IAS प्रिलिम्स ऑनलाइन कोर्स (Pendrive)
ध्यान दें:
65 वीं बी.पी.एस.सी संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा - उत्तर कुंजी.बी .पी.एस.सी. परीक्षा 63वीं चयनित उम्मीदवारअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.63 वीं बी .पी.एस.सी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा - अंतिम परिणामबिहार लोक सेवा आयोग - प्रारंभिक परीक्षा (65वीं) - 2019- करेंट अफेयर्सउत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) मुख्य परीक्षा मॉडल पेपर 2018यूपीएससी (मुख्य) परीक्षा,2019 के लिये संभावित निबंधसिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2019 - मॉडल पेपरUPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़Result: Civil Services (Preliminary) Examination, 2019.Download: सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा - 2019 (प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजी).

डेली अपडेट्स

विविध

Rapid Fire करेंट अफेयर्स (28 September)

  • 28 Sep 2019
  • 6 min read
  • दुनिया भर में विश्व नदी दिवस (World Rivers Day) प्रतिवर्ष सितंबर के अंतिम रविवार को मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने की शुरुआत वर्ष 2005 से हुई। तब संयुक्त राष्ट्र ने वैश्विक जल संसाधनों की बेहतर देखभाल की आवश्यकता के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता पैदा करने में मदद करने के लिये वाटर फॉर लाइफ डिकेड लॉन्च किया। इसके बाद विश्व नदी दिवस मनाने की शुरूआत की गई। भारत में अधिकांश नदियों की स्थिति बहुत खराब है। नदियों का स्वरूप बरकरार रखने के लिये वर्ष 1987 में पहली राष्ट्रीय जल नीति बनाई गई। इस वर्ष विश्व नदी दिवस की थीम नदियों के लिये कार्रवाई का दिन (Day of Action for Rivers) रखी गई है जो नदियों की रक्षा और प्रबंधन में महिलाओं की भूमिका के महत्त्व को दर्शाती है।
  • प्रत्येक वर्ष 27 सितंबर को दुनियाभर में विश्व पर्यटन दिवस (World Tourism Day) मनाया जाता है। इसकी शुरुआत संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 1980 में की थी। विश्व पर्यटन दिवस मनाने का उद्देश्य दुनिया भर के लोगों को पर्यटन के प्रति जागरूक करना है। प्रत्येक वर्ष अलग-अलग देश विश्व पर्यटन दिवस की मेजबानी करते हैं। संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन ने पहली बार विश्व पर्यटन दिवस की मेज़बानी भारत को सौंपी है। इस वर्ष विश्व पर्यटन दिवस की थीम- पर्यटन और रोज़गार: सभी के लिये बेहतर भविष्य (Tourism and Jobs: A Better Future for All) रखी गई है।
  • 27 सितंबर को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) ने अपना 15वाँ स्थापना दिवस समारोह आयोजित किया। इस वर्ष की थीम अग्नि सुरक्षा (Fire Safety) है। इस मौके पर आयोजित कार्यशाला में हितधारकों ने देश में आगजनी जोखिम, इसकी रोकथाम और समाप्ति तथा आगजनी जोखिम को कम करने से संबंधित महत्त्वपूर्ण विषयों एवं संस्थागत चुनौतियों पर चर्चा की। विदित हो कि राष्ट्रीय प्राधिकरण द्वारा वर्ष 2016 में लाई गई राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन योजना को आपदा जोखिम में कमी के बारे में सेंडई रूपरेखा 2015-30 से जोड़ा गया है और इसे कम करने के नियंत्रण के उपायों पर बल दिया गया है। 23 दिसंबर, 2005 को भारत सरकार ने आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 अधिनियमित किया, जिसके तहत ‘NDMA एवं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल NDRF का गठन किया गया। NDMA पर देश में आपदा प्रबंधन के लिये नीतियों, योजनाओं एवं दिशा-निर्देश तय करने का दायित्व है, जो आपदाओं के समय प्रभावी प्रतिक्रिया सुनिश्चित करता है। भारत का प्रधानमंत्री NDMA का अध्यक्ष होता है।
  • थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने वर्तमान अध्‍यक्ष एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ के स्थान पर चीफ ऑफ स्‍टॉफ कमेटी (COSC) का अध्‍यक्ष पद ग्रहण किया। COSC के वर्तमान अध्‍यक्ष एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ को 31 मई, 2019 को इसका अध्‍यक्ष नियुक्‍त किया गया था। चीफ ऑफ स्‍टॉफ कमेटी केे अध्‍यक्ष के तौर पर जनरल बिपिन रावत तीनों सेनाओं के बीच एकीकरण को बढ़ावा देने, सेनाओं की समकालिक प्रगति को प्रोत्‍साहन देने, आधुनिक युद्ध कौशल क्षमताओं का त्‍वरित संचालन करने और उन्‍हें समकालिक बनाने पर ध्‍यान केंद्रित करेंगे ताकि सशस्‍त्र बलों को भविष्‍य के लिये बेहतर ढंग से सुसज्जित किया जा सके।
  • हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund-IMF) के कार्यकारी बोर्ड ने क्रिस्टालिना जॉर्जीएवा (Kristalina Georgieva) को संस्था का नई प्रबंध निदेशक तथा कार्यकारी बोर्ड की अध्यक्ष नियुक्त किया है। बुल्गारिया की जॉर्जीएवा ने क्रिस्टीन लागार्द का स्थान लिया है। जॉर्जीएवा का चयन 189 देशों के सदस्यों वाली संस्था के 24 सदस्यीय कार्यकारी बोर्ड ने किया है। इनकी नियुक्ति 1 अक्तूबर से प्रभावी होगी। जॉर्जीएवा जनवरी 2017 से विश्व बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रही है। इसी वर्ष वह 1 फरवरी से 8 अप्रैल तक विश्व बैंक समूह की अंतरिम अध्यक्ष भी रही है। इससे पहले वह यूरोपीय आयोग में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग, मानवीय सहायता एवं आपदा प्रतिक्रिया के आयुक्त के रूप में भी कार्य कर चुकी हैं।
  • फ्राँस के पूर्व राष्ट्रपति जाक शिराक का 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया। मध्यमार्गी दक्षिणपंथी राजनेता शराक वर्ष 1995 से 2007 तक 12 साल तक फ्राँस के राष्ट्रपति रहे। उनके प्रमुख राजनीतिक निर्णयों में से एक राष्ट्रपति पद के कार्यकाल को सात वर्ष से घटाकर पाँच वर्ष करना था। राष्ट्रपति बनने से पहले वह 18 वर्ष तक पेरिस के मेयर और दो बार देश के प्रधानमंत्री भी रहे। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उन्हें अमेरिका के नेतृत्व में वर्ष 2003 में हुए इराक पर हमले का विरोध करने के लिये जाना जाता था।
एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close