प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 10 जून से शुरू :   संपर्क करें
ध्यान दें:

स्टेट पी.सी.एस.

  • 01 Dec 2023
  • 0 min read
  • Switch Date:  
उत्तर प्रदेश Switch to English

मुख्यमंत्री ने किया सैयद मोदी इंडिया इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप का उद्घाटन

चर्चा में क्यों?

28 नवंबर, 2023 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश बैडमिंटन अकादमी में सैयद मोदी इंडिया इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप-2023 का उद्घाटन किया।

प्रमुख बिंदु

  • भारतीय बैडमिंटन संघ (आईबीए) के तत्वावधान में उत्तर प्रदेश बैडमिंटन संघ (यूपीबीए) द्वारा आयोजित यह प्रतिष्ठित टूर्नामेंट 3 दिसंबर, 2023 तक चलेगा।
  • इस प्रतियोगिता में दो लाख यूएस डॉलर (तकरीबन 1 करोड़ 75 लाख रुपए) दाँव पर होंगे।
  • 19 देशों से तकरीबन ढ़ाई सौ शटलर पुरुष एकल, महिला एकल, पुरुष युगल, महिला युगल और मिश्रित युगल में खिताब के लिये जोर आजमाइश करेंगे।
  • इस टूर्नामेंट की शुरुआत उत्तर प्रदेश बैडमिंटन एसोसिएशन (यूपीबीए) द्वारा 1991 में कॉमनवेल्थ गेम्स चैंपियन सैयद मोदी की याद में ‘सैयद मोदी मेमोरियल बैडमिंटन टूर्नामेंट’ के रूप में की गई थी।
  • अपने उद्घाटन से लेकर 2003 तक यह एक राष्ट्रीय स्तर का टूर्नामेंट बना रहा। 2004 में इसे पहली बार एक अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम के रूप में आयोजित किया गया था।
  • यूपीबीए और उत्तर प्रदेश सरकार के बीच राजनीतिक गतिरोध के कारण 2005 से 2008 तक टूर्नामेंट रोक दिया गया था, जो उत्तर प्रदेश बैडमिंटन अकादमी के स्थानांतरण के साथ समाप्त हुआ।
  • इस टूर्नामेंट को 2009 में BWF ग्रांड प्रिक्स इवेंट के रूप में बैडमिंटन सर्किट में पेश किया गया था। तब से यह टूर्नामेंट प्रतिवर्ष लखनऊ के बाबू बनारसी दास इंडोर स्टेडियम में आयोजित किया जा रहा है, हालांकि 2010 में इसे अस्थायी रूप से हैदराबाद में स्थानांतरित कर दिया गया था। 2011 में, इसे ग्रांड प्रिक्स गोल्ड इवेंट में अपग्रेड किया गया।
  • बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन ने 2017 में इस टूर्नामेंट को बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर सुपर 300 इवेंट के रूप में शामिल किया, जिसकी प्रतिस्पर्द्धा 2018 में शुरू हुई।

 


हरियाणा Switch to English

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये हरियाणा रजत पदक से अलंकृत

चर्चा में क्यों?

27 नवंबर, 2023 को नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित 42वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला 2023 में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये स्वच्छ मंडप (राज्य) श्रेणी में हरियाणा को रजत पदक से अलंकृत किया गया है।

प्रमुख बिंदु

  • विदित हो कि व्यापार मेला आयोजन के इतिहास में हरियाणा को पहली बार पुरस्कार प्राप्त हुआ है।
  • मेले के समापन समारोह में केंद्र सरकार के वाणिज्य मंत्रालय के अंतर्गत गठित भारतीय व्यापार प्रोत्साहन संगठन के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक प्रदीप सिंह खरोला ने हरियाणा को रजत पदक प्रदान किया। हरियाणा की ओर से ट्रेड फेयर अथॉरिटी ऑफ हरियाणा के महाप्रबंधक अनिल चौधरी ने यह पुरस्कार प्राप्त किया।
  • हरियाणा मंडप लगभग 600 वर्ग मीटर में बनाए गए मंडप में कुल 51 स्टॉल लगाए गए। पूरे क्षेत्र का समुचित उपयोग करते हुए प्रदेश में निर्मित वस्तुओं का सही ढंग से प्रदर्शन करने के साथ-साथ स्वच्छता पर भी पूरा ध्यान दिया गया था।
  • इसके अलावा, प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार उत्पाद, जैसे- आंवला से निर्मित उत्पाद, हर्बल प्रोडक्ट, बासमती चावल, हथकरघा उत्पाद, अचार, मुरब्बा, जूतियाँ, मानसिक शांति के उपाय बताने वाला फरीदाबाद का ध्यान कक्ष, सहकारिता आंदोलन की प्रगति के पर्याय बने हैफेड और वीटा के स्टॉल आगंतुकों को अपनी ओर खींच रहे थे।
  • उल्लेखनीय है कि व्यापार मेला प्रगति मैदान के भारत मंडपम में 14 से 27 नवंबर, 2023 तक आयोजित किया गया था


हरियाणा Switch to English

राज्यपाल ने किया ‘अतुल्य हरियाणा’ पुस्तक का विमोचन

चर्चा में क्यों?

