हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

शासन व्यवस्था

मच्छर जनित बीमारियों का प्रसार

  • 07 May 2020
  • 4 min read

प्रीलिम्स के लिये:

मलेरिया, डेंगू

मेन्स के लिये:

मच्छर जनित बीमारियों से संबंधित मुद्दे 

चर्चा में क्यों?

वैश्विक स्तर पर सभी सरकारें COVID-19 से निपटने में जुटी हुई हैं, लेकिन हाल ही में दिल्ली में मच्छर जनित बीमारियाँ प्रमुख चिंता के रूप में उभर कर सामने आई हैं। 

प्रमुख बिंदु: 

  • उल्लेखनीय है कि 2 मई, 2020 तक मलेरिया के 16 मामले सामने आए हैं। दरअसल यह आँकड़ा पिछले पाँच वर्षों की तुलना में अत्यधिक है। 
  • ध्यातव्य है कि जनवरी-मई 2019 तक केवल मलेरिया के 2 ही मामले सामने आए थे जबकि पिछले पाँच वर्षों में मलेरिया के कारण एक भी मृत्यु नहीं हुई है। 
  • 2 मई 2020 तक डेंगू के 13 और चिकनगुनिया के 10 मामले भी सामने आए हैं, जबकि पिछले वर्ष इस अवधि तक डेंगू के 8 और चिकनगुनिया के 4 मामले सामने आए थे। 
  • स्वास्थ्य संबंधी अधिकारियों के अनुसार, दिल्ली में कुल डेंगू के मामलों में से लगभग 70% या तो राज्य के बाहर से हैं या जिन्हें अभी तक चिह्नित नहीं किया गया है। 
  • लगभग चिकनगुनिया के 65% और मलेरिया के 56% मामलों को भी अभी तक चिह्नित नहीं किया गया है।
  • संक्रमित लोगों का पहचान बहुत ज़रूरी है साथ ही संक्रमित लोगों की पहचान करने की शुरुआत संबंधित राज्य से होना चाहिये।
  • ‘स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय’ (Ministry of Health and Family Welfare) ने पहले ही इस बीमारी को ‘ध्यान देने योग्य रोग’ (Notifiable Disease) की श्रेणी में घोषित किया है।

मलेरिया (Malaria):

  • यह प्लाज़मोडियम (Plasmodium) परजीवियों के कारण होने वाला मच्छर जनित रोग है।
  • यह प्लास्मोडियम परजीवी से संक्रमित मादा एनाफिलीज़ मच्छर (Anopheles Mosquitoes) के काटने से फैलता है।
  • 5 परजीवी प्रजातियों के कारण मनुष्यों में मलेरिया होता हैं। साथ ही इनमें से 2 परजीवी प्रजातियाँ (‘पी.फाल्सीपरम’-P. Falciparum एवं ‘पी.वीवाक्स’-P Vivax) ज़्यादा खतरनाक होती हैं।
  • लक्षण:
    • मलेरिया के लक्षण हैं- बुखार, कंपन, पसीना आना, सिरदर्द, शरीर में दर्द, जी मचलना और उल्टी होना।
    • यदि 24 घंटों के भीतर संक्रमित मरीज़ का इलाज़ नहीं किया जाता है, तो ‘पी.फाल्सीपरम’ (P. Falciparum) मलेरिया का प्रभाव निरंतर बढ़ता जाता है। परिणामस्वरूप इस मलेरिया से अक्सर मृत्यु भी हो जाती है।

डेंगू (Dengue):

  • डेंगू दुनिया के कई हिस्सों में तेज़ी से उभरती हुई वायरल बीमारी है।
  • डेंगू के वायरस का मुख्य वाहक ‘एडीज़ एजिप्टी’ मच्छर (Aedes Aegypti Mosquito) है।
  • मच्छर जनित वायरल संक्रमण जो चिकनगुनिया, यलो फीवर, ज़ीका वायरस जैसी गंभीर बीमारी का कारण बनता है, कभी-कभी महामारी के रूप में घातक जटिलता की स्थिति पैदा करता है।
  • वर्षा, तापमान, सापेक्ष आर्द्रता और अनियोजित तेज़ी से शहरीकरण से डेंगू का प्रसार अत्यधिक होता है।

स्रोत: इंडियन एक्सप्रेस

एसएमएस अलर्ट
Share Page