हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

प्रिलिम्स फैक्ट्स

  • 06 Oct, 2020
  • 14 min read
प्रारंभिक परीक्षा

प्रिलिम्स फैक्ट्स: 06 अक्तूबर, 2020

सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड रिलीज़ ऑफ टॉरपीडो

Supersonic Missile Assisted Release of Torpedo

5 अक्तूबर, 2020 को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने ओडिशा तट से दूर व्हीलर द्वीप (एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप) से एंटी सबमरीन वारफेयर (ASW) सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड रिलीज़ ऑफ टॉरपीडो’ (Supersonic Missile Assisted Release of Torpedo- SMART) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। 

प्रमुख बिंदु:

  • SMART पनडुब्बी-रोधी युद्ध क्षमता (Anti-Submarine Warfare- ASW) स्थापित करने में महत्त्वपूर्ण तकनीक है। 
  • इसमें मिसाइल की उड़ान हेतु रेंज एवं ऊँचाई, शंक्वाकार नुकीले भाग का पृथक्करण, टॉरपीडो का अलग होना और वेग न्यूनीकरण तंत्र (Velocity Reduction Mechanism) की तैनाती सहित सभी प्रक्रियाओं का पूरी तरह से पालन किया गया है।
  • SMART टॉरपीडो रेंज से कहीं आगे एंटी-सबमरीन वारफेयर (ASW) ऑपरेशंस के लिये हल्के एंटी-सबमरीन टॉरपीडो प्रणाली की मिसाइल असिस्टेड रिलीज़ है।
  • इस परीक्षण में हाइब्रिड तकनीक को शामिल किया गया है जो वर्तमान प्रणाली को अपग्रेड करने में मदद करती है और मारक क्षमता को भी बढ़ाती है।
  • SMART जिसे युद्धपोत या ट्रक-आधारित तटीय बैटरी (Truck-based Coastal Battery) से लॉन्च किया जाता है, एक नियमित सुपरसोनिक मिसाइल की तरह ही कार्य करता है।

रणनीतिक महत्त्व:

  • स्वदेशी रूप से विकसित स्मार्ट टॉरपीडो प्रणाली देश की समुद्री रणनीतिक क्षमताओं को मज़बूत करने में एक अहम कदम है।
  • यह प्रक्षेपण एवं प्रदर्शन पनडुब्बी-रोधी युद्ध क्षमता स्थापित करने में महत्त्वपूर्ण है।


राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कार 2020  

National Startup Awards 2020

6 अक्तूबर, 2020 को केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कारों (National Startup Awards) के पहले संस्करण के परिणाम जारी करेंगे।   

National-startup-awards-2020

प्रमुख बिंदु:

  • भारत सरकार के उद्योग संवर्द्धन एवं आंतरिक व्यापार विभाग (Department for Promotion of Industry and Internal Trade- DPIIT) ने उत्‍कृष्‍ट स्‍टार्टअप्‍स एवं पारिस्थितिकी तंत्र को सक्षम बनाने वालों की पहचान करने और उन्हें पुरस्कृत करने के लिये राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कारों की शुरुआत की है।
    • ये स्‍टार्टअप नवाचारी उत्‍पाद या समाधान और अच्‍छे उद्यमों का निर्माण कर रहे हैं जिनमें रोज़गार सृजन या अधिक आय एवं व्‍यापक सामाजिक प्रभाव का प्रदर्शन करने की बहुत अधिक संभावना है। 
  • इन पुरस्‍कारों के पहले संस्‍करण के लिये 12 क्षेत्रों से आवेदन आमंत्रित किये गए थे। इन्‍हें कुल 35 श्रेणियों में उप-वर्गीकृत किया गया है। 
    • ये 12 क्षेत्र हैं- कृषि, शिक्षा, उद्यम प्रौद्योगिकी, ऊर्जा, वित्त, खाद्य, स्वास्थ्य, उद्योग 4.0, अंतरिक्ष, सुरक्षा, पर्यटन एवं शहरी सेवाएँ। 
  • इनके अलावा स्टार्टअप उन क्षेत्रों से भी चुने जाने हैं जो ग्रामीण क्षेत्रों में सकारात्मक प्रभाव पैदा कर रहे हैं और महिला नेतृत्व वाले हैं तथा शैक्षणिक परिसरों में स्‍थापित हैं।

