हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

विविध

Rapid Fire (करेंट अफेयर्स): 18 नवंबर, 2020

  • 18 Nov 2020
  • 6 min read

बंगलूरू टेक समिट-2020

19 नवंबर, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘बंगलूरू टेक समिट-2020’ (Bengaluru Tech Summit-2020) का उद्घाटन करेंगे। बंगलूरू टेक समिट, भारत का प्रमुख टेक कार्यक्रम है और इस वर्ष इस कार्यक्रम के 23वें संस्करण का आयोजन किया जा रहा है। वर्ष 2020 के लिये इस सम्मेलन का मुख्य विषय ‘नेक्‍स्‍ट इज़ नाउ’ (Next is Now) रखा गया है। इस कार्यक्रम के दौरान मुख्य तौर पर कोरोना वायरस महामारी के बाद विश्व में सूचना टेक्नोलॉजी और इलेक्ट्रॉनिक्स तथा बायोटेक्नोलॉजी के क्षेत्र से संबंधित चुनौतियों पर विचार-विमर्श किया जाएगा। इस कार्यक्रम में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और स्विस कॉन्‍फेडरेशन के उपाध्यक्ष गाई पार‍मेलिन समेत कई अन्य प्रसिद्ध लोग हिस्सा लेंगे। तीन दिवसीय इस टेक समिट का आयोजन कर्नाटक सरकार द्वारा कर्नाटक नवप्रवर्तन और टेक्‍नोलॉजी सोसाइटी तथा कई अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर किया जा रहा है।

स्टैच्यू ऑफ पीस

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैन आचार्य श्री विजय वल्लभ सुरिश्वर जी महाराज की 151वीं जयंती के अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्थान के पाली ज़िले में ‘स्टैच्यू ऑफ पीस’ का अनावरण किया। 151 इंच ऊँची यह प्रतिमा अष्टधातु से बनाई गई है, इन 8 धातुओं में तांबा प्रमुख घटक है। ‘स्टैच्यू ऑफ पीस’ का अनावरण करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘स्टेचू ऑफ पीस’, विश्व में शांति, अहिंसा और सेवा का एक प्रेरणास्रोत बनेगा। जैन आचार्य श्री विजय वल्लभ सुरिश्वर जी महाराज (वर्ष 1870-1954) ने अपने संपूर्ण जीवन में जैन संत के रूप में निष्ठापूर्वक और समर्पित रूप से भगवान महावीर के संदेश को फैलाने का महत्त्वपूर्ण कार्य किया। श्री विजय वल्लभ सुरिश्वर जी महाराज ने जनता के कल्याण, शिक्षा के प्रसार, सामाजिक कुरीतियों के उन्मूलन के लिये भी अथक परिश्रम किया। उन्होंने प्रेरणादायक साहित्य (कविता, निबंध और भक्ति भजन) की भी रचना की और भारत के स्वतंत्रता आंदोलन तथा स्वदेशी को अपनाने का समर्थन किया।

गऊ कैबिनेट

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि राज्य सरकार राज्य में गायों के संरक्षण और संवर्द्धन को बढ़ावा देने के लिये 'गऊ कैबिनेट' (Cow Cabinet) के नाम से एक नई समिति का गठन करेगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मुताबिक, ‘गऊ कैबिनेट’ की पहली बैठक 22 नवंबर को आयोजित की जाएगी। हालाँकि मध्य प्रदेश सरकार ने अभी तक ‘गऊ कैबिनेट’ की शक्तियों और उत्तरदायित्वों को लेकर कोई विवरण जारी नहीं किया है। गौरतलब है कि इस वर्ष की शुरुआत में उत्तर प्रदेश सरकार ने भी राज्य में गौ हत्या को रोकने के लिये एक अध्यादेश पारित किया था। इस अध्यादेश के तहत उत्तर प्रदेश में गाय की हत्या पर 10 वर्ष तक की सज़ा और 3 से 5 लाख रुपए तक का जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

मालाबार अभ्यास 

उत्तरी अरब सागर में मालाबार नौसैनिक अभ्यास के दूसरे चरण की शुरुआत की गई , इसमें भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान की नौसेनाओं द्वारा हिस्सा लिया जा रहा है। मालाबार अभ्यास का दूसरा चरण 17- 20 नवंबर के बीच आयोजित किया जाएगा, जबकि इस अभ्यास का पहला चरण नवंबर माह के पहले सप्ताह में बंगाल की खाड़ी में आयोजित किया गया था। वर्ष 2020 का मालाबार अभ्यास इस लिहाज़ से काफी महत्त्वपूर्ण है कि इस बार ऑस्ट्रेलिया भी इस अभ्यास में हिस्सा ले रहा है, जबकि असल में यह एक त्रिपक्षीय सैन्य अभ्यास है जिसका आयोजन वार्षिक रूप से भारत-जापान-अमेरिका की नौसेनाओं के बीच किया जाता है। मालाबार नौसैनिक अभ्यास की शुरुआत भारत और अमेरिका के बीच वर्ष 1992 में एक द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास के रूप में हुई थी। वर्ष 2015 में इस अभ्यास में जापान के शामिल होने के बाद से यह एक त्रिपक्षीय सैन्य अभ्यास बन गया। 

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close