18 जून को लखनऊ शाखा पर डॉ. विकास दिव्यकीर्ति के ओपन सेमिनार का आयोजन।
अधिक जानकारी के लिये संपर्क करें:

  संपर्क करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


सामाजिक न्याय

एड्स, टीबी और मलेरिया हेतु वैश्विक फंंड

  • 04 Sep 2019
  • 1 min read

चर्चा में क्यों?

हाल ही में भारत सरकार ने GFTAM के लिये 22 मिलियन अमेरिकी डाॅलर के योगदान की घोषणा की है।

प्रमुख बिंदु:

  • भारत ने GFTAM के छठे पुनःपूर्ति चक्र (Replenishment Cycle) वर्ष 2020-22 के लिये 22 मिलियन अमेरिकी डॉलर के योगदान की घोषणा की है जो भारत द्वारा 5वें पुनःपूर्ति चक्र के दौरान दी गई राशि से से 10% अधिक है।
  • भारत ग्लोबल फंंड के छठे पुनःपूर्ति चक्र में योगदान करने वाला G20 और ब्रिक्स देशों में से पहला देश है, इस प्रकार के योगदान से देश भी प्रेरित होंगे।
  • एड्स, टीबी और मलेरिया हेतु वैश्विक फंंड (Global Fund for AIDS, TB and Malaria- GFTAM) सार्वभौमिक स्वास्थ्य और इन तीनों बीमारियों की महामारियों से लड़ने हेतु एक समर्पित फंंड है।
  • एड्स, टीबी और मलेरिया हेतु वैश्विक फंंड को 2 बिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि के साथ वर्ष 2002 में बनाया गया था।
  • यह फंंड सरकारों, नागरिक समाज, तकनीकी एजेंसियों, निजी क्षेत्र और बीमारियों से प्रभावित लोगों के मध्य एक साझेदारी है।

स्रोत: PIB

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2
× Snow