हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:
कानून और समाज

महिलाओं के विरुद्ध हिंसा: कब होगा इसका अंत?

05 Dec, 2022

"झूठ नहीं बोलेंगी हवाएँझूठ नहीं बोलेगी पर्वत-शिखरों परबची हुई थोड़ी-सी बर्फझूठ नहीं बोलेंगे चिनारों के शर्मिंदा पत्तेउनसे ही पूछोसुमित्रा के मुँह में चीथड़े ठूँसकरउसे...

कानून और समाज

भारतीय लोकतंत्र के जीवंत दस्तावेज़ की कहानी

01 Dec, 2022

26 नवम्बर को भारत ने अपना संविधान दिवस मनाया। एक सामान्य सी जिज्ञासा हमारे मन में आती है कि आखिर संविधान है क्या और इसकी महत्ता क्या है? इस दस्तावेज में आखिर क्या खास है कि...

कानून और समाज

पितृसत्ता का पुरुषों पर नकारात्मक प्रभाव

19 Nov, 2022

आईआईटी की परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन न कर पाने के कारण रोहन बहुत उदास था। वह अपने माँ-बाप के गले लगकर जी भरकर रोना चाहता था और कहना चाहता था कि, वह उनकी इच्छाओं पर खरा नहीं...

कानून और समाज

कृषि का स्त्रीकरण

17 Oct, 2022

प्रस्तावना इस लेख में हम कृषि के स्त्रीकरण के बारे में जानेंगे। महिलाएँ 'नए भारत' के लिये सामाजिक, आर्थिक और पर्यावरणीय परिवर्तन की पथ प्रदर्शक हैं। 'कृषि के स्त्रीकरण'...

कानून और समाज

आत्महत्या: महामारी का रूप लेती एक समस्या

10 Sep, 2022

हमारे देश ही नहीं, पूरी दुनिया में अकेलेपन, अवसाद और आत्‍महत्‍या के मामले बढ़ रहे हैं। बल्कि यूं कहना ठीक होगा कि आत्‍महत्‍या एक महामारी का रूप धरती जा रही है। लोग कई...

कानून और समाज

नारीवाद के विविध आयाम: चुनौतियाँ एवं संभावनाएं

26 Aug, 2022

अवधारणा- नारीवादी अवधारणा का आरंभ इस विश्वास के साथ होता है कि स्त्रियां पुरुषों की तुलना में अलाभ और हीनता की स्थिति में हैं। नारीवादी विचारधारा मुख्य रूप से...

कानून और समाज

भारत और अमेरिका में गर्भपात अधिकारों का इतिहास

11 Jul, 2022

अमेरिकी उच्चतम न्यायालय ने 6-3 के, निर्णय के साथ ‘रो बनाम वेड’ के निर्णय को पलट दिया, जिसने गर्भपात को एक संवैधानिक अधिकार बना दिया था। इस निर्णय से, न केवल अमेरिका में...

कानून और समाज

भारत में मानवाधिकार का संरक्षण एवं विकास

07 Jul, 2022

इस लेख के ज़रिये आप मानवाधिकार, उनके प्रकारों व संरक्षण के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। मनुष्य योनि में जन्म लेने वाले प्रत्येक प्राणी की एक गरिमा होती है, इस कारण...

कानून और समाज

गवर्नेंस 4.0 : वैश्विक शासन व्यवस्था में परिवर्तन की आवश्यकता

15 Feb, 2022

सामान्यतः ऐसा होता है कि किसी काल खंड में हुए परिवर्तन उससे पहले के समय में हुए कार्यों एवं घटनाओं की प्रतिक्रिया होते हैं। ठीक वैसे ही जैसे न्यूटन का गति विषयक तृतीय नियम...

कानून और समाज

आर्थिक राहत पैकेज के मायने

16 Jul, 2020

“का हो बब्बू इ 20 लाख करोड़ रुपयवा में से हम्ह्नो के कुछ लाभ मिली”?  चाचा जी के इस सवाल को पहले तो मैंने मजाक में टालने की कोशिश की पर उनके बहुत ज़ोर देने पर मैंने बोल दिया...

एसएमएस अलर्ट
Share Page