हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

प्रिलिम्स फैक्ट्स

  • 08 Dec, 2022
  • 11 min read
प्रारंभिक परीक्षा

स्पेसटेक इनोवेशन नेटवर्क: इसरो

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation- ISRO) ने स्पेसटेक इनोवेशन नेटवर्क (SpIN) के लॉन्च हेतु मल्टीस्टेज इनोवेशन क्यूरेशन तथा वेंचर डेवलपमेंट प्लेटफॉर्म सोशल अल्फा के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं।

SpIN क्या है?

  • परिचय:
    • SpIN बढ़ते अंतरिक्ष उद्यमशीलता पारिस्थितिकी तंत्र के लिये नवाचार, क्यूरेशन और उद्यम विकास हेतु भारत का पहला समर्पित मंच है।
    • स्पिन/SpIN प्लेटफॉर्म विभिन्न हितधारकों के लिये देश में अंतरिक्ष पारिस्थितिकी तंत्र में सहयोग और योगदान करने हेतु एक समान अवसरों का सृजन करेगा।
    • SpIN अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी उद्यमियों को मुख्य रूप से तीन अलग-अलग नवाचार श्रेणियों में सुविधा प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करेगा:
      • भू-स्थानिक प्रौद्योगिकियाँ एवं डाउनस्ट्रीम अनुप्रयोग
      • अंतरिक्ष और संचालन हेतु प्रौद्योगिकियों को सक्षम बनाना
      • एयरोस्पेस सामग्री, सेंसर और वैमानिकी/ एवियोनिक्स।
      • Aerospace Materials, Sensors, and Avionics.
  • महत्त्व:
    • अभिनव प्रौद्योगिकियों से यह उम्मीद की जा रही है कि वे व्यापक स्तर पर समाज के लिये आर्थिक, सामाजिक एवं पर्यावरणीय लाभों को ईष्टतम करने के लिये अंतरिक्ष अनुप्रयोगों के उपयोग में परिवर्तन लाने में सहायक होंगे।
  • नवाचार चुनौती/इनोवेशन चैलेंज:
    • SpIN ने अपने पहले इनोवेशन चैलेंज की शुरुआत सागरीय एवं भूमि परिवहन, शहरीकरण, मानचित्रण और सर्वेक्षण के क्षेत्रों में समाधान विकसित करने के लिये की है।
    • इस चैलेंज के माध्यम से चयनित स्टार्ट-अप और इनोवेटर्स प्रचलित दिशा-निर्देशों के अनुसार सोशल अल्फा और इसरो के बुनियादी ढाँचे एवं संसाधनों दोनों तक पहुँच प्राप्त करने में सक्षम होंगे।
    • उन्हें उत्पाद डिज़ाइन, परीक्षण और सत्यापन बुनियादी ढाँचे और बौद्धिक संपदा प्रबंधन तक पहुँच सहित महत्त्वपूर्ण क्षेत्रों में सक्रिय सहयोग प्रदान किया जाएगा।

प्रारंभिक परीक्षा:

प्रश्न.1 अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के संदर्भ में हाल ही में खबरों में रहा "भुवन" (Bhuvan) क्या है?  (वर्ष 2010)

 (A) भारत में दूरस्थ शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए इसरो द्वारा लॉन्च किया गया एक छोटा उपग्रह
 (B) चंद्रयान-द्वितीय के लिए अगले चंद्रमा प्रभाव जांच को दिया गया नाम
 (C) भारत की 3डी इमेजिंग क्षमताओं के साथ इसरो का एक जियोपोर्टल (Geoportal)
 (D) भारत द्वारा विकसित एक अंतरिक्ष दूरबीन

 उत्तर: (C)

स्रोत: द हिंदू


प्रारंभिक परीक्षा

किलोनोवा के साथ गामा रे बर्स्ट का बाइनरी मर्जर

हाल ही में, एक दुर्लभ खगोलीय घटना देखी गयी जो किलोनोवा उत्सर्जन से संबंधित गामा किरण प्रस्फोट (GRB) करने वाले कॉम्पैक्ट बाइनरी ऑब्जेक्ट के टकराव से संबंधित है, इसकी वैज्ञानिक रूप से स्वीकृत या पुष्टि भारत के सबसे बड़े ऑप्टिकल टेलीस्कोप, देवस्थल ऑप्टिकल टेलीस्कोप (DOT) द्वारा भी की गई थी।

  • GRB 50 सेकंड से अधिक समय तक चला और इसे GRB211211A के रूप में जाना गया।
  • किलोनोवा तब बनता है जब दो कॉम्पैक्ट ऑब्जेक्ट, जैसे न्यूट्रॉन स्टार और एक ब्लैक होल आपस में टकराते हैं।

गामा-किरण विस्फोट:

  • परिचय:
    • गामा-किरण विस्फोट (Gamma-Ray Bursts– GRBs) बड़े पैमाने पर परंतु अत्यंत प्रकाशमान, उच्च-ऊर्जा वाले लघु गामा विकिरण हैं जो ब्रह्मांड में बड़े सितारों के टकराने या नष्ट होने पर निकलते हैं।
    • ये ब्रह्मांड की सबसे शक्तिशाली घटनाएँ हैं, जिनकी पहचान अरबों प्रकाश-वर्ष की दूरी से भी की जा सकती है।
      • एक प्रकाश वर्ष वह दूरी है जब प्रकाश की किरण एक पृथ्वी वर्ष या 9.5 ट्रिलियन किलोमीटर की यात्रा करती है।
    • खगोलविद् उन्हें दो सेकंड से अधिक या कम समय तक चलने के आधार पर दीर्घ या लघु के रूप में वर्गीकृत करते हैं।

