हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

राजस्थान स्टेट पी.सी.एस.

  • 24 Jun 2022
  • 0 min read
  • Switch Date:  
राजस्थान Switch to English

प्रशासन शहरों के संग अभियान

चर्चा में क्यों?

23 जून, 2022 को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ‘प्रशासन शहरों के संग अभियान’ की समीक्षा बैठक में बताया कि प्रदेश के सभी नगर निकायों में इस अभियान के शिविर 15 जुलाई से वार्डवार लगेंगे।

प्रमुख बिंदु

  • इनमें मौके पर ही सभी तरह की प्रशासनिक प्रक्रिया पूरी करते हुए पट्टों का वितरण किया जाएगा।
  • अभियान शुरू करने से पूर्व नगर निकायों के पार्षदों के लिये कार्यशालाएँ आयोजित की जाएँगी, जिनमें उन्हें अभियान की संपूर्ण जानकारी के साथ नए प्रारूप और राज्य सरकार द्वारा किये गए सरलीकरण और छूटों की जानकारी से अवगत कराया जाएगा, ताकि पार्षद अपने क्षेत्र के लोगों को पट्टे दिलाने में मदद कर सकें।
  • नगरीय विकास एवं आवासन विभाग के प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा ने प्रस्तुतीकरण देते हुए अभियान के दौरान जारी किये गए पट्टों सहित अन्य कार्यों के बारे में बताया कि प्रशासन शहरों के संग अभियान, 2021 के तहत 3 लाख 36 हज़ार 61 पट्टे जारी किये जा चुके हैं।

राजस्थान Switch to English

‘मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना’

चर्चा में क्यों?

23 जून, 2022 को शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पवन कुमार गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर प्रदेश में कक्षा एक से 8वीं तक के बच्चों को ‘मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना’ के तहत सप्ताह में दो दिन दूध उपलब्ध करवाया जाएगा।

प्रमुख बिंदु

  • योजना के तहत राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत् करीब 69 लाख 21 हज़ार बच्चों को पाउडर से तैयार दूध सप्ताह में दो दिन मंगलवार एवं शुक्रवार को उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इन दिनों में अवकाश होने पर अगले शैक्षणिक दिवस को दूध उपलब्ध करवाया जाएगा। कक्षा एक से 5 तक के बच्चों को 150 मिलीलीटर एवं कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को 200 मिलीलीटर दूध वितरित किया जाएगा।
  • गौरतलब है कि इस योजना की घोषणा वित्तीय वर्ष 2022-23 के राज्य बजट में की गई थी। इस योजना के लागू होने से कक्षा एक से 8वीं तक के बच्चों के पोषण स्तर में सुधार होने के साथ ही राजकीय विद्यालयों में नामांकन एवं उपस्थिति में वृद्धि होगी और विद्यार्थियों का ड्रॉपआउट भी रुक सकेगा।
  • इसके लिये पाउडर मिल्क की खरीद राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन से की जाएगी तथा मिड-डे मील आयुक्तालय के माध्यम से पाउडर मिल्क का ज़िलेवार आवंटन किया जाएगा। आरसीडीएफ द्वारा ही आवंटन के अनुसार विद्यालयों तक पाउडर मिल्क की डोर स्टेप डिलिवरी की जाएगी।

 Switch to English
एसएमएस अलर्ट
Share Page