हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

प्रारंभिक परीक्षा

प्रिलिम्स फैक्ट्स: 04 दिसंबर, 2020

  • 04 Dec 2020
  • 7 min read

C32 LH2 टैंक

C32 LH2 Tank

हाल  ही में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (Hindustan Aeronautics Limited- HAL) ने अब तक के सबसे बड़े क्रायोजेनिक प्रणोदक टैंक C32 LH2 (Cryogenic Propellant Tank) को ISRO को सौंप दिया है।

C32-LH2-Tank

C32 LH2 के बारे में:

  • इस टैंक का निर्माण GSLV MK-III लॉन्चिंग वाहन की पेलोड क्षमता को 4 टन से बढ़ाकर 6 टन करने के लिये किया गया है।
  • लाभ:
    • अभी तक भारत भारी संचार उपग्रहों को लॉन्च करने के लिये फ्राँसीसी एरियन 5 रॉकेट पर निर्भर था। इस टैंक से भारत की दूसरे देशों पर निर्भरता कम हो जाएगी और वह अपने भारी उपग्रहों को स्वयं भेज पाएगा।
    • भारत को अंतरिक्ष अनुसंधान में आत्मनिर्भर बनाने के लिये नवीनतम क्रायोजेनिक प्रोपेलेंट टैंक ISRO का एक महत्त्वपूर्ण कदम है।
    • प्रणोदक टैंक एक कुशल और लागत प्रभावी प्रक्षेपण यान के विकास की दिशा में सहायक होगा क्योंकि भारत अन्य देशों के उपग्रहों को लॉन्च करके आर्थिक लाभ उठा सकता है

क्रेयोजेनिक प्रणोदक:

  • क्रायोजेनिक प्रणोदक में तरलीकृत गैसें होती हैं, जिन्हें बहुत कम तापमान पर संग्रहीत किया जाता है।
  • इसमें तरल हाइड्रोजन (LH2) को ईंधन और तरल ऑक्सीजन (LO2 या LOX) को ऑक्सीकारक के रूप में रूप में प्रयोग किया जाता है।
  • हाइड्रोजन और ऑक्सीजन क्रमशः -253 डिग्री सेल्सियस (-423 डिग्री फारेनहाइट) और -183 डिग्री सेल्सियस (-297 डिग्री फारेनहाइट) के तापमान पर तरल अवस्था में रहते हैं।

चक्रवात बुरेवी

Cyclone Burevi

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, चक्रवात बुरेवी (Burevi) के इस सप्ताह के अंत तक तमिलनाडु के दक्षिणी ज़िले कन्याकुमारी के तट पर दस्तक देने की आशंका है।

Trach-of-Cyclone

प्रमुख बिंदु:

  • इस चक्रवात का प्रभाव हाल ही आए चक्रवात निवार के प्रभाव से कम रहेगा।
  • चक्रवात बुरेवी का नामकरण मालदीव द्वारा किया गया है।
    • विश्व मौसम विज्ञान संगठन (World Meteorological Organisation- WMO) के दिशा-निर्देशों के अनुसार, प्रत्येक क्षेत्र के देशों को चक्रवातों का नाम देने के लिये अधिकृत किया गया है।
    • उत्तर हिंद महासागर क्षेत्र बंगाल की खाड़ी और अरब सागर के ऊपर बने उष्णकटिबंधीय चक्रवातों को कवर करता है।
    • इस क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 13 सदस्य देश हैं बांग्लादेश, भारत, मालदीव, म्याँमार, ओमान, पाकिस्तान, श्रीलंका, थाईलैंड, ईरान, कतर, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और यमन।
    • इन देशों द्वारा इस वर्ष के लिये चक्रवात के कुल 169 नाम सुझाए गए थे, जिसमें प्रत्येक देश द्वारा सुझाए गए 13 नाम शामिल थे।

भारत के शीर्ष 10 पुलिस स्टेशन

India’s Top 10 Police Stations for 2020

हाल ही में गृह मंत्रालय ने वर्ष 2020 के लिये भारत के शीर्ष 10 पुलिस स्टेशनों की सूची जारी की है।

India-Top-10-Police-stations

प्रमुख बिंदु:

  • इस पहल की घोषणा वर्ष 2015 में कच्छ, गुजरात में पुलिस महानिदेशकों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने के थी।
  • उद्देश्य:  
    • यह रैंकिंग डेटा विश्लेषण, प्रत्यक्ष अवलोकन और सार्वजनिक प्रतिक्रिया के माध्यम से देश के 16,671 पुलिस स्टेशनों में से शीर्ष 10 पुलिस स्टेशनों को प्रदान की गई।
  • प्रदर्शन मानक:
    • संपत्ति से संबंधित अपराध, महिलाओं के खिलाफ अपराध और समाज के कमज़ोर वर्ग आदि।
    • इस वर्ष सरकार ने तीन नए मानकों को शामिल किया है-
      • लापता व्यक्ति, अज्ञात व्यक्ति और अज्ञात शव।
  • ग्रामीण और दूरदराज़ के इलाकों में स्थित पुलिस स्टेशनों का प्रदर्शन बेहतर रहा है।
    • इससे यह प्रतीत होता है कि अपराध को रोकने, नियंत्रित करने और राष्ट्र की सेवा करने के लिये  संसाधनों की उपलब्धता तो महत्त्वपूर्ण है ही, परंतु इससे भी अधिक महत्त्वपूर्ण पुलिस कर्मियों का समर्पण और उनकी ईमानदारी है।
  • 2020 के लिये शीर्ष 3 पुलिस स्टेशन:
    • मणिपुर के थौबल ज़िले के नोंगपोक सीकमाई पुलिस स्टेशन ने इस सूची में शीर्ष स्थान प्राप्त किया है।
    • तमिलनाडु के सलेम शहर का AWPS-सुरमंगलम पुलिस स्टेशन दूसरे स्थान पर रहा।
    • अरुणाचल प्रदेश के चंगलांग ज़िले का खरसांग स्टेशन तीसरे स्थान पर रहा।
  • वार्षिक रैंकिंग के लाभ:
    • इससे पुलिस बल की कड़ी मेहनत को पहचानने, उन्हें प्रोत्साहित करने और उनमें प्रतिस्पर्द्धा की भावना विकसित करने में सहायता मिलेगी।
    • यह पुलिस स्टेशनों के स्तर पर भौतिक बुनियादी ढाँचे, संसाधनों और कमियों की स्थिति की एक तस्वीर भी प्रदान करता है। 
    • इस प्रकार की रैंकिंग प्रत्येक स्तर पर पुलिस स्टेशनों के सुधार के लिये एक मार्गदर्शिका के रूप में कार्य करती है।
एसएमएस अलर्ट
Share Page