प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 10 जून से शुरू :   संपर्क करें
ध्यान दें:

उत्तर प्रदेश स्टेट पी.सी.एस.

  • 17 Apr 2024
  • 0 min read
  • Switch Date:  
उत्तर प्रदेश Switch to English

आतिथ्य क्षेत्र में उत्तर प्रदेश सरकार का निवेश

चर्चा में क्यों?

अधिकारियों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश सरकार आतिथ्य और पर्यटन क्षेत्र में 32,000 करोड़ रुपए का निवेश कर सकती है।

  • वर्ष 2028 तक राज्य की वार्षिक पर्यटक संख्या 850 मिलियन तक पहुँचने का अनुमान है।

मुख्य बिंदु:

  • कमरे की उपलब्धता में कमी को पूरा करने के लिये निवेश से होटल और रिज़ॉर्ट्स के माध्यम से अतिरिक्त 80,000 आवास इकाइयाँ तैयार होने की संभावना है।
  • राज्य वाराणसी, अयोध्या, प्रयागराज और आगरा जैसे पर्यटन हॉटस्पॉट में आतिथ्य इकाइयों को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।
  • किलों और महलों सहित विरासत संपत्तियों को विकास के लिये निजी क्षेत्र को पेश किया जा रहा है।
  • पर्यटन नीति-2022 के तहत राज्य द्वारा विशिष्ट ग्रामीण इलाकों में फार्म स्टे स्थापित करने के लिये सब्सिडी भी प्रदान किया जा रहा है।
    • गृहस्वामियों को होमस्टे के लिये अपनी संपत्तियों को सूचीबद्ध करने हेतु प्रोत्साहित किया जाता है, जबकि विरासत संपत्तियों के मालिकों को समझदार पर्यटकों के लिये अपने परिसर को विरासत होटल के रूप में परिवर्तित करने को आमंत्रित किया जा रहा है।
  • राज्य का लक्ष्य वेलनेस सेंटर जैसे मल्टी-एक्सपीरियंस सर्किट विकसित करना और सारनाथ व कौशांबी जैसे बौद्ध स्थलों की कनेक्टिविटी में सुधार करना है।
  • यह साहसिक पर्यटन, बैठकें, प्रोत्साहन, सम्मेलन एवं प्रदर्शनियाँ,  MICE (Meetings, Incentives, Conferences, and Exhibitions), कल्याण और इको-टूरिज़्म विकसित करके पर्यटन अनुभवों में विविधता लाने तथा समकालीन पर्यटन उत्पाद बनाने पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है।

उत्तर प्रदेश Switch to English

रामनवमी पर विशेष

चर्चा में क्यों?

डाक विभाग एवं प्रयाग फिलाटेलिक सोसायटी के तत्त्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में प्रयागराज क्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल ने रामनवमी की पूर्व संध्या पर एक विशेष कवर जारी किया।

मुख्य बिंदु:

  • भगवान राम जैसी प्रतिष्ठित सांस्कृतिक हस्तियों वाले टिकट संग्रह लोगों और उनकी विरासत के बीच एक सेतु का कार्य करते हैं।
  • ये टिकट न केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व के 20 से अधिक देशों में भी लोकप्रिय हैं जहाँ वे महाकाव्य रामायण के पात्रों और कहानियों को दर्शाते हैं।
  • अद्वितीय राम नवमी-थीम वाला टिकट प्रयागराज के मुख्य डाकघर में स्थित फिलाटेलिक ब्यूरो में 25 रुपए में बिक्री पर होगा।

प्रयाग फिलाटेलिक सोसायटी

  • इसका गठन 21 जुलाई 2017 को इलाहाबाद में सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत एक पंजीकृत सोसायटी के रूप में किया गया था।
  • इसका उद्देश्य सभी आयु समूहों के बीच डाक टिकट संग्रह को बढ़ावा देना है, इसने पूरे भारत से सदस्यता आमंत्रित की है।

रामनवमी

  • यह वसंत ऋतु का हिंदू त्योहार है।
  • यह त्योहार भगवान विष्णु के सातवें अवतार भगवान राम के जन्म का प्रतीक है।
  • यह दिन चैत्र नवरात्रि का नौवाँ और आखिरी दिन है। यह सामान्यतः प्रत्येक वर्ष मार्च या अप्रैल के ग्रेगोरियन महीनों में होता है।

 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2