पुरस्कार धनराशि:

  • पुरस्‍कार जीतने वाले स्टार्टअप को 5 लाख रुपए के नकद पुरस्कार के अलावा संभावित पायलट परियोजनाओं और कार्य आदेशों के लिये संबंधित जन अधिकारियों और कॉरपोरेट के सामने अपने समाधान पेश करने का अवसर भी प्रदान किया जाएगा।
  • मज़बूत स्टार्टअप इको-सिस्टम, इनक्यूबेटर एवं एक्सीलरेटर (Accelerator) को 15-15 लाख रुपए का नकद पुरस्कार दिया जाएगा।


मेडिसिन या फिजियोलॉजी के लिये नोबेल पुरस्कार

Nobel Prize for Medicine or Physiology

6 अक्तूबर, 2020 को हेपेटाइटिस सी वायरस (Hepatitis C Virus) की खोज के लिये अमेरिकी वैज्ञानिक हार्वे जे ऑल्टर (Harvey J Alter) एवं चार्ल्स एम राइस (Charles M Rice) और ब्रिटिश वैज्ञानिक माइकल ह्यूटन (Michael Houghton) को मेडिसिन या फिजियोलॉजी के लिये नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया।

Nobel-Prize-Physiology

प्रमुख बिंदु: 

  • हेपेटाइटिस सी रक्तजनित वायरस के कारण उत्पन्न होता है, जो यकृत को प्रभावित करता है। यह इंजेक्टेबल दवाओं, असुरक्षित स्वास्थ्य देखभाल आदि के माध्यम से फैल सकता है। WHO के अनुसार, यह यौन गतिविधियों द्वारा संक्रमित हो सकता है, किंतु ऐसे मामले बहुत कम देखने को मिलते हैं।
  • स्टॉकहोम (स्वीडन) में पुरस्कार की घोषणा करते हुए नोबेल समिति ने कहा कि तीनों वैज्ञानिकों के कार्य ने रक्तजनित हेपेटाइटिस (Blood-Borne Hepatitis) के एक प्रमुख स्रोत की व्याख्या करने में मदद की जिसे हेपेटाइटिस ए एवं बी वायरस द्वारा समझाया नहीं जा सकता है। 
  • इस खोज ने हेपेटाइटिस सी पर निर्देशित एंटीवायरल दवाओं के तेज़ी से विकास को भी गति दी है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) का अनुमान है कि दुनिया भर में 70 मिलियन से अधिक लोग हेपेटाइटिस से प्रभावित हैं और प्रत्येक वर्ष इससे 400,000 मौतें होती हैं।
    • यह एक पुरानी बीमारी है जो यकृत की सूजन एवं कैंसर का एक प्रमुख कारण है।

नेशनल वायरल हेपेटाइटिस कंट्रोल प्रोग्राम

(National Viral Hepatitis Control Programme- NVHCP):

  • भारत सरकार द्वारा इस कार्यक्रम की शुरुआत वर्ष 2018 में की गई थी  
  • इस कार्यक्रम का लक्ष्य वर्ष 2030 तक हेपेटाइटिस सी (Hepatitis C) बीमारी को समाप्त करना है 
  • वर्ष 2018 के बाद से हेपेटाइटिस सी से प्रभावित लगभग 50,000 लोगों का इलाज किया जा चुका है।
  • वैज्ञानिकों के अनुसार, देश की आबादी के अनुमानित 0.5-1% (या 10-13 मिलियन लोग) हेपेटाइटिस सी से पीड़ित हैं।

पंजाब के संदर्भ में:

  • ‘नेशनल वायरल हेपेटाइटिस कंट्रोल प्रोग्राम’ की तरह पंजाब में भी वर्ष 2016 में इसी प्रकार का कार्यक्रम शुरू किया गया था। 
  • पंजाब ने वर्ष 2016 से अब तक हेपेटाइटिस सी से प्रभावित 87,000 रोगियों की रिपोर्ट दर्ज की जिनमें से 93% ठीक हो चुके हैं
    • चूँकि पंजाब ने अपना कार्यक्रम राष्ट्रीय कार्यक्रम से पहले शुरू किया था, इसलिये  उनके आँकड़े NVHCP डेटा में शामिल नहीं हैं।   
  • कारण: नशीली दवाओं के अधिक सेवन और इंजेक्शन आधारित नशीली दवाओं के उपयोग के कारण पंजाब में यह बीमारी अधिक लोगों को प्रभावित कर रही है।
    • पंजाब में COVID-19 से पहले प्रत्येक महीने 900-1100 नए मामले दर्ज किये जा रहे थे। 