29 नवंबर, 2023 को हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने डॉ. कृष्ण कुमार द्वारा लिखित पुस्तक ‘अतुल्य हरियाणा’ का हरियाणा राजभवन में विमोचन किया।

प्रमुख बिंदु

  • ‘अतुल्य हरियाणा’ पुस्तक के लेखक डॉ. कृष्ण कुमार मूल रूप से ज़िला महेंद्रगढ के गाँव झगडोली के रहने वाले हैं।
  • पुस्तक का विमोचन करते हुए राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि यह पुस्तक हरियाणा के बारे में जानने और समझने का अच्छा स्रोत साबित होगी।
  • अतुल्य हरियाणा पुस्तक हरियाणा की संस्कृति, इतिहास, कला और विकास पर लिखी गई है।
  • पुस्तक के लेखक डॉ. कृष्ण कुमार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार हैं और इससे पहले भी उनकी तीन पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं।
  • डॉ. कृष्ण कुमार को हरियाणा की लोक विधाओं पर काम करने के लिये संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार से सीनियर फैलोशिप मिल चुकी है और वे शांतिदूत दलाई लामा से भी सम्मानित किये जा चुके हैं।


हरियाणा Switch to English

मुख्यमंत्री ने फतेहपुर बिलोच गाँव से विकसित भारत जन संवाद संकल्प यात्रा की शुरुआत की

चर्चा में क्यों?

30 नवंबर, 2023 को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ज़िला फरीदाबाद के फतेहपुर बिलोच गाँव से वैन को हरी झंडी दिखाकर विकसित भारत जन संवाद संकल्प यात्रा की शुरुआत की।

प्रमुख बिंदु

  • इस यात्रा का उद्देश्य केंद्र व राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को घर-घर तक पहुँचाना और अंत्योदय की भावना से समाज की अंतिम पंक्ति में बैठे व्यक्ति का उत्थान सुनिश्चित करना है।
  • एलईडी वैन के माध्यम से यह यात्रा सभी ज़िले के प्रत्येक गाँव में जाएगी और यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश सुनाया जाएगा।
  • गाँवों में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के दौरान नागरिकों को 2047 तक भारत को विकसित बनाने में अपना योगदान देने व आत्मनिर्भर बनने की संकल्प शपथ भी दिलाई जाएगी।
  • एलईडी वैन के माध्यम से देश व प्रदेश की प्रगति की लघु फिल्म भी दिखाई जाएगी और लोक कलाकारों द्वारा प्रस्तुति भी दी जाएगी। इसके अलावा उत्कृष्ट कार्य करने वाले या विशेष उपलब्धि हासिल करने वाले व्यक्तियों-होनहार खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाएगा।
  • कार्यक्रम के दौरान ‘मेरी कहानी-मेरी जुबानी’ के माध्यम से योजनाओं का लाभ ले चुके लोग बताएंगे कि उन्होंने किस प्रकार से योजनाओं का लाभ लेकर अपने जीवन स्तर को ऊँचा उठाया है।


झारखंड Switch to English

डीपीएस बोकारो को मिला ‘ग्लोबल स्कूल अवार्ड 2023’

चर्चा में क्यों

29 नवंबर, 2023 को मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस), बोकारो को नवाचार आधारित बेहतर शैक्षणिक वातावरण मुहैया कराने व छात्र- छात्राओं के समग्र विकास की श्रेणी में ‘ग्लोबल स्कूल अवार्ड 2023’ से नवाजा गया है।

प्रमुख बिंदु

  • एकेएस एजुकेशन अवार्ड्स की ओर से नई दिल्ली में आयोजित वैश्विक सम्मान समारोह के दौरान विद्यालय की ओर से उप-प्राचार्य अंजनी भूषण ने यह पुरस्कार प्राप्त किया।
  • उत्तफ़ समारोह में 70 देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था, जहाँ के शैक्षणिक प्रतिष्ठान, शिक्षक व अन्य हितधारक विभिन्न श्रेणियों में सम्मानित किये गए। इनमें झारखंड से एकमात्र डीपीएस बोकारो को ग्लोबल स्कूल अवार्ड पाने का अवसर मिला।
  • 29 नवंबर को विद्यालय में आयोजित एक विशेष एसेंबली में इसकी आधिकारिक घोषणा की गई। उप-प्राचार्य ने प्राचार्य डॉ. ए.एस. गंगवार को यह सम्मान सुपुर्द किया।


 Switch to English
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2