18 जून को लखनऊ शाखा पर डॉ. विकास दिव्यकीर्ति के ओपन सेमिनार का आयोजन।
अधिक जानकारी के लिये संपर्क करें:

  संपर्क करें
ध्यान दें:

उत्तर प्रदेश स्टेट पी.सी.एस.

  • 24 May 2024
  • 0 min read
  • Switch Date:  
उत्तर प्रदेश Switch to English

ट्रांसमिशन लाइन विस्तार में उत्तर प्रदेश शीर्ष पर

चर्चा में क्यों?

केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (CEA) के अनुसार, वित्त वर्ष 2024 में राज्य ट्रांसमिशन उपयोगिताओं द्वारा ट्रांसमिशन लाइन के विस्तार के मामले में उत्तर प्रदेश अग्रणी राज्य के रूप में उभरा है।

मुख्य बिंदु:

  • उत्तर प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कॉरपोरेशन लिमिटेड (UPPTCL) ने वित्त वर्ष 2024 में 220kV या इससे अधिक क्षमता वाली 1,460 ckm (सर्किट किलोमीटर) ट्रांसमिशन लाइन का विस्तार किया, जो अन्य राज्य उपयोगिताओं की तुलना में अधिक है।
    • गुजरात एनर्जी ट्रांसमिशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड (GETCO) वित्त वर्ष 24 के अंत तक 898 ckm अतिरिक्त के साथ दूसरे स्थान पर आया।
    • UPPTCL ने राज्य क्षेत्र की कुल वृद्धि में 20% से थोड़ा अधिक योगदान दिया। इस बढ़ोतरी में 13% हिस्सेदारी के साथ गुजरात दूसरे स्थान पर रहा। गुजरात के बाद तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और बिहार थे।

केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण

  • केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण को विद्युत (आपूर्ति) अधिनियम, 1948 की धारा 3(1) तथा बाद में विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 70 के तहत प्रतिस्थापित किया गया था।
  • इसका एक उद्देश्य विद्युत उत्पादन के लिये उपलब्ध संसाधनों के इष्टतम उपयोग हेतु प्रत्येक पाँच वर्ष में एक राष्ट्रीय विद्युत योजना तैयार करना है।
  • यह विद्युत मंत्रालय के अधीन कार्य करता है और नई दिल्ली में स्थित है।

उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (UPPCL)

  • 14 जनवरी 2000 को यूपी में विद्युत क्षेत्र के सुधारों और पुनर्गठन के परिणामस्वरूप स्थापित किया गया, जो विद्युत क्षेत्र का केंद्र बिंदु है जो विद्युत के संचारण, वितरण तथा आपूर्ति के माध्यम से क्षेत्र की योजना एवं प्रबंधन के लिये ज़िम्मेदार है।
  • यह पेशेवर रूप से प्रबंधित उपयोगिता है जो राज्य के प्रत्येक नागरिक को विश्वसनीय और लागत कुशल विद्युत की आपूर्ति करती है।  

 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2