विविध

Rapid Fire (करेंट अफेयर्स): 06 अक्तूबर , 2020

क्वाड देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक

चार देशों के समूह क्‍वाड के विदेश मंत्रियों की बैठक जापान की राजधानी टोक्‍यो में आयोजित की जा रही है। अमेरिका, जापान, ऑस्‍ट्रेलिया और भारत क्‍वाड समूह में शामिल हैं। विदेश मंत्रालय ने बताया कि बैठक में वैश्विक  महामारी COVID-19 के बाद अंतर्राष्ट्रीय व्‍यवस्‍था और चुनौतियों से निपटने के समन्वित प्रयासों पर विचार-विमर्श होगा। क्षेत्रीय मुद्दों तथा मुक्‍त और समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र के महत्‍व पर भी चर्चा होगी। क्‍वाड विदेश मंत्रियों की यह दूसरी बैठक होगी। इससे पहले वर्ष 2019 में क्‍वाड विदेश मंत्रियों की बैठक संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा से इतर हुई थी। भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर जापान और ऑस्‍टेलिया के विदेश मंत्रियों के साथ भी द्विपक्षीय बैठक करेंगे। बैठक के दौरान परस्‍पर हित के द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। 

एंटी-एयर पॉल्यूशन कैंपेन का शुभारंभ

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 5 अक्तूबर 2020 को स्वच्छ राष्ट्रीय राजधानी के लिये  ‘युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध’ नाम से एक वायु-प्रदूषण विरोधी अभियान शुरू किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि,  वैश्विक महामारी COVID- 19 के दौरान वायु प्रदूषण जीवन के लिये खतरा हो सकता है क्योंकि ये दोनों ही हमारे फेफड़ों को प्रभावित करते हैं। इस अभियान के तहत राज्य ने दिल्ली शहर के सभी 13 प्रदूषण हॉटस्पॉट्स के लिये अलग-अलग योजनाएँ  तैयार की हैं।  इस अभियान के फोकस क्षेत्रों में पेड़ों का प्रत्यारोपण, इलेक्ट्रिक वाहन को अपनाना और धूल नियंत्रण जैसे विभिन्न उपाय शामिल हैं। इस अभियान की शुरुआत करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने यह घोषणा की है कि वायु प्रदूषण से लड़ने के लिये सरकार द्वारा उठाए गए सभी प्रदूषण-विरोधी उपायों की निगरानी के लिये दिल्ली में एक ‘वॉर रूम’ बनाया जा रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की है कि ‘ग्रीन दिल्ली’ नामक एक मोबाइल ऐप का भी विकास किया जा रहा है, जो लोगों के द्वारा प्रदूषण पैदा करने वाली गतिविधियों को दिल्ली सरकार के ध्यान में लाने में मदद करेगा। 

विश्व पर्यावास दिवस

प्रत्येक वर्ष अक्तूबर माह के प्रथम सोमवार को वर्ल्ड हैबिटेट डे अर्थात् विश्व पर्यावास दिवस मनाते हैं। विश्व पर्यावास दिवस को मूल अधिकारों जैसे कि आश्रय, भोजन इत्यादि के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से मनाया जाता है। विश्व पर्यावास दिवस सर्वप्रथम वर्ष 1985 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा एक संकल्प के माध्यम से घोषित किया गया था। इस दिन संयुक्त राष्ट्र बेहतर आवासीय व्यवस्था से जुड़ी घटनाओं, गतिविधियों, विकास की योजनाओं और इसे प्राप्त करने के समाधान के बारे में चर्चा करता है। प्रत्येक वर्ष इसे अलग थीम पर मनाया जाता है, जो बेघरों के लिये आश्रय, सुरक्षित शहर, स्लम क्षेत्रों का विकास, शहरी शासन में महिलाओं का योगदान जैसे विषयों से जुड़ी होती है। सभी के लिये आवास: एक बेहतर शहरी भविष्य’ नामक थीम के साथ इस वर्ष विश्व पर्यावास दिवस मनाया जा रहा है।     


एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close