GRBs

  • दीर्घ GRB:
    • वे बड़े सितारों की मृत्यु के समय लंबे समय तक हुए विस्फोट का निरीक्षण करते हैं।
    • जब सूर्य से बहुत अधिक विशाल तारे का ईंधन समाप्त हो जाता है, तो उसका केंद्रीय भाग (कोर) अचानक ढह जाता है और एक कृष्ण विवर (ब्लैक होल) बन जाता है।
      • ब्लैक होल्स अंतरिक्ष में उपस्थित ऐसे छिद्र हैं जहाँ गुरुत्व बल इतना अधिक होता है कि यहाँ से प्रकाश का पारगमन नहीं होता।
    • जैसे ही पदार्थ ब्लैक होल की ओर घूमता है, उसमें से कुछ अंश दो शक्तिशाली धाराओं (जेट) के रूप में बाहर की ओर निकल जाते हैं और जो फिर विपरीत दिशाओं में लगभग प्रकाश की गति से बाहर की ओर भागते हैं।
    • खगोलविद् GRB का पता केवल तब लगा पाते हैं जब इनमें से एक प्रवाह लगभग सीधे पृथ्वी की ओर जाने का संकेत दे देता है।
    • तारे के भीतर से प्रस्फुटित प्रत्येक धारा (जेट) से गामा किरणों का एक स्पंदन उत्पन्न होता है, जो प्रकाश का ऐसा उच्चतम-ऊर्जा रूप है जो कई मिनटों तक चल सकता है।
    • विस्फोट के बाद विखंडित तारा फिर तेज़ी से एक सुपरनोवा के रूप में विस्तारित है।
      • सुपरनोवा एक विस्फोट करने वाले तारे को दिया गया नाम है जो अपने जीवन के अंत तक पहुँच गया है।
  • लघु GRB:
    • लघु GRB तब बनते हैं जब संघटित (कॉम्पैक्ट) वस्तुओं के जोड़े- जैसे न्यूट्रॉन तारे, जो तारों के टूटने के दौरान भी बनते हैं- अरबों वर्षों में अंदर की ओर सर्पिल रूप में घूर्णन करते रहते हैं और आपस में टकराते हैं
      • एक न्यूट्रॉन तारा उच्च द्रव्यमान वाले सितारों के संभावित विकासवादी चरण में अंतिम होता है।

स्रोत: इंडियन एक्सप्रेस


विविध

Rapid Fire (करेंट अफेयर्स): 08 दिसंबर, 2022

जाफना और चेन्‍नई के बीच सीधी उड़ान सेवा 

जाफना और चेन्‍नई के बीच सीधी उड़ान सेवा 12 दिसंबर, 2022 से फिर शुरू हो जाएगीपर्यटन को बढ़ावा मिलने से आर्थिक संकट से जूझ रही श्रीलंका की अर्थव्‍यवस्‍था को इससे मदद मिलेगी। 12 दिसंबर से पलाली में जाफना इंटरनेशनल एयरपोर्ट से चेन्‍नई के बीच शुरू होने वाली अलायंस एयर की सीधी उड़ान सप्‍ताह में चार दिन उपलब्‍ध रहेगी। एयरलाइंस की यह सेवा तीन साल के के बाद शुरू हो रही है। मार्च 2020 के बाद से उड्डयन सेवा कोविड महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुई थी। श्रीलंका के उड्डयन मंत्री ने बताया कि हवाई अड्डे के रनवे में और सुधार किये जाने की आवश्यकता है। इस समय इसकी क्षमता सीमित है। भारत और श्रीलंका ने वर्ष 2019 में वहाँ के तीसरे अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे का संयुक्‍त रूप से आधुनिकीकरण किया था। 

अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस 

प्रतिवर्ष 07 दिसंबर को विश्व भर में हवाई यात्रा में अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठनों के महत्त्व के विषय में लोगों को सूचित करने हेतु ‘अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस’ मनाया जाता है। वर्ष 2022 की थीम वैश्विक उड्डयन के विकास के लिये नवाचार को बढ़ावा देना ‘(Promoting Innovation for the Development of Global Aviation)’ है। अंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन परिषद ने वर्ष 2023 तक यही थीम रखने का फैसला किया है। अंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन(International Civil Aviation Organization- ICAO) परिषद ‘अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस’ के लिये प्रत्येक पाँच वर्ष की विशेष वर्षगाँठ थीम निर्धारित करती है और। 7 दिसंबर को ‘अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस’ के रूप में मनाने की आधिकारिक मान्यता संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा वर्ष 1996 में दी गई थी। हालाँकि इस दिवस की शुरुआत वर्ष 1994 में ‘अंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन’ की स्थापना की 50वीं वर्षगाँठ के अवसर पर की गई थी। अंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन, संयुक्त राष्ट्र की एक विशिष्ट एजेंसी है, जिसकी स्थापना वर्ष 1944 में राज्यों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन अभिसमय (शिकागो कन्वेंशन) के संचालन तथा प्रशासन के प्रबंधन हेतु की गई थी। इसका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय हवाई परिवहन की योजना एवं विकास को बढ़ावा देना है ताकि दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन की सुरक्षित तथा व्यवस्थित वृद्धि सुनिश्चित हो सके 


एसएमएस अलर्ट
Share Page