मुखर्जी नगर शाखा पर IAS जीएस फाउंडेशन का नया बैच 12 दिसंबर से शुरूCall Us
ध्यान दें:

झारखंड स्टेट पी.सी.एस.

  • 24 Nov 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
झारखंड Switch to English

CUJ की पूजा कुमारी को मिला बेस्ट रिसर्च पेपर का अवार्ड

चर्चा में क्यों?

23 नवंबर, 2022 को भुवनेश्वर में संपन्न हुए तीनदिवसीय छठे राष्ट्रीय मीडिया कॉन्क्लेव में सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ झारखंड (CUJ) के जन-संचार विभाग की शोधार्थी पूजा कुमारी को सेशन के बेस्ट रिसर्च पेपर के अवार्ड से सम्मानित किया गया।

प्रमुख बिंदु

  • विदित है कि तीनदिवसीय छठे राष्ट्रीय मीडिया कॉन्क्लेव का आयोजन 21 से 23 नवंबर, 2022 को उत्कल यूनिवर्सिटी के द्वारा KIT भुवनेश्वर में किया गया था इस कॉन्क्लेव में पूरे देश से लगभग 100 रिसर्च पेपर्स, रिसर्च स्कॉलर, असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोसिएट और प्रोफेसर द्वारा प्रस्तुत किये गए।
  • यह कॉन्क्लेव पाँच सेशन में बाँटा गया था, जिसमें पूजा कुमारी को सेशन के बेस्ट रिसर्च पेपर के अवार्ड से सम्मानित किया गया।
  • यह पेपर इंस्टीट्यूट ऑफ मीडिया स्टडीज, उत्कल यूनिवर्सिटी द्वारा प्रकाशित किताब ‘मीडिया एंड कल्चर’में चैप्टर के रूप में प्रकाशित हुआ है।

झारखंड Switch to English

भारतीय महिला हॉकी टीम में झारखंड की चार खिलाड़ी चयनित

चर्चा में क्यों?

23 नवंबर, 2022 को मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार भारतीय महिला हॉकी टीम में झारखंड की चार खिलाड़ी निक्की प्रधान, सलीमा टेटे, संगीता कुमारी और ब्यूटी डुंगडुंग को शामिल किया गया है। ये स्पेन में 27 नवंबर से आयोजित एफआईएच महिला हॉकी कप में देश का प्रतिनिधित्व करेंगी।

प्रमुख बिंदु

  • सिमडेगा ज़िला के सदर प्रखंड के अंतर्गत बड़की छपार गाँव की सलीमा टेटे के खेल की सराहना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कई बार कर चुके हैं। उनके गाँव में आज भी लोगों को मोबाइल के टावर के लिये चटेान या पेड़ों का सहारा लेना पड़ता है। ऐसे में सलीमा ने कोसों पैदल चलकर या पिता सुलशन टेटे की साइकिल में बैठकर विद्यालय और गाँव की टीम से खस्सी कप, मुर्गा कप हॉकी प्रतियोगिताओं से हॉकी की शुरुआत की थी।
  • सलीमा टेटे सिमडेगा की पहली महिला ओलंपियन हैं। इन्होंने विगत तीन-चार वर्षों में ही ओलंपिक गेम्स, वर्ल्ड कप, एशिया कप, कॉमनवेल्थ गेम्स जैसे कई बड़े टूर्नामेंटों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया और अपने खेल से पूरी दुनिया को अपनी ओर आकर्षित किया।
  • निक्की प्रधान खूंटी ज़िला के मोरो प्रखंड के अंतर्गत पेरोल गाँव की रहने वाली हैं, जहाँ आज तक एक खेल का मैदान तक नहीं है। निक्की ने यहाँ अपनी बड़ी बहनों से प्रेरणा लेकर हॉकी की शुरुआत की थी।
  • निक्की झारखंड की पहली हॉकी खिलाड़ी हैं, जो दो-दो ओलंपिक खेल चुकी हैं। वह ओलंपिक गेम्स, वर्ल्ड कप, कॉमनवेल्थ गेम, एशिया कप सहित सभी बड़ी-बड़ी प्रतियोगिताओं में भारतीय महिला हॉकी टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए कई रिकॉर्ड भी अपने नाम कर चुकी हैं।
  • संगीता कुमारी हॉकी की नर्सरी सिमडेगा ज़िला के केरसई प्रखंड अंतर्गत करगागुडी नवा टोली गाँव की रहने वाली हैं। बेहद गरीब परिवार से पल-बढ़कर बाँस की स्टिक और उसकी जड़ से हॉकी की शुरुआत करते हुए संगीता कुमारी विगत 1 साल में कॉमनवेल्थ गेम, एफआईएच हॉकी लीग सहित पूर्व में जूनियर एशिया कप जैसी कई प्रतियोगिताओं में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं।
  • सिमडेगा ज़िला के ही केरसई प्रखंड के अंतर्गत खिलाड़ियों के गाँव करगागुड़ी बाजू टोली की रहने वाली ब्यूटी डुंगडुंग के परिवार के सदस्य पीढ़ी-दर-पीढ़ी अच्छे हॉकी खिलाड़ी रहे हैं। उनका पूरा परिवार दादा, पिताजी, चाचा, तीन बड़े भाई, भाभी सभी-के-सभी राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी रहे हैं। ब्यूटी साल 2018 से जूनियर भारतीय टीम से देश के लिये खेल रही हैं और इस वर्ष पहली बार सीनियर भारतीय महिला हॉकी टीम के लिये चुनी गई हैं।

 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2