • निगम से सेवानिवृत्त कार्मिक न्यूनतम 10 वर्ष की सेवा के बाद सेवानिवृत्त होने पर गोल्डन कार्ड वार्षिक अंशदान (12 माह) देकर प्राप्त कर सकते हैं।
  • एकमुश्त 10 साल का अंशदान जमा कराने वाले आजीवन गोल्डन कार्ड सुविधा का लाभ ले सकते हैं।
  • इस संबंध में सभी मंडल प्रबंधकों को निर्देश दिये गए हैं कि गोल्डन कार्ड का फार्म भरने वाले सेवानिवृत्त कार्मिकों व आश्रितों का अंशदान निगम कोष में जमा कराना सुनिश्चित करें।

उत्तराखंड Switch to English

अंतर्राष्ट्रीय रोड शो: उत्तराखंड ने किये 9000 करोड़ रुपए के निवेश पर एमओयू

चर्चा में क्यों?

  • 26-27 सितंबर, 2023 को उत्तराखंड सरकार ने दिसंबर में प्रस्तावित वैश्विक निवेशक सम्मेलन के लिये अंतर्राष्ट्रीय रोड शो के तहत लंदन और बर्मिंघम में दो दिन के रोड शो में निवेशकों के साथ 9000 करोड़ रुपए के निवेश पर एमओयू किया है।

प्रमुख बिंदु

  • 27 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय रोड शो के दूसरे दिन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में 7000 करोड़ रुपए के निवेश पर एमओयू किया गया, जबकि पहले दिन 2000 करोड़ रुपए का एमओयू हुआ था।
  • एमओयू के लिये आयोजित बैठक में शिक्षा, पर्यटन, आईटी और स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े विभिन्न 80 उद्योग घरानों ने भाग लिया।
  • औद्योगिक समूह कयान जेट के साथ दो अलग-अलग एमओयू में 4500 करोड़ रुपए और ऊषा ब्रेको के साथ 1000 करोड़ रुपए, बर्मिंघम में अलग-अलग कंपनियों के साथ 1500 करोड़ रुपए के एमओयू शामिल हैं।
  • कयान जेट केबल कार प्रोजेक्ट में निवेश करेगा, साथ ही औली, दयारा बुग्याल और मुनस्यारी में स्की रिसॉर्ट विकसित करने पर भी सहमति बनी है। ऊषा ब्रेको लिमिटेड हरिद्वार और अन्य जनपदों में रोपवे में निवेश करेगी।
  • इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड को वैश्विक पर्यटन डेस्टीनेशन बनाने की दिशा में सरकार लगातार कार्य कर रही है। राज्य में वेलनेस और ग्रामीण पर्यटन में कई संभावनाएँ हैं।
  • ऋषिकेश योग और अध्यात्म की वैश्विक राजधानी के रूप में जाना जाता है। यूरोप से लेकर अन्य देशों के पर्यटक हर साल बड़ी तादात में योग अध्यात्म के लिये राज्य में आते हैं। सरकार विश्वस्तरीय कन्वेंशन सेंटर की स्थापना के लिये निवेशकों से बात कर रही है।


 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2